News Nation Logo

चीन के चेंगदू में लॉकडाउन बढ़ा; करोड़ों लोग घरों में कैद, कोरोना टेस्टिंग जोरों पर

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 04 Sep 2022, 09:58:45 AM
Chengdu

चीन के चेंगदू समेत कई प्रांतों में रविवार से सामूहिक कोरोना टेस्टिंग. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • चीन में कोरोना संक्रमण को रोकने कई जिलों में कड़ा लॉकडाउन
  • रविवार से बड़े पैमाने पर कोरोना का सामूहिक परीक्षण अभियान
  • कड़ी कोविड जीरो टॉलरेंस नीति से अर्थव्यवस्था पर बुरा असर

चेंगदू:  

चीन ने पश्चिम के अपने बड़े महानगर चेंगदू में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कई जिलों में लॉकडाउन और बढ़ा दिया है. इसके साथ ही रविवार से सामूहिक स्तर पर कोरोना परीक्षण (Corona Testing) के आदेश जारी किए हैं. इस लॉकडाउन (Lockdown) से करोड़ों लोग अपने-अपने घरों में कैद हो गए हैं. चेंगदू के शिनजियांग जिले में भी लॉकडाउन बढ़ा रविवार से अगले तीन दिन तक सामूहिक कोरोना परीक्षण अभियान छेड़ा जा रहा है. अन्य जिलों में भी रविवार को तीसरे दौर का सामूहिक कोरोना टेस्ट अभियान चलेगा. कड़े लॉकडाउन की वजह से कोविड-19 (COVID-19) परीक्षण के बाद लोगों को सीधे अपने-अपने घर लौटना होगा. चेंगदू में गुरुवार को लगाए गए लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा कर शी जिनपिंग (Xi Jinping) सरकार ने भारी आर्थिक नुकसान के बावजूद कोविड जीरो टॉलरेंस नीति को लेकर प्रतिबद्धता फिर जाहिर की है.  चीन के बड़े शहरों में एक चेंगदू में शंघाई के बाद कड़ा लॉकडाउन लगाया गया है. इसके पहले शंघाई में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए एक जून को लॉकडाउन लगाया गया था, जो दो महीने तक चला. शंघाई की व्यावसायिक गतिविधियां इस कारण चरमरा गईं और अरबों डॉलर के नुकसान की आशंका जताई गई है. 

शंघाई लॉकडाउन हटने के बावजूद सामान्य नहीं हो पा रहा 
शी जिनपिंग की कड़ी कोविड जीरो टॉलरेंस नीति का गंभीर असर अर्थव्यवस्था पर पड़ा है. उदाहरण के लिए शंघाई में लॉकडाउन खत्म होने के बावजूद मनोरंजन समेत पर्यटन से जुड़ी गतिविधियां गति नहीं पकड़ पा रही हैं. आर्थिक विशेषज्ञों की मानें तो शंघाई को हांग कांग और सिंगापुर की तुलना में लॉकडाउन से उबरने के बाद सामान्य होने में कहीं ज्यादा समय लगेगा. शंघाई में जून में खुदरा बिक्री में पिछले साल की तुलना में 4.3 फीसदी की गिरावट आंकी गई. जुलाई में भी खुदरा बिक्री में महज 0.3 प्रतिशत का इजाफा हुआ. कोरोना संक्रमण फैलने के बाद मार्च के बाद के तीन महीनों में औसतन 35 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. चीन में शनिवार को कुल 1,673 कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आए. इनमें से 1,359 लक्षण रहित थे. चीन के समग्र प्रांतों की बात करें तो कोरोना संक्रमण के सर्वाधिक मामले तिब्बत में सामने आए हैं. सिचुआन में 186 नए मामले सामने आए हैं. 

यह भी पढ़ेंः पायलट ने वॉलमार्ट स्टोर में प्लेन को क्रैश करने की दी धमकी, देखें Video

रविवार से बड़े पैमाने पर सामूहिक कोरोना परीक्षण अभियान
टेक्नोलॉजी हब करार दिए गए शेनजेन में कोरोना के 89 नए मामले सामने आए. स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों की मानें तो आने वाले कुछ दिनों तक कोरोना संक्रमण के दैनिक मामलों में वृद्धि देखने में आएगी. हालांकि कड़े कोरोना नियमों की वजह से बीजिंग और शंघाई में महज एक-एक संक्रमण के मामले ही सामने आए. बीजिंग के उत्तर में स्थित तिआनजिन में शनिवार को 22 नए मामले सामने आने के बाद बाहर खाना खाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. रविवार से एक करोड़ 37 लाख की आबादी वाले तिआनजिन में सामूहिक स्तर पर कोरोना परीक्षण अभियान छेड़ा जा रहा है. सिचुआन प्रांत के अबा की 13 काउंटी में रविवार से कड़ा लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. स्थानीय अधिकारियों की मानें तो आने वाले चार दिनों तक कड़े प्रतिबंध लागू रहेंगे. चेंगदू में भी घर के एक सदस्य को ग्रॉसरी का सामान लाने की इजाजत दी गई है. उसे भी सामान लाने के बाद तुरंत पीसीआर टेस्ट कराना होगा. लोगों को शहर छोड़ने से रोक दिया गया है. इसके साथ ही बाहर से आने वालों को भी निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी, जिसके बाद ही उन्हें शहर में प्रवेश मिल सकेगा. 

First Published : 04 Sep 2022, 09:57:22 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.