News Nation Logo
Banner

पीएम मोदी के दौरे से पहले चीनी मीडिया ने कहा- हिंदुत्व के कारण भारत में नहीं पनपा इस्लामिक चरमपंथ

चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपे एक आर्टिकल में भारत और हिंदुत्व की प्रशंसा की गई है। प्रधानमंत्री मोदी अगले हफ्ते ब्रिक्स सम्मेलन के लिए चीन जाने वाले हैं।

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar | Updated on: 31 Aug 2017, 10:33:06 AM
नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

highlights

  • चीन के ग्लोबल टाइम्स में भारत और हिंदुत्व की सराहना
  • पीएम मोदी अगले हफ्ते चीन की दो दिनों की यात्रा पर, ब्रिक्स सम्मेलन में लेंगे हिस्सा

नई दिल्ली:

डोकलाम पर विवाद के खत्म होने के बाद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चीन के दौरे से पहले चीनी मीडिया ने अपने रुख में नरमी दिखाई है।

चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपे एक आर्टिकल में भारत और हिंदुत्व की प्रशंसा की गई है। प्रधानमंत्री मोदी अगले हफ्ते ब्रिक्स सम्मेलन के लिए चीन जाने वाले हैं।

ग्लोबल टाइम्स में छपे लेख में कहा गया है कि भारत में इस्लामिक चरमपंथ यहां मौजूद हिंदुत्व के कारण नहीं पनप सका। लेख में हिंदुत्व की प्रशंसा करते हुए कहा गया है कि कैसे यह धर्म की पहचान से भी आगे बढ़ते हुए जीवनशैली और सामाजिक व्यवस्था में तबदील हो गया।

यह भी पढ़ें: बैंको और पीएसयू के अफसरों के बच्चों को अब नहीं मिलेगा आरक्षण का फायदा

यह लेख 1995 में आई फिल्म 'बॉम्बे' का जिक्र करते हुए शुरू होता है। यह फिल्म एक मुस्लिम महिला और एक हिंदू युवक की कहानी है जो एक-दूसरे के प्यार में गिरफ्तार होते हैं और फिर अपने-अपने परिवार की मर्जी के खिलाफ जाकर शादी करते हैं।

बाद में दोनों एक सांप्रदायिक दंगे की में फंसते हैं। फिल्म 1992 में हुए दंगे पर आधारित है। बहरहाल, चीनी अखबार के आर्टिकल में कहा गया है कि यह फिल्म इस सवाल का जवाब है कि क्यों भारत में दूसरे देशों से इतर कट्टर इस्लाम अपनी जगह नहीं बना पाया।

यह भी पढ़ें: डोकलाम पर चीन की गीदड़ भभकी, कहा ऐसी घटनाओं से सबक ले भारत

लेख में कहा गया है कि एशिया के दूसरे देशों में मौजूद इस्लामिक संगठन की बजाय भारत में ऐसे कट्टर संगठन नहीं के बराबर हैं।

लेख में फिलिपींस का देते हुए कहा गया है कि कैसे वहां इस्लामी चरमपंथियों ने पूरे क्षेत्र को बर्बाद कर दिया।

चीनी अखबार ने भारत की सराहना करते हुए लिखा है, 'पूरी दुनिया ने इस पर गौर किया है। इस्लामी चरमपंथ की भारत में नहीं के बराबर मौजूदगी ने उसे एशिया में अहम बनाया है। जब एशिया से जुड़ी नीति की बात होती है तो अमेरिका, जापान, रूस और यूरोपीय देश भी इसे लेकर भारत का महत्व समझते हैं।'

यह भी पढ़ें: Ind Vs Sri Lanka: धोनी के लिए खास होगा कोलंबो वनडे, इन दो रिकॉर्ड्स को कर सकते हैं अपने नाम

First Published : 31 Aug 2017, 04:35:25 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो