पाक मंत्री पुलवामा पर बयान से पलटे, FATF के डर से भारतीय मीडिया पर दोष मढ़ा

इमरान खान (Imran Khan) सरकार में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद हुसैन (Fawad Chaudhry) पाकिस्तान के हुक्मरानों की फितरत के अनुरूप 24 घंटों में ही अपने बयान से पलट गए.

Last Updated: 30 Oct 2020, 10:16:30 AM (IST)
Follow us on News

पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) को 'घर में घुस कर मारा' और इसमें पाकिस्तान का हाथ स्वीकार करने वाले इमरान खान (Imran Khan) सरकार में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद हुसैन (Fawad Chaudhry) पाकिस्तान के हुक्मरानों की फितरत के अनुरूप 24 घंटों में ही अपने बयान से पलट गए. एक भारतीय चैनल से बातचीत में उन्होंने इसे बकवास करार देते हुए कहा कि यह भारतीय मीडिया है, जो उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत कर रहा है. यही नहीं, उन्होंने कहा कि भारत में राजनीतिक नफा-नुकसान के लिए बयानों को अपने हिसाब से कांट-छांट कर दिखाया जाता है. यही नहीं, पीएमएल-एन सांसद अयाज सादिक के अभिनंदन (Abhinandan) पर दिए बयान से किनारा करते हुए फवाद हुसैन ने कहा कि वह सिर्फ राजनीति करते हुए 'झूठ' बोल रहे थे. ठीक वैसे ही जैसे भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बोलते हैं. माना जा रहा है कि एफएटीएफ (FATF) की ग्रे लिस्ट की डर से फवाद हुसैन नेशनल असेंबली में दिए अपने बयान से पलटे. 

भारतीय मीडिया ने दिखाया गलत
'इंडिया टुडे' चैनल से बातचीत में फवाद हुसैन ने कहा कि पुलवामा पर वह 26 फरवरी 2019 के बाद के घटनाक्रम पर बात कर रहे थे. उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि यह निरी बकवास है कि पुलावामा आतंकी हमले में पाकिस्तान का हाथ था. इसके लिए भारतीय मीडियो को दोषी ठहराते हुए फवाद हुसैन ने कहा कि उनका पूरा बयान देखा जाए. उन्होंने कहा कि भारतीय मीडिया की तरह 'घर में घुस कर मारने में' पाकिस्तान यकीन नहीं करता है. भारत में राजनीतिक हानि-लाभ के लिए लिहाज से बयानों को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत किया जाता है. 

यह भी पढ़ेंः इस्लामिक आतंक की चपेट में फ्रांस, चर्च का हमलावर कुरान लिए था

भारत से अच्छे संबंध चाहता है पाकिस्तान, वह तो बीजेपी....
पाकिस्तानी संसद में पाकिस्तान मु्स्लिम लीग-नवाज के सांसद अयाज सादिक के बयान को विशुद्ध राजनीति करार देते हुए फवाद हुसैन ने इस पर भी सफाई दी. उन्होंने कहा कि जिस तरह नेता एक-दूसरे पर कीचड़ उछालते हैं. भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन पर अयाज सादिक का बयान इमरान सरकार पर उछाली गई कीचड़ की तरह था. वह राजनीतिक फायदे के लिए झूठ बोल रहे थे. ठीक वैसे ही जैसे भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोलते हैं. यही नहीं, उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ अच्छे संबंध चाहता है. भारत के लिए पाकिस्तान सरकार में कोई बदनीयत नहीं है. यह तो बीजेपी है जो पाकिस्तान के खिलाफ नफरत दिखा कर वोट बटोर रही है. 

यह भी पढ़ेंः 'आत्मनिर्भर' भारतीय सेना ने तैयार किया अपना मोबाइल मैसेजिंग एप

नेशनल असेंबली में फवाद ने माना था पुलवामा हमले में हाथ
गौरतलब है कि फवाद हुसैन ने बृहस्पतिवार को सनसनीखेज खुलासा करते हुए स्वीकार किया कि 2019 में जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकवादी हमले के लिये उनका देश जिम्मेदार है. नेशनल असेंबली में बहस के दौरान कहा, 'हमने हिंदुस्तान को घुस कर मारा. पुलवामा में हमारी कामयाबी, इमरान खान के नेतृत्व में इस देश की कामयाबी है. आप और हम सभी इस कामयाबी का हिस्सा हैं.' मंत्री ने कहा कि 'पुलवामा की घटना के बाद' जिस तरह से पाकिस्तान ने भारत के क्षेत्र में घुसकर उसे निशाना बनाया, उससे भारत का सारा मीडिया शर्मसार हो गया.' 

यह भी पढ़ेंः  मेवात में हिंदुओं के जबरन धर्मांतरण की जांच के लिए SC में याचिका दायर

अयाज सादिक ने दिया था कांपने वाला बयान
प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी चौधरी का यह बयान विपक्षी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) नेता अयाज सादिक के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि एक महत्वपूर्ण बैठक के दौरान विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को रिहा करने की गुहार लगाई थी, जिन्हें 27 फरवरी, 2019 को पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के साथ हवाई टकराव में उनका मिग-21 बाइसन लड़ाकू विमान गिर जाने के बाद पाकिस्तानी सेना ने हिरासत में ले लिया था. सादिक ने जिस उच्चस्तरीय बैठक का जिक्र करते हुए यह दावा किया था उसमें सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा भी शामिल थे. सादिक ने बैठक को याद करते हुए कहा, 'विदेश मंत्री (कुरैशी) ने हमसे कहा कि खुदा के वास्ते, उसे (अभिनंदन) को वापस जाने दीजिए, वरना भारत रात नौ बजे पाकिस्तान पर हमला कर देगा.' 

LIVE TV

पढ़ें आज की ताज़ा खबरें (Hindi News) देश के सबसे विश्वसनीय न्यूज़ चैनल Newsnation न्यूज़ पर - जो देश को रखे आगे.
Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

संबंधित लेख

Next Article