News Nation Logo

पाकिस्तान ने बर्बरता पर फिर बोला झूठ, कहा उकसावे की हरकतों से बाज आए भारत

जम्मू-कश्मीर के कृष्णा घाटी सेक्टर में भारतीय जवानों के शवों के साथ बर्बरता पर पाकिस्तान ने कहा कि यह उकसाने वाला है और इससे क्षेत्रीय माहौल खराब होगा।

News Nation Bureau | Edited By : Jeevan Prakash | Updated on: 04 May 2017, 07:31:39 PM
पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकरिया (फाइल फोटो)

highlights

  • पाक आर्मी की बर्रबरता पर भारत के दावे पर नफीस जकरिया ने कहा, इससे क्षेत्रीय माहौल खराब होगा
  • सेना की बर्बरता पर पाकिस्तान ने कहा कि भारत का बयान उकसाने वाला है
  • भारत ने बुधवार को पाकिस्तान को 'कार्रवाई योग्य साक्ष्य' सौंपे थे

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के कृष्णा घाटी सेक्टर में भारतीय जवानों के शवों के साथ बर्बरता पर पाकिस्तान लगातार झूठ बोल रहा है। साथ ही भारत के दावे पर पाकिस्तान ने कहा कि यह उकसाने वाला है और इससे क्षेत्रीय माहौल खराब होगा।

पाकिस्तान ने जवानों के सिर काटने की घटना पर भारत के बयानों को 'उकसाने वाला' करार दिया है। पाक ने भारत को नसीहत देते हुए कहा कि इससे क्षेत्रीय माहौल खराब होगा।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकरिया ने कहा, 'हमने स्पष्ट कर दिया है कि भारतीय सैनिकों के शवों को किसी प्रकार से विकृत करने की कोई घटना नहीं हुई है।'

रक्षा मंत्री अरुण जेटली और विदेश मंत्रालय के बयान पर जकरिया ने कहा, ''भारत की ओर से 'उकसाने वाले बयानों' से क्षेत्रीय माहौल और खराब होगा।''

रेडियो पाकिस्तान से बातचीत करते हुए जकारिया ने कहा कि भारत कश्मीर में किए जा रहे अत्याचार से ध्यान हटाने के लिए अक्सर 'पाकिस्तान कार्ड' खेलता रहा है।

आपको बता दें की बुधवार को भारत ने पाकिस्तान सेना द्वारा दो शहीद भारतीय जवानों के शवों के साथ बर्बरता की घटना के 'कार्रवाई योग्य साक्ष्य' पाकिस्तान को सौंपे थे।

और पढ़ें: सेना प्रमुख ने पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई के दिए संकेत, कहा बताकर कार्रवाई नहीं करती आर्मी

भारत ने कहा कि घटनास्थल से इकट्ठा किए गए शहीदों के खून के नमूनों और खून के निशान से स्पष्ट होता है कि अपराध को अंजाम देने के बाद पाकिस्तानी सैनिक नियंत्रण रेखा से वापस पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की तरफ लौट गए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा, 'घटनास्थल राजा नाला से इकट्ठा किए गए खून के नमूनों तथा खून के निशान से साफ पता चलता है कि हमलावर कृत्य को अंजाम देकर नियंत्रण रेखा पार कर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर लौट गए थे, जहां से वे आए थे।'

वहीं रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने कहा, 'मेरे खयाल से उनका इनकार विश्वसनीय नहीं है, क्योंकि परिस्थितियां और पूरा घटनाक्रम स्पष्ट संकेत करता है पाकिस्तानी सेना की सक्रिय भागीदारी की बदौलत हमारे दो जवानों की पहले हत्या की गई और फिर उनके शवों को क्षत-विक्षत किया गया।' जिसे पाकिस्तान ने खारिज कर दिया है।

और पढ़ें: पाकिस्तान सेना पर भड़के रामदेव, कहा हर शहीद के बदले में काट डालना चाहिए 100 पाकिस्तानियों का सिर

जम्मू एवं कश्मीर के पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर सोमवार को पाकिस्तानी सैनिकों के हमले में सेना के नायब सूबेदार परमजीत सिंह तथा सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के हेड कांस्टेबल प्रेम सागर शहीद हो गए थे, जिसके बाद उनके शवों के साथ बर्बरता की गई थी।

भारत ने कहा है कि नियंत्रण रेखा के नजदीक घटी इस घटना के पीछे पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बीएटी) का हाथ है।

आईपीएल 10 से जुड़ी हर बड़ी खबर के लिए यहां क्लिक करें

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 04 May 2017, 06:51:00 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Pakistan India