News Nation Logo

कायला मुलर के नाम पर था बगदादी के खात्मे का अभियान, आतंकियों ने खेला था हैवानियत का खेल

आतंकियों ने कायला के साथ बहुत दरिंदगी की थी खुद आईएसआईएस सरगना अबू बक्र बगदादी ने कायला का जमकर यौन शोषण किया था.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 29 Oct 2019, 11:13:31 PM
कायला मुलर

नई दिल्ली:  

कहावत है कि कर भला तो हो भला इसी तरह से बुरा करने वाले का अंजाम भी बुरा ही होता है दुनिया भर में आतंक की जड़ें फैलाने वाले संगठन आईएस-आईएस के सरगना अबू बक्र बगदादी को अमेरिकी सेना ने सैन्य अभियान में मार गिराया. आतंक के सरगना बगदादी को मार गिराने वाले इस ऑपरेशन का नाम बड़ा खास है. अमेरिका ने आइएस सरगना अबू बकर अल-बगदादी (abu bakr al baghdadi) को मार गिराने के अपने अभियान को कायला मुलर (kayla mueller) का नाम दिया था. आपको बता दें कि कायला मुलर उन लड़कियों में से एक थीं जिसे आईएसआईएस ने अपने कब्जे में रखा था. आतंकियों ने कायला के साथ बहुत दरिंदगी की थी खुद आईएसआईएस सरगना अबू बक्र बगदादी ने कायला का जमकर यौन शोषण किया था. ऐसे में इस दरिंदे को मारने के लिए चलाए गए अभियान का नाम ही 'ऑपरेशन कायला' रखा जाना कायला के माता-पिता के लिए उनकी बेटी के बदले से कम नहीं था.

आइएस ने अपहरण के बाद कायला के साथ जमकर हैवानियत का खेल खेला और बाद में उसकी  हत्या कर दी थी. 26 साल की अमेरिकी मानवाधिकार कार्यकर्ता कायला को वर्ष 2013 में आइएस आतंकियों ने सीरिया के एक अस्पताल से अगवा कर लिया था. आपको बता दें कि कायला सीरि‍या में रहकर आतंकियों के हमलों से पीड़ितों की मदद कर रही थीं. वो सीरिया में वह गृहयुद्ध से प्रभावित लोगों की मदद कर रही थीं। कई महिला बंदियों की जान बचाने वाली कायला की 2015 में हत्या कर दी गई थी। उनका शव हालांकि कभी बरामद नहीं हुआ.

कायला के नाम से चला अमेरिकी सैन्य अभियान 
कायला के माता-पिता कार्ल मुलर और मार्श मुलर ने जब आईएस सरगना अबू बक्र अल बगदादी की मौत की खबर सुनी तो उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की तारीफ करते हुए कहा, 'अगर ट्रंप की तरह पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने निर्णय लिया होता तो मेरी बेटी आज जीवित होती.' उन्होंने अपनी बेटी के नाम पर अभियान चलाने के लिए अमेरिकी सैन्य बलों के प्रति आभार भी व्यक्त किया. ट्रंप ने बगदादी के मारे जाने की घोषणा करते समय कहा था, कायला लोगों की मदद करने वाली खूबसूरत युवा महिला थीं. कायला का अपहरण आईएसआईएस ने अगस्त 2017 में किया था, जब वो अलप्पो शहर में एक हॉस्पिटल में जा रही थीं। उस दौरान उनकी उम्र महज 26 साल थी। आतंकियों ने उसे अपने कैम्प में रखा जहां उन्हें बुरी तरह प्रताड़ित किया गया। खुद आईएसआईएस प्रमुख बगदादी ने कई बार उनका यौन शोषण किया.

यह भी पढ़ें-इन्फ्रास्ट्रक्चर में निवेश के लिए भारत में अपार संभावनाएं, सबको मिलेगा फायदा: PM मोदी

आतंकियों ने भेजा था कायला का वीडियो
जब कायला आतंकियों की कैद में थी तब आतंकियों ने यह दिखाने के लिए कायला का एक वीडियो शूट किया था कि कायला उनके चंगुल में अभी भी जिंदा है. आतंकियों ने यह वीडियो कायला के माता-पिता को भेजा गया था, ताकि उन्हें इस बात का विश्वास दिलाया जा सके कि उनकी बेटी अभी जिंदा है. कायला ने इस वीडियो में बताया था कि कि वो काफी कमजोर हो गई हैं और उन्हें अच्छा नहीं लग रहा है.

यह भी पढ़ें-जम्मू- कश्मीर: आतंकवादियों ने पांच गैर-कश्मीरी मजदूरों की हत्या, एक की हालत गंभीर

अब तक नहीं मिली कायला का शव 
आईएसआईएस आतंकियों ने फरवरी 2015 में इस बात की जानकारी दी थी कि कायला की मौत हो चुकी है. आतंकियों के मुताबिक, कायला की मौत हवाई हमले के दौरान हुई थी. यहां सबसे दुःख की बात ये रही कि कायला का शव भी हवाई हमले के बाद बरामद नहीं किया जा सका. बगदादी की मौत के बाद कायला के पिता ने मीडिया को बताया कि कैसे बगदादी ने कायला को टॉर्चर किया था? उसे एकांत में रखा जाता था और उसे प्रताड़ित किया जाता था. उसके साथ लगातार रेप किया गया और फरवरी 2015 में उसकी मौत हो गई. बगदादी की मौत के बाद अब कायला के माता-पिता को शान्ति मिली है.

First Published : 29 Oct 2019, 11:09:14 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.