News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

काबुल से दिल्ली लौटी महिला ने बयां किया अफगानिस्तान का मंजर, देखें वीडियो

दुनियाभर के कई देश अफगानिस्तान में रह रहे अपने नागरिकों को लेकर काफी चिंतित है

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 15 Aug 2021, 11:37:00 PM
Afghanistan Current situation

Afghanistan Current situation (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

तालिबान ने एक बार फिर अफगानिस्तान को अपने कब्जे में ले लिया है. अफगान सरकार भी अब तालिबान को हस्तातंरण को तैयार हो गई है. पिछले कई दिनों से अफगानिस्तान में कब्जा जमा रहे तालिबान ने वहां के कई शहरों में भारी कत्लेआम मचाया है. जिसके चलते दुनियाभर के कई देश अफगानिस्तान में रह रहे अपने नागरिकों को लेकर काफी चिंतित है. यही वजह है कि भारत ने अपने 129 नागरिकों को अफगानिस्तान से एयरलिफ्ट कराया है. इस बीच काबुल से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पहुंची एक महिला ने अफगानिस्तान के ताजा हालातों पर अपना दर्द बयां किया है. महिला ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि का "मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि दुनिया ने अफगानिस्तान को छोड़ दिया है. हमारे दोस्त मारे जा रहे हैं. वे (तालिबान) हमें मारने जा रहे हैं. हमारी महिलाओं के पास और अधिकार नहीं हैं."

यह भी पढ़ें : छेड़छाड़ की शिकार महिला को आरोपित के परिजनों ने जिंदा जलाया

काबुल से 129 यात्रियों को लेकर एयर इंडिया का एक विमान रविवार शाम दिल्ली पहुंच गया. एआई 244 ने शाम 6.06 बजे उड़ान भरी थी. रविवार को काबुल हवाईअड्डे से जब तालिबान अफगानिस्तान की राजधानी पहुंचे और वे अब सत्ता संभालने के करीब हैं. एयर इंडिया के एक प्रवक्ता ने आईएएनएस को बताया, हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और फिलहाल काबुल के लिए अपनी निर्धारित उड़ानें जारी रखे हुए हैं. इसके अलावा, अधिकारी ने कहा कि काबुल के लिए अगली उड़ान सोमवार को सुबह 8.50 बजे उड़ान भरने वाली है. अफगानिस्तान की स्थिति पर निराशा व्यक्त करते हुए विमान में सवार एक महिला ने दिल्ली में संवाददाताओं से कहा कि दुनिया ने अफगानिस्तान को उसके हाल पर छोड़ दिया है. हमारे दोस्त मारे जा रहे हैं. यात्रियों में काबुल में भारतीय दूतावास में तैनात राजनयिक और सुरक्षा अधिकारी भी शामिल हैं.

यह भी पढ़ें : अफगानिस्तान में तालिबान की वापसी से चिंतित मलाला यूसुफजई, बोली यह बात

अफगानिस्तान में स्थिति रविवार को और भी खराब हो गई, क्योंकि काबुल पर तालिबान ने कब्जा कर लिया है. इसके अलावा, राष्ट्रपति अशरफ गनी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हमदुल्ला मुहिब और राष्ट्रपति फजल महमूद फाजली के प्रशासनिक कार्यालय के प्रमुख के साथ ताजिकिस्तान के लिए अफगानिस्तान से रवाना हुए. अफगान मीडिया ने बताया कि कुछ सांसद भी इस्लामाबाद भाग गए हैं, जिनमें अफगान संसद के अध्यक्ष मीर रहमान रहमानी, यूनुस कानूनी, मुहम्मद मुहकक, करीम खलीली, अहमद वली मसूद और अहमद जि़या मसूद शामिल हैं. राष्ट्रीय सुलह के लिए उच्च परिषद के प्रमुख अब्दुल्ला अब्दुल्ला ने एक वीडियो क्लिप में कहा कि गनी ने अफगानिस्तान छोड़ दिया। जब से अमेरिकी सैनिकों ने युद्ध से तबाह देश से बाहर निकाला है, तालिबान पिछले कुछ हफ्तों में प्रांतों को अपने नियंत्रण में ले रहा है, जिससे विश्व स्तर पर चिंता बढ़ रही है. जैसा कि अफगानिस्तान में स्थिति बद से बदतर होती जा रही है, अफगान सुरक्षा बलों और तालिबान के बीच भीषण लड़ाई के साथ, राजनयिकों सहित कई भारतीय नागरिकों को देश से निकाल लिया गया है.

First Published : 15 Aug 2021, 11:32:15 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.