News Nation Logo
Banner

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ( PM Imran Khan ) ने फिर गाया कश्मीर का गीत, कही ये बात

प्रधानमंत्री इमरान (PM Imran Khan) ने कहा है कि  इस्लामाबाद कश्मीर के लोगों को यह फैसला लेने देगा कि वे पाकिस्तान के साथ आना चाहते हैं या स्वतंत्र राष्ट्र बनना चाहते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Rajneesh Pandey | Updated on: 24 Jul 2021, 12:35:33 PM
PAK PM IMRAN KHAN ON POK

PAK PM IMRAN KHAN ON POK (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • मरयम नवाज ने दिया POK को पाकिस्तान में शामिल होने का बयान
  • पीएम इमरान ने इस बयान को किया खारिज
  • कहा- कश्मीर के लोग स्वतंत्र राष्ट्र बनाने को स्वतंत्र

नई दिल्ली:

कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ( PM Imran Khan ) ने एक बार फिर से नये गीत गाने शुरू कर दिए हैं. हालांकि भारत ने पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर कई बार करारा जवाब दिया है और यह साफ किया है कि कश्मीर हमेशा से भारत का अभिन्न अंग रहा है और रहेगा, लेकिन फिर भी प्रधानमंत्री इमरान ने कहा है कि इस्लामाबाद कश्मीर के लोगों को यह फैसला लेने देगा कि वे पाकिस्तान के साथ आना चाहते हैं या स्वतंत्र राष्ट्र बनना चाहते हैं. सूत्रों के अनुसार, इमरान खान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के तरार खल में रैली करने पहुंचे थे. यहां 25 जुलाई को चुनाव है. इस दौरान इमरान खान ने एक प्रमुख विपक्षी नेता के उन दावों को भी खारिज कर दिया कि उनकी सरकार कश्मीर को पाकिस्तान का प्रांत बनाने की योजना पर काम कर रही है.

यह भी पढ़ें : अमेरिका और रूस अगले हफ्ते करेंगे आर्म्स कंट्रोल पर वार्ता

पीएमएलएन की मरयम नवाज ने दिया था ये बयान

इमरान खान का यह जवाब पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) की नेता मरयम नवाज के बयान के बाद आया. मरयम ने 18 जुलाई को पीओके की रैली में कहा था कि कश्मीर की स्थिति को बदलने और इसे पाकिस्तान का एक प्रांत बनाने पर फैसला हो चुका है. 

कश्मीर के लोगों को उनका भविष्य तय करने की मिलेगी आजादी- इमरान खान

वहीं, मरयम नवाज के इस विवादित बयान को खारिज करते हुए इमरान खान ने कहा, मुझे नहीं पता कि यह सब बातें कहां से निकल कर सामने आई हैं. पाकिस्तानी पीएम खान ने कहा, एक दिन आएगा जब कश्मीरियों को संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के मुताबिक अपना भविष्य तय करने की आजादी दी जाएगी. उन्होंने कहा, मुझे विश्वास है कि उस दिन कश्मीर के लोग पाकिस्तान में शामिल होने का फैसला करेंगे. 

इमरान ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के जनमत संग्रह के बाद, उनकी सरकार दूसरा जनमत संग्रह कराएगी. इसमें कश्मीर के लोग यह तय कर सकेंगे कि उन्हें पाकिस्तान के साथ रहना है या अलग राष्ट्र बनना है.

पाकिस्तान की कश्मीर को लेकर ये है नीति

पीओके का मुद्दा अभी यूएन में चल रहा है. यूएन के प्रस्ताव के अनुसार, यह मुद्दा जनमत संग्रह के माध्यम से हल होना है. इसमें कश्मीर के लोगों को पाकिस्तान और भारत में किसी एक को चुनने का अधिकार होगा. लेकिन कहीं न कहीं इमरान को पीओके के भारत में शामिल होने का डर सता रहा है. इसलिए अब इमरान ने इस नीति के उलट वहां का जनता के लिए एक तीसरा विकल्प रख दिया है. जबकि यूएन के प्रस्ताव में स्वतंत्र राष्ट्र का कोई विकल्प है ही नहीं.

जम्मू कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है

उधर, भारत जम्मू कश्मीर पर अपनी विचार व स्थिति पहले ही साफ कर चुका है. भारत पहले ही कह चुका है कि जम्मू कश्मीर भारत का आंतरिक और अभिन्न अंग है. भारत पाकिस्तान को यह भी साफ कर चुका है कि जम्मू कश्मीर से जुड़ा कोई भी मुद्दा भारत का आंतरिक मामला है और इसे भारत खुद हल कर सकता है.

First Published : 24 Jul 2021, 12:32:44 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.