News Nation Logo

IIT दिल्ली ने बनाया 20 पैसा प्रति किमी की एवरेज वाला ई-स्कूटर

जरूरतों के हिसाब से आदर्श स्थिति में ग्राहकों के पास दो अलग-अलग रेंज 50 किलोमीटर और 75 किलोमीटर की बैटरी क्षमता का चयन करने का विकल्प है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 24 Mar 2021, 09:32:14 AM
e scooter

4 घंटे में पूरी तरह से चार्ज हो जाता है होप. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • 50 किलोमीटर और 75 किलोमीटर की बैटरी क्षमता
  • स्कूटर 25 किमी घंटा की शीर्ष गति देता है स्कूटर
  • होप की कीमत मात्र 46,999 रुपये से शुरू है

नई दिल्ली:

आईआईटी-दिल्ली (IIT-Delhi) के इंक्युबेटेड स्टार्टप गेलियोस मोबिलिटी ने लगभग 20 पैसा प्रति किलोमीटर की दर से चलने वाला इलेक्ट्रॉनिक स्कूटर 'होप' ईजाद किया है. होप (Hope) डिलीवरी एवं स्थानीय आवागमन के लिए किफायती स्कूटर है. यह स्कूटर 25 किमी घंटा की शीर्ष गति देता है. साथ ही ई-वाहन (E Vehicle) को मिलने वाली छूट की श्रेणी में आता है. इसके लिए ड्राइविंग के लिए ड्राइविंग लाइसेंस या पंजीकरण की जरूरत भी नहीं है. होप के साथ पोर्टेबल चार्जर और पोर्टेबल लिथियम आयन बैटरी आती है, जिसे घर में उपयोग होने वाले सामान्य प्लग से चार्ज कर सकते हैं. सामान्य बिजली से यह बैटरी 4 घंटे में पूर्ण चार्ज हो जाती है. अपनी आवागमन की जरूरतों के हिसाब से आदर्श स्थिति में ग्राहकों के पास दो अलग-अलग रेंज 50 किलोमीटर और 75 किलोमीटर की बैटरी क्षमता का चयन करने का विकल्प है.

आधुनिक तकनीक से लैस है ई-स्कूटर
आईआईटी-दिल्ली के मुताबिक, यह स्कूटर बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम, डाटा मॉनिटरिंग सिस्टम और पेडल असिस्ट यूनिट जैसी आधुनिक तकनीकों से युक्त है. इसमें आईओटी है जो डाटा एनालिटिक्स के माध्यम से ग्राहकों को हमेशा अपने स्कूटर की जानकारी देता है. ऐसी विशेषताओं के कारण ही होप भविष्य के स्मार्ट एवं कनेक्टेड स्कूटर की श्रेणी में आता है. गेलियोस मोबिलिटी उन चुनिंदा कंपनियों में से है, जिसके द्वारा स्कूटर में पेडल असिस्ट सिस्टम जैसा विशेष फीचर दिया गया है. यात्रा के दौरान ग्राहक अपनी सुविधा अनुसार पेडल या थ्रॉटल का विकल्प चयन कर सकते हैं. सुविधाजनक पार्किंग के लिए होप विशेष रिवर्स मोड तकनीकी से युक्त है, जिसकी सहायता से कठिन जगहों पर भी स्कूटर पार्क किया जा सकता है.

यह भी पढ़ेंः परमबीर सिंह की याचिका पर SC में सुनवाई आज, महाराष्ट्र में सियासी तनाव जारी

मजबूत और कम वजन का फ्रेम
अत्याधुनिक उपयोग के लिए होप में एक मजबूत और कम वजन का फ्रेम बनाया गया है. स्कूटर की संरचना और इसकी लीन डिजाइन, इसे घने यातायात में से आसानी से निकलने की क्षमता प्रदान करते हैं. वाहन में रिवॉल्यूशनरी स्लाइड और सवारी की जरूरत के अनुसार भार वाहक एसेसरीज या पीछे की सीट जोड़ी जा सकती है. गेलियोस मोबिलिटी भोजन, ई-कॉमर्स, किराना, अनिवार्य और अन्य वितरण अनुप्रयोगों में हाइपरलोकल डिलीवरी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए रसद और वितरण कंपनियों के साथ सहयोग कर रही है.

यह भी पढ़ेंः मिथुन चक्रवर्ती नहीं लड़ेंगे चुनाव, बीजेपी की लिस्ट से नाम गायब

चार्जिंग और मेंटेनेंस हब 
कंपनी द्वारा अधिकतम उपयोग किए जाने वाले मार्गो पर स्कूटर के चार्जिंग और मेंटेनेंस के लिए हब स्थापित किए जाएंगे. इमरजेंसी की स्थिति में, आकस्मिक सेवाएं जैसे मार्ग पर सहायता एवं बैटरी को बदलने की सुविधा कंपनी द्वारा प्रदान की जाएगी. आदित्य तिवारी, फाउंडर व सीईओ गेलियोस मोबिलिटी ने कहा, 'हम प्रतिदिन बढ़ते प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन के दौर से गुजर रहे हैं और समस्त उद्योगों विशेषत ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में सतत प्रयास की जरूरत है. हमने 3 वर्ष पूर्व गेलियोस मोबिलिटी की शुरुआत सतत आवागमन इकोसिस्टम बनाने के दृष्टिकोण से किया था, इस प्रयास में होप हमारा प्रमुख कदम है. होप की कीमत मात्र 46,999 रुपये से शुरू है, जो हमारे हिसाब से इसे मार्केट का सबसे किफायती इंटरनेट कनेक्टेड स्कूटर बनाता है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 24 Mar 2021, 09:27:01 AM

For all the Latest Auto News, Bikes News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो