News Nation Logo
Banner

हद है पाकिस्तान... पहले जताई कोरोना संवेदना, फिर J&K पर कर दी तोतारटंत

पाकिस्तान के भारत के साथ कश्मीर, सियाचिन, सर क्रीक, जल संबंधी जैसे कई मुद्दे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 28 Apr 2021, 09:59:22 AM
Shah Mehmood Qureshi

अपनी दोगलेबाजी से बाज नहीं आने वाला पाकिस्तान और उसके हुक्मरान. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • पाकिस्तान हुक्मरानों की रीति-नीति में नहीं आ रहा बदलाव
  • शाह महमूद कुरैशी ने फिर जम्मू-कश्मीर का आलापा राग
  • इसके पहले कोरोना वायरस संक्रमण पर जताई थी चिंता

इस्लामाबाद:  

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mehmood Qureshi) ने कहा है कि अगर भारत जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के विशेष दर्जे को हटाने के अपने फैसले समेत लंबित मुद्दों पर पुनर्विचार करे तो पाकिस्तान (Pakistan) को भारत के साथ वार्ता करने और पहले से चले आ रहे मुद्दों को सुलझाने में कहीं अधिक खुशी होगी. भारत द्वारा अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किये जाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा के बाद भारत-पाक संबंधों में गिरावट आयी थी. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के भारत के साथ कश्मीर, सियाचिन, सर क्रीक, जल संबंधी जैसे कई मुद्दे हैं. 

आगे बढ़ने के लिए वार्ता पर जताया विश्वास
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के भारत के साथ कश्मीर, सियाचिन, सर क्रीक, जल संबंधी कुछ अन्य मुद्दे हैं और आगे बढ़ने के लिए वार्ता ही एकमात्र रास्ता है. कुरैशी ने तुर्की के अनाडोलू समाचार एजेंसी को साक्षात्कार दिया और डॉन अखबार ने इसे सोमवार को प्रकाशित किया. दो दिवसीय दौरे पर तुर्की आए कुरैशी ने कहा, 'हम युद्ध का बोझ नहीं सहन कर सकते. आपको पता है कि यह दोनों (देशों) को नुकसानदेह होगा. कोई भी संवेदनशील व्यक्ति ऐसी नीति की वकालत नहीं करेगा. इसलिए हमें बैठकर बातचीत करने की जरूरत है.'  भारत ने पाकिस्तान से कहा है कि वह इस्लामाबाद के साथ सामान्य संबंध बनाना चाहता है लेकिन उसे आतंक, अस्थिरता और हिंसा मुक्त माहौल बनाना होगा. भारत ने कहा है कि आतंक और अस्थिरता मुक्त माहौल बनाने की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है. कुरैशी ने कहा कि दोनों देशों के बीच संघर्ष विराम पर हालिया प्रतिबद्धता एक सकारात्मक कदम है.

यह भी पढ़ेंः  कोरोना से मुकाबले में दुनियाभर से भारत को मिल रही मदद, जानें किसने क्या दिया

कोरोना पर दिया था समर्थन
इसके पहले विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारत में कोविड-19 के मामलों में तीव्र वृद्धि के मद्देनजर भारतीयों के प्रति शनिवार को समर्थन व्यक्त कर प्रभावित परिवारों के प्रति अपनी सहानुभूति प्रकट की थी. कुरैशी ने कहा कि कोविड-19 संकट यह याद दिलाता है कि मानवीय मुद्दों पर राजनीति से ऊपर उठकर कदम उठाने की जरूरत है. उन्होंने कहा, 'कोविड-19 संक्रमण, जिसने हमारे क्षेत्र में कहर बरपाया है, की मौजूदा लहर के आलोक में हम भारत के लोगों के प्रति समर्थन व्यक्त करते हैं। पाकिस्तान के लोगों की ओर से, मैं भारत में प्रभावित परिवारों के प्रति हार्दिक सहानुभूति प्रकट करता हूं.' उन्होंने कहा कि पाकिस्तान इस महामारी से निपटने के वास्ते सहयोग के लिए दक्षेस देशों के साथ मिलकर काम कर रहा है.

First Published : 28 Apr 2021, 09:55:11 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.