News Nation Logo
आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 20 से ज्यादा गाड़ियां मौके के लिए रवाना मुंबई के लालबाग इलाके में 60 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग आग की लपटों से घिरी बहुमंजिला इमारत में 100 से ज्यादा लोगों के फंसे होने की आशंका बहादुरगढ़ के बादली के पास तेज़ रफ़्तार कार और ट्रक की टक्कर में एक ही परिवार के 8 लोगों की मौत उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: कल शाम छह बजे सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस सीईसी की बैठक राष्ट्रपति कोविन्द अपनी तीन दिवसीय बिहार यात्रा के अंतिम दिन गुरुद्वारा पटना साहिब, महावीर मंदिर गए छत्तीसगढ़ः राजनांदगांव में आईटीबीपी के 21 जवानों को फूड प्वाइजनिंग, अस्पताल में भर्ती कराया गया ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने लगातार तीसरे दिन पेट्रोल और डीजल को महंगा किया राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम बढ़कर 106.89 रुपये प्रति लीटर हुआ युद्ध जारी रहते कवच नहीं उतारते यानी मास्क को सहज स्वभाव बनाएंः पीएम मोदी आर्यन खान की चैट के आधार पर एनसीबी आज फिर करेगी अनन्या पांडे से पूछताछ पुंछ में आतंकियों पर सुरक्षा बलों का घेरा कसा. आज या कल खत्म कर दिए जाएंगे आतंकी दूत जम्मू-कश्मीर दौरे से पहले गृह मंत्री अमित शाह की आईबी-एनआईए संग हाई लेवल बैठक आज आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, 35 पैसे प्रति लीटर का हुआ इजाफा

अल-कायदा के अमेरिका पर आतंकी हमलों के लिए तालिबान होगा जिम्मेदारः ब्लिंकन

एंटोनी ब्लिंकन (Antony Blinken) ने दो टूक लहजे में चेतावनी दी है कि यदि अफगानिस्तान की जमीन से अल-कायदा (Al Qaeda) अमेरिका के लिए खतरा बनता है, तो इसकी सीधी तौर पर जिम्मेदारी तालिबान की ही होगी.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 16 Sep 2021, 01:10:31 PM
Antony Blinken 1

तालिबान के वादे पर रत्ती भर भी यकीन नहीं है अमेरिका को. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • तालिबान के आतंक को पनपने नहीं देने के वादे से इत्तेफार रखता है अमेरिका
  • तालिबान से इसी कारण पूरी तरह से आंख नहीं बंद की है बाइडन प्रशासन ने
  • अफगानिस्तान में आतंकी संगठन अल-कायदा फिर से सिर उठाने की कोशिश में

वॉशिंगटन:

अमेरिकी खुफिया संस्था सीआईए (CIA) ने हाल ही में चेताया है कि अफगानिस्तान (Afghanistan) में अल-कायदा की सक्रियता फिर से देखी गई है. इस आलोक में विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन (Antony Blinken) ने दो टूक लहजे में चेतावनी दी है कि यदि अफगानिस्तान की जमीन से अल-कायदा (Al Qaeda) अमेरिका के लिए खतरा बनता है, तो इसकी सीधी तौर पर जिम्मेदारी तालिबान की ही होगी. हालांकि इसके साथ ही ब्लिंकन ने यह भी कहा है कि तालिबान (Taliban) ने अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल किसी भी देश के खिलाफ आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं होने देने का वादा किया है. इसके बावजूद अमेरिकी प्रशासन तालिबान के इस वादे से पूरी तरह से मुतमुईन नहीं है.

सीआईए ने दिए अल-कायदा को लेकर संकेत
एंटोनी ब्लिंकन का यह बयान बीबीसी की एक रिपोर्ट के बाद आया है. बीबीसी ने इस रिपोर्ट में सीआईए के उप-निदेशक डेविड कोहेन के हवाले से लिखा है कि अमेरिका ने अफगानिस्तान में अल-कायदा की गतिविधियां देखी हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि अल-कायदा तेजी से सक्रिय हो रहा है. हालांकि अभी यह शुरुआती संकेत हैं. इसके बावजूद अमेरिका इन गतिविधियों पर नजदीकी से निगाह रखे हुए है. इस रिपोर्ट के आधार पर ब्लिंकन ने कहा है कि आईएसआईएस-के और अल-कायदा के अफगानिस्तान में सक्रियता को देखते हुए अमेरिका जरूरत पड़ने पर किसी भी आतंकी खतरे का खात्मा करने के लिए तैयार है. 

यह भी पढ़ेंः धोखेबाजी पर उतारू चीन, देपसांग के पास बना रहा है आधुनिक सड़क

अमेरिका के खिलाफ ताकतें करेंगी अल-कायदा की मदद
एक राजनीतिक विश्लेषक नूरउल्लाह वलीजादा भी मानते हैं कि कुछ क्षेत्रीय खुफिया संस्थाओं और अमेरिका के शत्रु देशों की मदद से अल-कायदा अफगानिस्तान में फिर से खड़ा हो अपनी सक्रियता बढ़ा सकता है. यह परिस्थितियां अमेरिका के लिए गंभीर खतरे का वाहक होंगी. इसी तर्ज पर अंतरराष्ट्रीय मामलों के विश्लेषक हामिद ओबैदी भी मानते हैं कि अमेरिका स्वीकार कर चुका है कि उसकी नीतियां अफगानिस्तान में बुरी तरह से नाकाम रही हैं. ऐसे में अल-कायदा को उसके खिलाफ आतंक फैलाने का एक मौका मिल सकता है. गौरतलब है कि अमेरिका पर आतंकी हमले के बाद अमेरिका और नाटो सेना ने 2001 में अफगानिस्तान से अल-कायदा और तालिबान राज को खत्म कर दिया था. 

First Published : 16 Sep 2021, 12:24:10 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.