News Nation Logo

मध्यस्थता के लिए तैयार यूएन चीफ, कहा 'भारत-पाक संयम बरतें'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने भारत पाकिस्तान के बीच शांति स्थापित करने के लिए मध्यस्थता की पेशकश की है। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने मून से मुलाकात की थी।

News Nation Bureau | Edited By : Jeevan Prakash | Updated on: 01 Oct 2016, 09:28:38 AM

यूएन:

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने भारत पाकिस्तान के बीच शांति स्थापित करने के लिए मध्यस्थता की पेशकश की है। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने मून से मुलाकात की थी।

उनकी तरफ से जारी बयान में कहा गया है, 'महासचिव भारत-पाक के बीच जारी तनाव को लेकर चिंतित हैं। खासकर उस समय जब LoC पर सीजफायर का लगातार उल्लंघन हो रहा है।' बयान में कहा गया है कि महासचिव ने जोर दिया है कि दोनों पक्ष संयम बरतें और शांतिपूर्ण तरीके से अपने मतभेद सुलझाएं।

और पढ़ें: उरी हमले के बाद शरीफ के शतरंजी बिसात पर कैसे मोदी ने दी मात

आपको बता दें की सीजफायर तोड़ने की कोशिश कर रहे पाक आर्मी के 2 जवान भारतीय सेना की कार्रवाई में मारे गये थे। इस मुद्दे पर पाकिस्तानी दूत मलीहा लोधी ने न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र (यूएन) मुख्यालय में बान से भेंट की है। लोधी ने मून से कश्मीर को लेकर भारत के साथ बढ़ते तनाव को खत्म करने में मदद के लिए व्यक्तिगत रूप से हस्तक्षेप करने की अपील की है।

लोधी बान की मून से भेंट के बाद कहा, 'यह इस क्षेत्र के लिए खतरनाक पल है।' उन्होंने कहा, 'यदि हमें संकट टालना है तो उनके ठोस हस्तक्षेप का वक्त आ गया है क्योंकि हम संकट पैदा होते हुए देख सकते हैं।'

और पढ़ें: दिल्ली, मुंबई समेत बड़े शहर हाई अलर्ट पर

लोधी ने भारत पर ऐसी स्थति पैदा करने का आरोप लगाया जो क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा के लिए खतरनाक है। संयुक्त राष्ट्र ने भारत और पाकिस्तान को संयम बरतने की अपील की है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों LoC के पार जाकर भारतीय सेना ने आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की थी। जिसके बाद से बौखलाया पाक भारत पर तरह-तरह का आरोप लगा रहा है। भारत के सर्जिकल स्ट्राइक में 50 आतंकी मारे गए थे। हालांकि पाकिस्तान ने इसे झूठ बताया है।

First Published : 01 Oct 2016, 08:37:00 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.