News Nation Logo

भारत में बाढ़ पीड़ितों तक ऐसे मदद पहुंचाएगा संयुक्त राष्ट्र, बनाई ये योजना

संयुक्त राष्ट्र भारत में सबसे वंचित और प्रभावित समुदायों को मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए तैयार है. UN महासचिव एंतोनियो गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि ऐसा बताया जा रहा है कि भारत में मानसून ने 770 से अधिक लोगों की जान ले ली है.

Bhasha | Updated on: 12 Aug 2020, 09:14:02 AM
United Nations

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) (Photo Credit: फाइल फोटो)

संयुक्तराष्ट्र:

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) भारत में मॉनसून (Monsoon) के कारण हो रही भारी बारिश की वजह से सर्वाधिक प्रभावित और वंचित समुदायों को मानवीय सहायता मुहैया कराएगा. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि ऐसा बताया जा रहा है कि भारत में मानसून ने 770 से अधिक लोगों की जान ले ली है. प्राधिकारियों के अनुसार, पांच लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. संयुक्त राष्ट्र (UN) भारत में सबसे वंचित और प्रभावित समुदायों को मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए तैयार है.

यह भी पढ़ें: रूस की कोरोना वैक्सीन दुनिया के कई, विशेषज्ञों ने उठाए ये बड़े सवाल

बांग्लादेश में पिछले कुछ वर्षों का सबसे भयंकर एवं सबसे लंबा मॉनसून
दुजारिक ने एशिया में बाढ़ की स्थिति के बारे में कहा कि बांग्लादेश में पिछले कुछ वर्षों का सबसे भयंकर एवं सबसे लंबा मॉनसून आया है और एक चौथाई देश बाढ़ से जूझ रहा है. उन्होंने कहा कि कम से कम 54 लाख लोग भीषण बाढ़ से प्रभावित हुए हैं, 11,000 परिवार विस्थापित हो गए हैं और 135 लोगों की मौत हो गई है. प्रवक्ता ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र सहयोगी भोजन, आश्रय, साफ जल, स्वच्छता संबंधी एवं अन्य आपूर्ति उपलब्ध कराने में सहायता कर रहे है.

यह भी पढ़ें: रूस ने लांच की कोरोना वैक्सीन, कब और कितने दाम में मिलेगी; जानें सबकुछ

बिहार में बाढ़ से 16 जिलों में 75 लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित
बिहार में बाढ़ से स्थिति गंभीर बनी हुई है. राज्य के 16 जिलों में 75 लाख से अधिक की आबादी प्रभावित हो चुकी है. आपदा प्रबंधन विभाग से जानकारी के मुताबिक के सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण बाढ़ से प्रभावित हैं. पश्चिम चंपारण, खगड़िया, सारण, समस्तीपुर, सिवान, मधुबनी, मधेपुरा एवं सहरसा जिले की आबादी भी बाढ़ से प्रभावित हुई है. इन जिलों के 126 प्रखंडों के 1260 पंचायतों में 75 लाख से अधिक की आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है। बाढ़ के कारण विस्थापित लोगों को भोजन कराने के लिए 1204 सामुदायिक रसोई की व्यवस्था की गयी है.

यह भी पढ़ें: रूस को मिले एक अरब डोज के ऑर्डर, WHO बोला- वैक्सीन पर आगे बढ़ना होगा खतरनाक

दरभंगा जिला में सबसे अधिक 15 प्रखंडों की 220 पंचायतें बाढ से प्रभावित हुई हैं. बिहार के बाढ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 33 टीमों की तैनाती की गयी है. बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, गंडक, बूढ़ी गंडक, कोशी, गंगा नदियों के जलस्तर बढ़ने से बाढ़ आयी है. जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बागमती नदी सीतामढी, मुजफ्फरपुर एवं दरभंगा में, बूढी गंडक नदी मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर एवं खगडिया में, कमला बलान नदी मधुबनी में, गंगा नदी भागलपुर में मंगलवार को खतरे के निशान से उपर बह रही है. जल संसाधन विभाग के अनुसार विभाग के अंतर्गत सभी बाढ सुरक्षात्मक बांध सुरक्षित हैं. बिहार में बाढ़ से दरभंगा जिले में सबसे अधिक दस लोगों, मुजफ्फरपुर में छह, पश्चिम चंपारण में चार तथा सारण एवं सिवान में दो—दो व्यक्ति की मौत हो चकी है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 Aug 2020, 09:14:02 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.