News Nation Logo
Banner

गंभीरता से नहीं ली आतंकी हमलों की सूचना, खतरे में डाला भारतीय दूतावास को भी

इस चेतावनी में साफ-साफ कहा गया था कि तौहीद जमात श्रीलंका के प्रमुख चर्च और भारतीय दूतावास को बम धमाकों से उड़ाने की साजिश रच रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 22 Apr 2019, 10:42:25 AM
श्रीलंका में हुए श्रंखलाबद्ध धमाके. बम धमाके में तबाह हुआ एक चर्च

श्रीलंका में हुए श्रंखलाबद्ध धमाके. बम धमाके में तबाह हुआ एक चर्च

नई दिल्ली.:

ईस्टर पर्व पर रविवार को श्रीलंका (Srilanka) को दहला देने वाले श्रंखलाबद्ध बम धमाकों (Srilanka Serial Bomb Blasts) के निशाने पर भारतीय दूतावास (Indian Embassy) भी था. आतंक के पटल पर उभरते एक नए आतंकी संगठन को लेकर श्रीलंका सरकार को पहले ही चेताया गया था. इस आतंकी संगठन के तार सीरिया से जुड़े हुए हैं और इसके निशाने पर न सिर्फ श्रीलंका के प्रमुख चर्च थे, बल्कि भारतीय दूतावास भी था. यह किसी चमत्कार से कम नहीं है कि भारतीय दूतावास इन श्रंखलाबद्ध धमाकों से अछूता रह गया.

यह भी पढ़ेंः Sri Lanka Blast Live updates : मरने वालों की संख्या हुई 290, 500 से अधिक लोग घायल, अब तक 24 संदिग्ध गिरफ्तार

सामरिक मामलों के विशेषज्ञ ब्रह्मा चेलानी की एक ट्वीट के मुताबिक वैश्विक आतंक के पटल पर एक उभरता आतंकी संगठन है तौहीद जमात (Thowheed Jama’ath) . इसमें ज्यादातर सीरिया में जेहाद छेड़ने वाले लड़ाके हैं. सीरिया (Seria) में पैर उखड़ने के बाद तौहीद जमात संगठन को यही सीरिया से वापस लौटे लड़ाके धार देने में लगे हैं. बताते हैं कि कई विदेशी खुफिया एजेंसियों ने तौहीद जमात और उसके नापाक इरादों को लेकर श्रीलंका सरकार को पहले ही चेतावनी दे दी थी. इस चेतावनी में साफ-साफ कहा गया था कि तौहीद जमात श्रीलंका के प्रमुख चर्च और भारतीय दूतावास को बम धमाकों से उड़ाने की साजिश रच रहा है.

यह भी पढ़ेंः Sri Lanka Blast: होटल मैनेजर ने बताया धमाके से पहले हमलावर कर रहा था ये काम

रविवार को कोलंबो समेत अन्य शहरों में हुए श्रंखलाबद्ध बम धमाकों के बाद स्थानीय पुलिस कमिश्नर ने भी कहा था कि आतंकी हमलों को लेकर पहले ही खुफिया सूचना साझा की गई थीं, लेकिन उन्हें रोका नहीं जा सका. हालांकि राहत की बात यही रही कि भारतीय दूतावास में बम प्लांट करने या आत्मघाती हमले में उसे उड़ाने की साजिश भी परवान नहीं चढ़ सकी.

श्रीलंका बम धमाकों में तौहीद जामत का नाम सामने आने के बाद तमिलनाड़ु के इसी नाम के एक संगठन पर भी चर्चा शुरू हो गई है. हालांकि यह संगठन सामाजिक कामों में लगा है, लेकिन समय-समय पर इसको लेकर भी विवाद सामने आते रहे हैं. बांग्लादेश में आतंकी हमले के बाद जब भारत में रह रहे मुस्लिम धर्म गुरु जाकिर नायक पर आतंकवाद को बढ़ावा देने के आरोप लगे, तब तमिलनाडू के इस संगठन ने जाकिर नायक का बचाव किया था.

First Published : 21 Apr 2019, 03:29:32 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो