News Nation Logo
Breaking

कश्मीर मसले पर भारत को आंख दिखाने वाले तुर्की के राष्ट्रपति पाकिस्तान में

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन (Recep Tayyip Erdogan) अपने दो दिवसीय आधिकारिक पाकिस्तान (Pakistan) दौरे पर गुरुवार को यहां पहुंचेंगे.

News State | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 13 Feb 2020, 12:48:52 PM
तुर्की के राष्ट्रपति आज पहुंच रहे हैं पाकिस्तान.

तुर्की के राष्ट्रपति आज पहुंच रहे हैं पाकिस्तान. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • एर्दोगन दो दिवसीय आधिकारिक पाकिस्तान दौरे पर गुरुवार को यहां पहुंचेंगे.
  • कुआलालंपुर शिखर सम्मेलन से नदारद होने के कारण हुई क्षति की भरपाई.
  • यात्रा के दौरान, खान और एर्दोगन के बीच चर्चाएं होंगी.

इस्लामाबाद:  

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन (Recep Tayyip Erdogan) अपने दो दिवसीय आधिकारिक पाकिस्तान (Pakistan) दौरे पर गुरुवार को यहां पहुंचेंगे. अधिकारियों और विशेषज्ञों का मानना है कि यह यात्रा क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय विकास के संदर्भ में बहुत महत्वपूर्ण है. एर्दोगन के साथ एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी आ रहा है जिसमें कैबिनेट मंत्री, वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के साथ-साथ प्रमुख तुर्की निगमों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) शामिल हैं. एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार यह यात्रा ऐसे समय में हो रही है, जब पाकिस्तान कुआलालंपुर (kuala lumpur) शिखर सम्मेलन से नदारद होने के कारण हुई क्षति की भरपाई करने की कोशिश कर रहा है.

यह भी पढ़ेंः BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा ने किया मनोज तिवारी को तलब, करारी हार पर बैठक जारी

मुस्लिम देशों में दो फाड़
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भी शिखर सम्मेलन में भाग लेना था, लेकिन मलेशिया, तुर्की, ईरान और कतर के नेताओं के इकट्ठा होने पर सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की चिंताओं का हवाला देते हुए अंतिम समय में बैठक से दूरी बना ली थी. सऊदी अरब ने इस शिखर सम्मेलन को कुछ इस्लामिक देशों द्वारा मुस्लिम दुनिया में एक नया ब्लॉक बनाने के प्रयास के रूप में देखा था. हालांकि, मेजबान मलेशिया और पाकिस्तान ने ऐसी धारणाओं को खारिज कर दिया था.

यह भी पढ़ेंः निर्भया गैंगरेप केस: कल तक के लिए फिर टली दोषियों को फांसी की मांग पर सुनवाई

विभिन्न मसलों पर एमओयू पर हस्ताक्षर
विदेश कार्यालय द्वारा बुधवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि यात्रा के दौरान, खान और एर्दोगन के बीच चर्चाएं होंगी. इसके बाद वे पाकिस्तान-तुर्की हाई लेवल स्ट्रेटजिक कारपोरेशन काउंसिल (एचएलएससीसी) के 6वें सत्र की सह-अध्यक्षता करेंगे. सत्र के समापन पर एक संयुक्त घोषणा पर हस्ताक्षर किए जाएंगे. इस मौके पर कई महत्वपूर्ण समझौतों और ज्ञापनों (एमओयू) पर हस्ताक्षर भी हो सकते हैं.

First Published : 13 Feb 2020, 12:48:52 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.