News Nation Logo
Banner

मोदी (PM Narendra Modi) चाहते हैं पाकिस्तान (Pakistan) भीख का कटोरा लेकर खड़ा रहे : पाकिस्तानी मंत्री

शेख रशीद (Sheikh Rashid) ने कहा, "भारत (India) को पता है कि जंग हुई तो फिर एटमी जंग (Atomic War) होगी. मैं मोदी (PM Narendra Modi) के मकसद को भांप चुका हूं.

By : Sunil Mishra | Updated on: 23 Oct 2019, 07:08:51 AM
पाकिस्‍तान के मंत्री शेख राशिद

पाकिस्‍तान के मंत्री शेख राशिद (Photo Credit: फाइल फोटो)

रावलपिंडी:

पाकिस्तान के रेलवे मंत्री शेख रशीद अहमद ने कहा है कि सीमा पर खतरा बहुत बढ़ गया है और अघोषित जंग हो रही है. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, रशीद ने संवाददाताओं से कहा कि पाकिस्तान को सरहदों पर खतरनाक हद तक चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है और अघोषित जंग जारी है. उन्होंने कहा कि फौजें आमने-सामने खड़ी हैं. कलस्टर बम भी इस्तेमाल हो चुके हैं. शेख रशीद ने कहा, "भारत को पता है कि जंग हुई तो फिर एटमी जंग होगी. मैं मोदी (भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) के मकसद को भांप चुका हूं. वह चाहते हैं कि पाकिस्तान भीख का कटोरा लेकर खड़ा रहे और श्रीलंका और मालदीव बन जाए. मोदी पाकिस्तान का पानी बंद कर इसकी फसलों को उजाड़ने की धमकी दे रहे हैं."

यह भी पढ़ें : कांग्रेस के पांचवें बड़े चेहरे ने की मोदी सरकार की जमकर तारीफ, जानें कौन हैं वो

अपने विवादास्पद बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले शेख रशीद ने रणनीतिक स्तर पर परमाणु हथियारों के इस्तेमाल के संदर्भ में पाकिस्तान के पास 'पाव-आधा किलो जितने छोटे एटम बम' होने की बात कहकर अपनी जगहंसाई कराई थी. अब उन्होंने इसे फिर दोहराते हुए कहा, "मैं कोई पागल नहीं कि बता चुका हूं कि हमारे पास पाव-आधा किलो के भी बम हैं. कोई गलतफहमी में न रहे. वे जैसा मिर्च मसाला इस्तेमाल करेंगे, वैसा ही हम भी करेंगे."

इमरान सरकार को सत्ता से हटाने के लिए मार्च व धरने का ऐलान कर चुके जमीयत उलेमा ए इस्लामी के नेता मौलाना फजलुर रहमान के संदर्भ में पाकिस्तानी मंत्री ने कहा कि खतरा बाहर से नहीं अपने लोगों से है. उन्होंने कहा, "मौलाना फजल के गुब्बारे में हवा कुछ ज्यादा ही भर गई है. अब इनके गुब्बारे से हवा निकलने ही वाली है."

यह भी पढ़ें : पी.चिदंबरम को मिली जमानत, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने किया ट्वीट, हो गए ट्रोल

शेख रशीद ने कहा कि उन्होंने मौलाना फजल को समझाया है कि 'यह वक्त' ऐसे मार्च व धरने के लिए ठीक नहीं है. मौलाना को इससे बचना चाहिए. अगर वह नहीं माने तो फिर कानून अपना काम करेगा.

First Published : 23 Oct 2019, 07:08:51 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×