News Nation Logo

यूक्रेन से वार्ता के लिए प्रतिनिधिमंडल भेजेगा रूस

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 25 Feb 2022, 02:56:12 PM
russia

कीव सड़कों पर रूसी टैंक (Photo Credit: ani)

नई दिल्ली:  

रूस की सेना पूरी आक्रमकता के साथ यूक्रेन पर हमला कर रही है. सेना ने देश के कई  अहम ठिकानों पर मिसाइल अटैक किया है. इन हमलों की जद में कई रिहायशी इलाके भी आए हैं. हालांकि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का कहना वह सिर्फ सैन्य ठिकानों पर ही हमला कर रहे हैं. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की का दावा है कि  यूक्रेन के चेर्नोबिल परमाणु संयंत्र (Chernobyl Nuclear Plant) पर रूस ने कब्जा कर लिया है. साल 1986 में इस परमाणु संयंत्र में रिसाव की वजह से भयानक हादसा हुआ था. अब यह परमाणु कचरे  का स्टोरेज सेंटर है. यहां पर टनों परमाणु ईंधन रखा है.

महाराष्ट्र सरकार की आधिकारिक जानकारी दी है कि 1200 लोग यूक्रेन में फंसे हैं. सिर्फ 300 से ही संपर्क हो पाया. जबकि लोगों से अपील की है कि लोग जिला स्तर पर बने कंट्रोल रुम पर संपर्क करें.

भारत में रूसी दूतावास ने बताया कि कीव-क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव के साथ बातचीत करने के लिए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन उच्चाधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल को मिन्स्क भेजने के लिए तैयार हैं. 

रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि यूक्रेन संघर्ष में अब तक 1,000 से अधिक रूसी सैनिक मारे गए. 

भारतीय दूतावास वारसॉ ने कहा कि सार्वजनिक वाहन द्वारा पोलैंड-यूक्रेन सीमा पर पहुंचने वाले भारतीय नागरिकों को सलाह दी जाती है कि वे शेहिनी-मेड्यका सीमा पार करें. 


रूस का ऑफर- यूक्रेन सरेंडर करे तो बातचीत के लिए तैयार

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव का कहना है कि यूक्रेन की सेना की लड़ाई बंद होने के बाद हम बातचीत के लिए तैयार हैं.


रूस द्वारा गुरुवार को यूक्रेन में हमला बोलने के बाद हर जगह तबाही का मंजर नजर आ रहा है. इस बीच अगर राजधानी कीव की बात करें तो जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कीव में रूस ने 33 बम धमाके किए हैं. यूक्रेन के राष्ट्रपति ने रूस को जवाब देने के लिए देश के नागरिकों से हथियार उठाने का आग्रह किया है. रूस का दावा है कि अभी तक उसने यूक्रेन के 118 सैन्य ठिकानों को नष्ट कर दिया है.

भारत और भूटान में यूरोपीय संघ के राजदूत ने कहा कि यूरोपीय संघ और उसके सदस्य देशों के मिशन के प्रमुख यूक्रेन के राजदूत के साथ एकजुटता से खड़े हैं. यूरोपीय संघ रूसी संघ के अकारण और अनुचित सैन्य हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता है. 

यूक्रेन की सेना के अनुसार, रूसी सेना उत्तर-पूर्व और पूर्व से कीव की ओर आ रही है. 


यूक्रेन में स्थित भारतीय दूतावास ने यूक्रेन में सभी भारतीय नागरिकों/छात्रों को परामर्श जारी किया है कि भारत सरकार रोमानिया और हंगरी से निकासी रास्ता स्थापित करने के लिए काम कर रही है.


यूक्रेन के 18 टैंक नष्ट किए: रूस 

रूस के रक्षा मंत्रालय का दावा है कि उसने यूक्रेन के 18 टैंक तबाह कर दिए हैं. इसके अलावा 7 रॉकेट सिस्टम खराब किए गए हैं और 41 मोटर व्हीकल को नष्ट किया गया है.

रूस का दावा, 243 यूक्रेन के सैनिकों ने आत्म समर्पण किया

रूस ने शुक्रवार को यूक्रेन की राजधानी कीव पर जोरदार हमला बोला. इस दौरान 243 यूक्रेन के सैनिकों ने रूस के सामने आत्म समर्पण किया. वहीं 1 मरीन ब्रिगेड ने भी सरेंडर किया. रूस का दावा है कि 118 मिलिट्री इन्फ्रा ध्वस्त किए. इनमें 11 मिलिट्री एयर फील्ड, 13 कमांड और कम्युनिकेशन सेंटर, 14 S 300 मिसाइल सिस्टम और 36 रडार स्टेशन शामिल है. इस दौरान 5 लड़ाकू विमान मार गिराए, एक हेलीकॉप्टर और 5 ड्रोन, 18 टैंक, 7 रॉकेट लॉन्चर, 41 मिलिट्री गाडियां और 5 कॉम्बैट बोट्स भी मार गिराए गए. 

रूसी सेना को कड़ी टक्कर दे रहा यूक्रेन, Melitopol शहर पर दोबारा कब्जा

संघर्ष के बीच यूक्रेन भले कमजोर दिखाई ​दे रहा है, लेकिन उसने अपनी हार नहीं  मानी है. कीव तक रूसी सेना पहुंचने की खबर के बीच एक नई जानकारी सामने आई है. ऐसा कहा जा रहा है कि Melitopol शहर पर यूक्रेन की सेना ने फिर से कब्जा कर लिया है. वहीं यूक्रेन ने जानकारी दी है कि चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र का इलाका अब उसके कंट्रोल में नहीं है.

96 घंटे में रूसी सेना कीव पर अपना कब्जा जमा लेगी: ज़ेलेंस्की 

बीते कई दिनों से यूक्रेन के साथ जारी गतिरोध के बीच रूस ने गुरुवार की सुबह हमला बोल दिया . रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) द्वारा सैन्य कार्रवाई का ऐलान होते ही यूक्रेन पर ताबड़तोड़ हमले हो रहे है. इस बीच यूक्रेन राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की का दावा है कि 96 घंटे में रूसी सेना कीव पर अपना कब्जा जमा लेगी. यूक्रेन  की सेना रूस के सैनिकों का डटकर मुकाबला कर रही है. मगर किसी अन्य देश की मदद न मिलने के कारण यूक्रेन कमजोर पड़ता जा रहा है. 

यूक्रेन का दावा: रूस के 800 सैनिक मार गिराए

रूस लगातार तेजी से यूक्रेन के शहरों में तबाही मचा रहा है। उसके सैन्य अड्डों और एयरपोर्ट को निशाना बना रहा है। वहीं दूसरी तरफ रूसी सेना को यूक्रेन सेना से कड़ी चुनौती मिल रही है. यूक्रेन का दावा है कि उसने रूस के 800 सैनिक,पांच विमान और छह हेलिकॉप्टर नष्ट कर दिए हैं। यूक्रेन का कहना है कि उसने आज रूस की सेना को कल से भी अधिक नुकसान पहुंचाया है. रिपोर्ट के अनुसार यूक्रेन की सेना ने दावा किया है कि उसने शुक्रवार को रूस के 30 टैंकों, 130 आर्मोर्ड वीइकल्स, 5 प्लेन और 6 हेलिकॉप्टर को नष्ट कर डाला. हालांकि रूसी सेना ने अभी इस तरह की कोई पुष्टि नहीं की है.  

यूक्रेन में 1 लाख लोग हुए विस्थापित

UNHCR के अनुमान के अनुसार, यूक्रेन में बिगड़ते हालात और रूसी बलों द्वारा मिसाइल हमलों की वजह से करीब 1 लाख यूक्रेनियन विस्थापित हुए हैं.

भारतीय दूतावास ने एडवाइजरी जारी की 

यूक्रेन संकट पर गुरुवार को विदेश मंत्रालय ने एक प्रेसवार्ता की. इसमें उन्होंने कहा कि सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता यूक्रेन में फंसे भारतीयों को वहां से  सुरक्षित लेकर आना है. भारतीय दूतावास ने एडवाइजरी भी जारी कर दी है, जिसमें पोलैंड और हंगरी के रास्ते भारतीयों को निकालने की बात कही है. MEA का कहना है कि पीएम मोदी ने राष्ट्रपति पुतिन से भारतीयों को सुरक्षित लाने पर जोर       दिया है. 

रूस पर लगाए नए प्रतिबंध

यूरोपीयन यूनियन ने रूस पर नए प्रतिबंधों की घो​षणा कर दी है. इसका असर बैंकिंग सेक्टर, राज्य के स्वामित्व वाली कंपनियां, ऑयल रिफाइनिंग इंडस्ट्री और प्रौद्योगिकी निर्यात पर 70 फीसदी तक पड़ेगा. रूस के डिप्लोमेट और बिजनेसमैन को अब ईयू वीजा नहीं मिलेगा.

यूक्रेन ने मार गिराए दो रूसी एयरक्राफ्ट

कीव में हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं. वहां तीन धमाके सुनाई दिए हैं. इसके साथ-साथ यूक्रेन ने दावा किया है कि उन्होंने दो रूसी एयरक्राफ्ट को मार गिराया है.

आम नागरिकों को 10 हजार असॉल्ट राइफल दीं

रूस से युद्ध को लेकर यूक्रेन की सेना ने आम नागरिकों को 10 हजार असॉल्ट राइफल दीं है. दरअसल रूस की सेनाएं लगातार यूक्रेन की राजधानी कीव की ओर बढ़ रही हैं. अब तक युद्ध में 137 यूक्रेन नागरिकों की मौत हो चुकी है. यूक्रेन सेना के जवान लगातार शहीद हो रहे हैं। ऐसे में सरकार ने आम नागरिकों को युद्ध में शामिल होने  का न्योता दिया है. यूक्रेन के राष्ट्रपति का कहना है कि वे अंत तक युद्ध लड़ने वाले हैं. वे कहीं नहीं भागेंगे.  

यूक्रेन संकट पर व्हाइट हाउस के बाहर विरोध प्रदर्शन

रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर पनपे संकट के बीच प्रदर्शनकारियों ने व्हाइट हाउस के बाहर कई घंटों तक विरोध प्रदर्शन किया. यहां पर स्थित लाफायेट स्क्वायर पार्क में सैकड़ों लोगों ने अमेरिका की जो बाइडन सरकार से यूक्रेन को संकट से बाहर निकालने में मदद की गुहार लगाई है. इस दौरान उन्होंने यूक्रेन के झंडे हाथ में लिए हुए थे. वे नारे लगा रहे थे कि युद्ध बंद करो, रूस पर प्रतिबंध लगाओ, यूक्रेन का बचाव हो. कई लोगों ने रोते हुए मीडिया से बातचीत में कहा कि उनके परिवार के सदस्य यूक्रेन में फंसे हुए हैं. उन्हें डर है कि परिवार को हमले के कारण समस्या का सामना न करना पड़े.  


रूसी हमले में 137 यूक्रेन के नागरिकों की मौत

गुरुवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन में सैन्य ऑपरेशन का ऐलान किया था, जिसके बाद रूसी सेना ने यूक्रेन पर ताबड़तोड़ हमले करने शुरू कर दिए. अभी तक इस हमले में 137 लोगों के मारे जाने की खबर है. यूक्रेन के राष्ट्रपति के अनुसार रूसी हमले में 137 यूक्रेन के नागरिकों की मौत हो गई है, जिसमे सैनिक और आम नागरिक दोनों शामिल हैं.


रूस से लड़ने के लिए हमे अकेला छोड़ा: वोलोदिमर जेलेंस्की

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमर जेलेंस्की ने रूस के हमले के बाद विश्वभर से मदद की गुहार लगाई थी. मगर अब तक उन्हें सिर्फ निराशा ही हाथ लगी है. उन्होंने सभी देशों के रवैये को लेकर निराशा व्यक्त की है. उन्होंने कहा कि रूस से लड़ने के लिए हमें अकेला छोड़ दिया गया है. अ​भी तक सभी यूरोपीय देशों ने रूस के खिलाफ पाबंदी लगाने की बात कही है, मगर किसी भी देश ने सैन्य मदद के लिए हाथ नहीं बढ़ाया है. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि हम रूस पर और पाबंदी लगाने की तैयारी कर रहे हैं.


First Published : 25 Feb 2022, 07:06:52 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.