News Nation Logo
आंतरिक सुरक्षा पर राज्यों के IG और DGP के साथ आज अमित शाह की बैठक कश्मीर में एक और आतंकी साजिश का अलर्ट, सुरक्षा बढ़ाई गई दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने “रेड लाईट ऑन, गाड़ी ऑफ” अभियान की शुरुआत की पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की अध्यक्षता में चंडीगढ़ में कैबिनेट की बैठक हुई महाराष्ट्रः कल्याण की आधारवाड़ी जेल में 20 कैदी कोरोना पॉजिटिव आर्यन खान पर NCB का बड़ा बयान, आर्यन की काउंसिलिंग की गई आर्यन ने दोबारा गलती न करने की बात कही: NCB रिहाई के बाद गरीबों के लिए काम करेंगे आर्यन खान: NCB कांग्रेस सिर्फ एक परिवार की पार्टी है: संबित पात्रा कश्मीर पर कांग्रेस भ्रम फैला रही है: संबित पात्रा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारधाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं से सावधानी बरतने की अपील की भाजपा कार्यालय में हो रही राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक का पहला चरण खत्म किसान संगठनों के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर मोदी नगर (उ.प्र.) में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी ISI Chief पर बीवी के टोटके पर अड़े इमरान, पाक सेना के जनरल ने लगाई लताड़ संयुक्त किसान मोर्चा के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर प्रदर्शनकारी बहादुरगढ़ में रेलवे ट्रैक पर बैठे दिल्ली में लगातार दूसरे दिन भी बारिश का दौर जारी. जगह-जगह जलभराव

बढ़ते चीनी कतरों को देखते हुए F-35 फाइटर जेट पर अमेरिकी सेना का भरोसा हुआ कमजोर?

F-35 एक अंतरराष्ट्रीय संयुक्त स्ट्राइक फाइटर (JSF) कार्यक्रम के रूप में विकसित हुआ था. जिस पर अब अमेरिकी सेना को भरोसा नहीं रहा है. वायुसेना अपने स्टील्थ फाइटर जेट एफ-35 से पीछा छुड़ाना चाहती है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 16 Sep 2021, 11:25:02 PM
F 35A flightER

F-35 fighter jet (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • अमेरिकी वायुसेना अपने स्टील्थ फाइटर जेट एफ-35 से पीछा छुड़ाना चाहती है 
  • वायुसेना ने हल्के फाइटर जेट की डिमांड की
  •  एफ-35 लड़ाकू विमान का वजन लगभग 25 टन के आसपास है

New delhi:

F-35 एक अंतरराष्ट्रीय संयुक्त स्ट्राइक फाइटर (JSF) कार्यक्रम के रूप में विकसित हुआ था. जिस पर अब अमेरिकी सेना को भरोसा नहीं रहा है. वायुसेना अपने स्टील्थ फाइटर जेट एफ-35 से पीछा छुड़ाना चाहती है. अमेरिकी वायुसेना का मानना है कि उन्हे सस्ते और हल्के फाइटर जेट की जरुरत है. क्योंकि F-35 वजन तगरीबन 25 टन के आसपास है.. खुद अमेरिकी एयरफोर्स के प्रमुख चार्ल्स ब्राउन जूनियर ने कहा कि हमें शीत युद्ध के जमाने के विमानों को बदलने की जरुरत है.. हल्के फाइटर विमान जटिल तकनीकी वाले महंगे और गैर विश्वसनीय स्टील्थ लड़ाकू विमानों की जगह भी ले सकेंगे. पिछले कई साल से दुनिया के अलग-अलग रक्षा विशेषज्ञ अमेरिका के F-35 और F-22 लड़ाकू विमान की विश्वसनीयता पर संदेह जता चुके हैं..

यह भी पढें :नेपाल मे राजनीतिक गतिरोध की वजह से बजट नहीं हो सका पास, सरकार के खर्च करने पर लगी रोक

अमेरिकी एयरफोर्स का एफ-35 लड़ाकू विमान का वजन लगभग 25 टन के आसपास है.. इस प्लेन को बनाने का कार्यक्रम अमेरिकी एयरफोर्स की पुराने पड़ते एफ-16 के सैकड़ों विमानों को रिप्लेस करने के लिए शुरू किया गया था.. लेकिन, यह लड़ाकू विमान जो एयरफोर्स की समस्या का हल होना चाहिए था वह खुद ही एक समस्या बन गया.. एयरफोर्स के अधिकारियों ने कहा कि अब अमेरिका को एफ-35 समस्या को हल करने के लिए एक नए लड़ाकू विमान की आवश्यकता है. इंजन सहित एक एफ-35 लड़ाकू विमान की कीमत करीब 100 मिलियन डॉलर है. भारतीय रुपये में यह कीमत करीब 724 करोड़ के आसपास आएगी. यह दाम केवल अमेरिकी वायुसेना के लिए है. अगर कोई दूसरा देश इसे खरीदने की कोशिश करता है तो इसमें लगे कई हॉइटेक फीचर बदल दिये जाएंगे..

इतना महंगा होने के कारण एफ-35 लड़ाकू विमानों का मेंटिनेंस या रखरखाव भी काफी महंगा है. इसमें कई ऐसे हाईटेक उपकरण लगे हैं, जिन्हें एक निश्चित उड़ान के घंटों के बाद बदलने की जरूरत होती है.. जिसके कारण एयरफोर्स का अधिकांश बजट इसके मेंटिनेंस में ही खर्च हो रहा है. वायु सेना के एक पूर्व प्रोग्राम मैनेजर और द सिंपलिसिटी साइकिल सहित लोकप्रिय बिजनेस बुक्स लिखने वाले डैन वार्ड ने कहा कि एफ- 35 कम लागत वाला हल्का लड़ाकू नहीं है. F-35 एक फेरारी है

First Published : 16 Sep 2021, 11:25:02 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो