News Nation Logo
Banner
Banner

हद है अब भारत को बदनाम कर चावल बेचना चाह रहा पाकिस्तान

30 सितंबर से पाकिस्तानी अकाउंट्स ने भारतीय खाद्य उत्पादों का बहिष्कार कर भारत को बदनाम करने का एक और अभियान शुरू कर दिया.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 03 Oct 2021, 02:59:30 PM
Basmati

हारी लड़ाई को अब फर्जी तरीके से लड़ रहा है पाकिस्तान. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • पाकिस्तान लड़ रहा है हारी हुई लड़ाई
  • बासमती चावल पर फैला रहा है भ्रम

इस्लामाबाद:

पाकिस्तान बासमती के श्रेय को लेकर एक हारी हुई लड़ाई लड़ रहा है. यूरोपीय संघ ने हाल ही में पाकिस्तानी चावल की एक खेप को खारिज कर दिया था, इसलिए जो वह खुले बाजार में नहीं बेच सकता था, वह सोशल मीडिया के माध्यम से बेच सकता है और इसके लिए 5वीं जेन वारफेयर कौशल के लिए धन्यवाद कहा जा सकता है. डिसइंफोलैब ने एक रिपोर्ट में कहा कि इस अभियान का फायदा उठाकर 30 सितंबर से पाकिस्तानी अकाउंट्स ने भारतीय खाद्य उत्पादों का बहिष्कार कर भारत को बदनाम करने का एक और अभियान शुरू कर दिया. इसमें कहा गया है कि व्यवसाय का बहिष्कार एक आर्थिक पहलू के साथ जुड़ा हुआ है.

इस अभियान के विश्लेषण ने पाकिस्तान की ट्रोल फैक्ट्रियों के यांत्रिकी के बारे में दिलचस्प जानकारी दी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि वे भारत विरोधी एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं, कुछ दिनों के बाद चावल बेचने के अवसर का एहसास करने के बाद, उन्होंने इस अभियान की शुरूआत की. ये अकाउंट डिजिटल पाकिस्तान के विभिन्न ट्रोल समूहों का हिस्सा हैं. रिपोर्ट के अनुसार इन अकाउंट्स के विश्लेषण से, हम देखते हैं कि वे खुद को पाक सेना, आईएसआई, आईएसपीआर आदि से जोड़ते हैं. अभी तक यह पुष्टि नहीं हुई है कि प्रचारित किए जा रहे चावल के ब्रांड पाक फौज के हैं, या उनसे स्वतंत्र हैं.

यह भी पढ़ेंः कंगाल पाकिस्‍तान आईएमएफ के दरवाजे पर 6 अरब डॉलर की मांग रहा भीख

ये अकाउंट अपने ट्वीट में उसी टेम्पलेट का उपयोग करते हुए ट्रोल समूहों के उसी समूह को भी टैग करते हैं, जिसका वे हिस्सा हैं, ताकि इन समूहों के अन्य सदस्य इन ट्वीट्स को आगे बढ़ा सकें. कई ट्रोल समूह सोशल मीडिया पर भारत के बदनाम करने के साथ ही पाकिस्तान के चावल को आगे बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं.

First Published : 03 Oct 2021, 02:59:30 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो