logo-image
लोकसभा चुनाव

Ukraine को अमेरिकी मदद जारी, US House ने 45 बिलियन डॉलर की दी मंजूरी

US House approves USD 45 bn aid package for Ukraine : यूक्रेन में रूस से मुकाबले के लिए अमेरिका ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. अभी तक हथियारों से मदद कर रहे अमेरिका ने पहले तो अपने पैट्रिएट मिसाइल डिफेंस सिस्टम (Patriot Missile Defence System...

Updated on: 24 Dec 2022, 05:36 PM

highlights

  • यूक्रेन को अब तक की सबसे बड़ी मदद
  • यूएस हाउस ने 45 बिलियन डॉलर की मदद पर लगाई मुहर
  • अमेरिका पहुंचे जेलेंस्की ने लगाई थी मदद की गुहार

नई दिल्ली:

US House approves USD 45 bn aid package for Ukraine : यूक्रेन में रूस से मुकाबले के लिए अमेरिका ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. अभी तक हथियारों से मदद कर रहे अमेरिका ने पहले तो अपने पैट्रिएट मिसाइल डिफेंस सिस्टम (Patriot Missile Defence System) यूक्रेन को देने की घोषणा की, तो अब यूएस हाउस ने यूक्रेन की मदद के लिए 45 बिलियन डॉलर की सरकार की मांग को मंजूर कर लिया है. ये मदद हथियारों के साथ नकदी में भी होगी, ताकी यूक्रेन की अर्थव्यवस्था को भी ध्वस्त होने से रोका जा सके और रूस को भी मुंहतोड़ जवाब दिया जा सके. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बिल के साथ ही अमेरिकी सरकार के पूरे खर्च के लिए भी बड़ी धनराशि को मंजूरी दी गई है.

यूक्रेनी भाईयों को मदद देने के लिए अमेरिकी भाईयों का शुक्रिया

अमेरिकी मदद मिलने के बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने खुशी जताई है. उन्होंने ट्विटर पर थैंक यू अमेरिका बोलते हुए लिखा है कि इस मौके पर जैसी मदद की जरूरत थी, ठीक उसी तरह अमेरिका हमारे कंधे से कंधा मिलकर खड़ा है. हमें हर कदम पर सहयोग मिल रहा है. रूसी आक्रमण को मुंहतोड़ जवाब देते हुए हमारे यूक्रेनी भाईयों को जिस तरह से अमेरिका मदद कर रहा है, उसे हम कभी नहीं भूलेंगे. जेलेंस्की ने नैंसी पेलोसी और जो बाइडेन को भी शुक्रिया कहा है. 

ये भी पढ़ें: Shri Krishna Janmabhoomi Case: मथुरा के शाही ईदगाह का भी होगा सर्वे, कोर्ट ने 20 जनवरी तक मांगी रिपोर्ट

यूक्रेन के साथ ही नेटो सहयोगियों को भी मदद

यूएस हाउस ने सिर्फ यूक्रेन की मदद के लिए ही बिल पास नहीं किया है, बल्कि नेटो के अन्य सहयोगी देशों, जो प्राकृतिक आपदाएं झेल रहे हैं. उनकी मदद के लिए भी 40 बिलियन डॉलर की राशि के लिए स्वीकृति दी है. यूएस हाउस से पास हुए इस बिल में अमेरिकी सरकार के लिए अंतरिम पैसों की व्यवस्था की गई है, जिसपर राष्ट्रपति के दस्तखत होने बाकी हैं.