News Nation Logo

दक्षिण अफ्रीका : हिंसा फैलाने वाले संदिग्धों के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति देगी सरकार

दक्षिण अफ्रीका : हिंसा फैलाने वाले संदिग्धों के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति देगी सरकार

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 18 Jul 2021, 02:40:02 PM
SAfrica to

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

जोहानसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका के न्याय और सुधार सेवा मंत्री रोनाल्ड लामोला ने 7 जुलाई से लूटपाट और सार्वजनिक हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ त्वरित सुनवाई के निर्देश जारी किए।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, निर्देश मांग करते हैं कि हाल ही में हुई सार्वजनिक हिंसा, सार्वजनिक अव्यवस्था और बड़े पैमाने पर लूट के मामलों में तेजी लाई जाए।

लमोला ने शनिवार को कहा कि ये निर्देश हमारी अदालतों और न्याय प्रणाली को हालिया अशांति और सार्वजनिक हिंसा से उत्पन्न मामलों से निपटने के लिए प्रभावी ढंग से और उचित प्रतिक्रिया देने में सक्षम है। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि इन मामलों के प्रसंस्करण में कुछ भी बाधित न हो और जनता को हमारी आपराधिक न्याय प्रणाली पर भरोसा और विश्वास हो सके।

निर्देश अन्य बातों के अलावा, ²श्य-श्रव्य लिंक के माध्यम से मामलों को स्थगित करने और प्रत्येक अदालत में एक प्राथमिकता रोल के संकलन के लिए प्रदान किए गए हैं जो अदालतों को प्राथमिकता वाले मामलों की सुनवाई को प्राथमिकता देने में सक्षम करेगा जिसमें लिंग आधारित हिंसा और यौन अपराध, भ्रष्टाचार, बच्चों से जुड़े मामले और कोविड -19 नियमों का उल्लंघन शामिल हैं।

लमोला ने कहा, यदि आवश्यक हो, तो अनुभवी सेवानिवृत्त मजिस्ट्रेटों और अभियोजकों के एक पूल सहित अतिरिक्त समर्पित कर्मचारियों को इन मामलों को तेजी से ट्रैक करने के लिए बुलाया जाएगा जहां सैकड़ों गिरफ्तारियां पहले ही प्रभावित हो चुकी हैं।

पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा की कैद को लेकर पिछले हफ्ते देश में हिंसक विरोध प्रदर्शन के सिलसिले में 2,500 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

मरने वालों की संख्या 212 हो गई है।

हिंसा के मद्देनजर, तैनात दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रीय रक्षा बल की संख्या बढ़कर 25,000 हो गई है।

तैनाती 12 अगस्त तक रहेगी।

कभी रंगभेद के खिलाफ लड़ाई के लिए जाने जाने वाले जूमा को अदालत के आदेशों की अवहेलना करने के लिए एस्टकोर्ट सुधार केंद्र में 15 महीने की कैद हुई है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 Jul 2021, 02:40:02 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.