News Nation Logo
Banner

पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट का आदेश, तोड़े गए मंदिर को बनाए सरकार

पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने में मंदिर तोड़ने की घटना में मंगलवार को आदेश दिया है कि वह दो सप्ताह में मंदिर का पुनर्निर्माण शुरू करे. चीफ जस्टिस ने कहा है कि मंदिर निर्माण में जो भी खर्च हो, उसकी वसूली हिंसा करने वाले लोगों से ही की जाए.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 06 Jan 2021, 05:58:27 PM
Pakistani Supreme Court on Hindu Temple

पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट का आदेश, तोड़े गए मंदिर को बनाए सरकार (Photo Credit: @socialmedia)

इस्लामाबाद:

पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने में मंदिर तोड़ने की घटना में मंगलवार को आदेश दिया है कि वह दो सप्ताह में मंदिर का पुनर्निर्माण शुरू करे. चीफ जस्टिस ने कहा है कि मंदिर निर्माण में जो भी खर्च हो, उसकी वसूली हिंसा करने वाले लोगों से ही की जाए. दरअसल, मंदिर तोड़े जाने की घटना का वीडियो वायरल हुआ था. वीडियो में साफ दिखी दे रहा है कि हिंसक भीड़ ने मंदिर की छत और दीवारें तक तोड़ दी थीं.

यह भी पढ़ें :Corona Vaccination : 13 जनवरी से शुरू होगा अभियान, सबसे पहले कोरोना वॉरियर्स को लगेगा टीका

हिंदू अल्पसंख्यकों के पूजाघर में हुई इस भयानक वारदात की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आलोचना हुई. वहीं, इस घटना में अंतरराष्ट्रीय दबाव की वजह से कार्रवाई शुरू हो सकी. दरअसल, बीते 30 दिसंबर को सैकड़ों कंट्टरपंथियों ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के करक जिले में मंदिर में तोड़फोड़ करते हुए आग लगा दी थी.

यह भी पढ़ें : 8 फरवरी तक स्वीकार नहीं किए बदलाव तो बंद हो जाएगा Whatsapp अकाउंट

इन लोगों ने मंदिर को नुकसान पहुंचाने के साथ ही परिसर में बनी संत की समाधि का अपमान किया था. टेरी गांव में तो हिंदुओं की संख्या बहुत कम है, लेकिन आसपास के गांवों के हिंदू बड़ी संख्या में इस प्राचीन मंदिर में आते थे. पाकिस्तान में लगभग 75 लाख हिंदू रहते हैं, अनाधिकारिक रूप से इनकी संख्या 90 लाख है.

First Published : 06 Jan 2021, 05:55:12 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.