News Nation Logo
Banner

अमेरिका चुनाव पर ये प्रोफेसर 1984 से कर रहा है सही भविष्यवाणी

लिचमैन साल 1984 से लेकर लगातार अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों की भविष्यवाणी करते आ रहे हैं और हर बार उनकी भविष्यवाणी एकदम सटीक निकली है. उनकी भविष्वाणी के मुताबिक इस बार अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में जोए बिडन मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को शिकस्त

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 10 Aug 2020, 12:30:15 AM
allen litchman trump

एलन लिचमैन- डोनाल्ड ट्रंप (Photo Credit: फाइल )

नई दिल्‍ली:

अमेरिकी इतिहासकार और प्रोफेसर एलन लिचमैन अमेरिका के राष्ट्रपति के चुनावों (us president election) में की जाने वाली भविष्यवाणियों को लेकर जाने जाते हैं. इस बार लिचमैन ने भविष्यवाणी करते हुए कहा है कि आने वाले अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को शिकस्त झेलनी पड़ेगी और अमेरिका को एक नया राष्ट्रपति मिलेगा. आपको बता दें कि लिचमैन साल 1984 से लेकर लगातार अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों की भविष्यवाणी करते आ रहे हैं और हर बार उनकी भविष्यवाणी एकदम सटीक निकली है. उनकी भविष्वाणी के मुताबिक इस बार अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में जोए बिडन मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को शिकस्त दे देंगे.

आपको बता दें कि इसके पहले अमेरिकी राष्ट्रपति 2016 में भी उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के जीतने की भविष्यवाणी की थी. उस समय डोनाल्ड ट्रंप को बहुत कम लोग ही जानते थे इसके बाद भी लिचमैन उनकी जीत को लेकर आश्वस्त थे. सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात ये रही कि उन्होंने तभी ट्रंप के बारे में ये भविष्यवाणी भी की थी कि उन्हें कानूनी मामलों का भी सामना करना पड़ेगा और ट्रंप को महाभियोग का सामना करना पड़ा यह बात पूरी तरह से सही निकली. अब वो नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों के लिए जोए बिडन की जीत का दावा कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें-टिकटॉक को 15 सितंबर तक का वक्त, कारोबार नहीं बेचा तो अमेरिका में होगा बैन

न्यूयॉर्क टाइम्स ने जारी किया लिचमैन का वीडियो
अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की ओर से जारी किए गए एक वीडियो में वो ये कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि इस चुनाव के बाद ट्रंप को व्हाइट हाउस में जगह नहीं मिलेगी. आपको बता दें कि लिचमैन 13 बिन्दुओं के आधार पर भविष्यवाणी करते हैं जिनमें सामाजिक उठापटक, आंतरिक विरोध, आर्थिक व्यवस्था, घोटालों जैसे मुद्दों के साथ कैंडिडेट के करिश्माई व्यक्तित्व का भी अध्ययन किया जाता है.

यह भी पढ़ें-डोनाल्ड ट्रंप बोले- Covid-19 के बाद चीन के प्रति अमेरिका का रवैया 'काफी बदला', क्योंकि...

इस बार ट्रंप पर भारी पड़ेगे बिडेनः लिचमैन 
लिचमैन ने बताया कि इस बार होने वाले राष्ट्रपति चुनावों में उनके मुताबिक उनके 13 बिन्दुओं में से 7 बिन्दुओं पर बिडेन मौजूदा राष्ट्रपित डोनाल्ड ट्रंप पर भारी दिखाई दे रहे हैं, जबकि 6 बिन्दु ओं के मुताबिक ट्रंप बिडेन पर भारी दिखाई दे रहे हैं. इसी वजह से वो बिडेन की जीत का दावा कर रहे हैं. उन्होंने ये भी बताया कि इस बार का राष्ट्रपति चुनाव का परिणाम काफी नजदीकी रहेगा. लिचमैन ने कहा कि इस बार के चुनाव में कोरोना वायरस से मची तबाही और पुलिसिया अत्याचार और नस्लवाद भी बड़ा फैक्टर बनकर उभरेगा जो कि ट्रंप की हार का कारण बनेगा.

यह भी पढ़ें-चीन के खिलाफ भारत के साथ है अमेरिका, वरिष्ठ सांसदों ने फिर दोहराया वादा

1984 से लगातार सही भविष्यवाणी कर रहे हैं लिचमैन
आपको बता दें कि साल 1984 में लिचमैन ने पहली बार रोनाल्ड रीजन की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी पर जीत की भविष्यवाणी की थी तब से लेकर अब तक उनकी कोई भी भविष्यवाणी गलत साबित नहीं हुई है. सिर्फ साल 2000 में एक बार वो आंशिक तौर पर गलत साबित हुए थे जब जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने उनकी भविष्यवाणी को दरकिनार कर अपने प्रतिद्वंदी अल गोरे को शिकस्त दी थी. हालांकि अल गोरे को पॉपुलर वोटिंग में जीत मिली थी, लेकिन फ्लोरिडा में मुख्य चुनाव की मतगणना पर सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद बुश को विजेता घोषित किया गया था. इसीलिए लिचमैन मानते हैं कि उनकी भविष्यवाणी गलत नहीं थी, क्योंकि वोटों का पूरी गिनती हुई ही नहीं थी और बहुत कांटे की टक्कर में आखिरी समय पर अल गोरे को जीत मिलती.

First Published : 10 Aug 2020, 12:04:06 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.