News Nation Logo

पाकिस्‍तान ने प्रतिबंध तो लगा दिया पर भारतीय सामानों की बिक्री को रोक नहीं पा रहा, जानें कैसे

तनाव के बीच भारतीय सामानों (Indian Goods) को अपने यहां आने से रोकना पाकिस्तान (Pakistan) पर भारी पड़ रहा है. भारतीय सामानों की मांग को पूरा करने के लिए अब गैरकानूनी तौर तरीके अपनाए जा रहे हैं.

By : Sunil Mishra | Updated on: 14 Dec 2019, 08:13:35 AM
प्रतिबंध तो लगा दिया पर भारतीय सामानों की बिक्री रोक नहीं पा रहा पाक

प्रतिबंध तो लगा दिया पर भारतीय सामानों की बिक्री रोक नहीं पा रहा पाक (Photo Credit: File Photo)

इस्लामाबाद:

तनाव के बीच भारतीय सामानों (Indian Goods) को अपने यहां आने से रोकना पाकिस्तान (Pakistan) पर भारी पड़ रहा है. भारतीय सामानों की मांग को पूरा करने के लिए अब गैरकानूनी तौर तरीके अपनाए जा रहे हैं और इनके जरिए सामान पाकिस्तान पहुंचाए जा रहे हैं. 'जंग' की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय वस्तुओं को अन्य देशों के बंदरगाहों से पाकिस्तान भेजे जाने का खुलासा हुआ है. भारतीय सामानों की पैकिंग बदलकर इन्हें पाकिस्तान पहुंचाया जा रहा है. और, यह उस स्थिति में हो रहा है जब पाकिस्तान सरकार ने भारतीय सामानों पर रोक लगाई हुई है.

यह भी पढ़ें : निर्भया कांड : दोषियों को फंदे पर लटकाने के लिए तिहाड़ जेल में 'फांसी-घर' तैयार, मुजरिमों पर पाबंदियां बढ़ीं!

अखबार ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि संघीय राजस्व ब्यूरो के चेयरमैन शब्बर जैदी ने बातचीत में इसे स्वीकार किया कि भारतीय सामान लेबल बदलकर पाकिस्तान लाए जा रहे हैं और इसके लिए दूसरे देशों के बंदरगाहों को इस्तेमाल किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इस तरह के कई मामले पकड़े गए हैं. उन्होंने कहा कि भारतीय सामान को चोरी-छिपे देश लाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

रिश्तों में तनाव के बाद भारत ने पाकिस्तान को दिया गया तरजीही राष्ट्र (एमएफएन) का दर्जा वापस ले लिया था. पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के कई सामानों पर शुल्क बेहद बढ़ा दिया था. इससे व्यापार पर असर पड़ा था. इसके बाद, पांच अगस्त को भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर को दिए गए विशेष दर्जे को वापस लेने के बाद पाकिस्तान ने भारत से व्यापार को रोकने का ऐलान किया था. इससे भारत पर कोई असर नहीं पड़ा लेकिन चरमराई अर्थव्यवस्था के शिकार पाकिस्तान में स्थिति यह हुई कि वहां अब भारतीय सामान चोरी-छिपे पहुंच रहा है.

यह भी पढ़ें : जेएनयू आंदोलन के बीच हटाए गए शिक्षा सचिव, कई अन्‍य नौकरशाहों का भी तबादला

इस बीच, एक अन्य घटनाक्रम में पाकिस्तान में कैबिनेट की आर्थिक समिति ने पाकिस्तानी सेना की सिफारिश पर करतारपुर आर्थिक गलियारे की सुरक्षा के लिए पाकिस्तानी अर्ध सैनिक बल रेंजर्स की एक यूनिट के लिए 30 करोड़ पाकिस्तानी रुपये की तात्कालिक राशि मंजूर की है.

First Published : 14 Dec 2019, 08:13:35 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.