News Nation Logo
कल सुबह बिपिन रावत के घर जाएंगे उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी प्रधानमंत्री के आवास पर सीसीएस की आपात बैठक होगी हेलीकॉप्टर हादसे में एक शख्स को​ जिंदा बचाया गया: डीएम हेलीकॉप्टर हादसे पर बयान जारी करेगी वायु सेना वायुसेना ने CDS बिपिन रावत की मौत की पुष्टि की वायुसेना ने सीडीएस बिपिन रावत की मौत की पुष्टि की DNA टेस्ट से होगी शवों की पहचान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना के हेलीकॉप्टर हादसे के बारे में पीएम मोदी को दी जानकारी हेलीकॉप्टर क्रैश में अब तक 13 लोगों की मौत की पुष्टि हेलीकॉप्टर क्रैश के बाद CDS बिपिन रावत के घर पहुंचे एमएम नरवणेRead More » CDS बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर क्रैश मामले में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह कल संसद में देंगे बयान ढाई बजे हेलीकॉप्टर में लगी आग बुझाई गई

जब 39000 फीट की ऊंचाई पर महिला ने दिया बच्चे को जन्म

कोलंबिया की राजधानी बोगोटा से अमेरिका के फ्रैंकफर्ट जा रहे विमान में 39000 फीट की ऊंचाई पर एक महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया।

News Nation Bureau | Edited By : Vinita Singh | Updated on: 29 Jul 2017, 06:22:54 PM
39000 फीट पर लुफ्थांसा की उड़ान एलएच 543 में लिया बच्चे ने जन्म

नई दिल्ली:

क्या अापने कभी सुना है 39000 फीट की ऊंचाई पर प्लेन डिलीवरी रूम बन गया हो। जी हां, कोलंबिया की राजधानी बोगोटा से अमेरिका के फ्रैंकफर्ट जा रहे विमान में 39000 फीट की ऊंचाई पर एक महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया।

लुफ्थांसा की उड़ान एलएच 543 में सवार एक 38 वर्षीय गर्भवती को समय पूर्व प्रसव पीड़ा होने लगी। एयरलाइन ने बताया कि घटना बुधवार की है। विमान उत्तरी अटलांटिक के ऊपर 39 हजार फुट पर उड़ान भर रहा था जब महिला ने बच्चे को जन्म दिया।

विमान में उपस्थित एक यात्री ने बताया कि एक गर्भवती महिला डिसल्वा अकेली विमान में सफर कर रही थी। विमान जब 39000 फीट ऊंचाई पर उड़ रहा था तभी अचानक गर्भवती महिला के पेट में दर्द हुआ। विमान किसी भी प्रकार की चिकित्सीय सहायता मिल पाना मुश्किल था।

महिला दर्द से बहुत परेशान हो रही थी। विमान के क्रू-मेंबर्स से देखा नहीं गया। उन्होंने इस संबंध में पीडि़त महिला से बात की तो पता चला कि उसे लेबर पेन हो रहा है व उसे सहायता की आवश्यकता है।

विमान के पिछले हिस्से को अस्थायी डिलिवरी रूम में बदलकर केबिन क्रू और यात्रियों में मौजूद तीन डॉक्टरों की मदद से बिना किसी परेशानी के बच्चे का जन्म हुआ। उसके बाद विमान में अनाउंसमेंट हुई कि ‘लडक़ा हुआ है’। इस रोचक पल की सूचना जब पूरी दुनिया को मिली तब हर किसी ने लुफ्थांसा क्रू मेंबर्स और सभी यात्रियों की तारीफ की।

बच्चे का नाम निकोलाई रखा गया है जो तीन में से एक डॉक्टर का भी नाम है। विमान को रास्ते में मैनचेस्टर में उतारकर जच्चा और बच्चा को पैरा-मेडिकल कर्मचारियों की देखरेख में सौंप दिया गया। बोगोटा से उड़ान भरते समय विमान में 191 यात्री तथा केबिन क्रू के 13 सदस्य शामिल थे। लेकिन जब विमान उतरा तो यात्रियों की संख्या 192 हो गयी।



विमान के मुख्य पायलट कुर्ट मेयर ने कहा कि अपने 37 साल के करियर में उन्होंने पहले कभी इस तरह का अनुभव नहीं किया। विमान के सभी सदस्यों ने अपना योगदान दिया। यह जबरदस्त टीमवर्क था जिसमें सभी ने अपनी भूमिका बखूबी निभायी। उन्होंने कहा मेरे अपने बेटे के जन्म के बाद यह मेरी जिंदगी का सबसे भावुक क्षण था।

और पढ़े: US एयरलाइन्स में मजबूर हुई मां, बेटे को सीट नहीं मिली तो 3 घंटे तक गोद में बिठाया

First Published : 29 Jul 2017, 06:21:35 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो