News Nation Logo
Banner

पाकिस्तान में 'हाय-हाय मोदी' का भाव, पाक मंत्री ने महंगाई का ठीकरा भारत पर फोड़ा

पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई खासकर प्याज की बेतहाशा कीमतों के लिए आर्थिक मामलों के मंत्री हमाद अजहर ने भारत की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 04 Dec 2019, 05:40:26 PM
प्रधानमंत्री के सलाहकार हफीज शेख, मंत्री हम्मद अजहर और शब्बार जैदी.

प्रधानमंत्री के सलाहकार हफीज शेख, मंत्री हम्मद अजहर और शब्बार जैदी. (Photo Credit: एजेंसी)

highlights

  • पाकिस्तान के आर्थिक मामलों के मंत्री ने महंगाई के लिए भारत को जिम्मेदार बताया.
  • पुलवामा हमले के बाद भारत ने व्यापारिक समझौते को डाल दिया था ठंडे बस्ते में.
  • कई इलाकों में प्याज पहुंचा 400 रुपए प्रति किलोग्राम पार.

New Delhi:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के लिए हुए चुनावी प्रचार के दौरान एक नारा खूब गूंजा था 'हर-हर मोदी घर-घर मोदी'. थोड़ा सा बदले अंदाज में अब यही नारा पाकिस्तान में गूंज रहा है. क्या पाकिस्तान के मंत्री और पाकिस्तान की आवाम एक ही नारा लगा रही है 'हाय-हाय मोदी'. इसे ऐसे समझा जा सकता है कि पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई खासकर प्याज की बेतहाशा कीमतों के लिए आर्थिक मामलों के मंत्री हमाद अजहर ने भारत की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. हालांकि भारत के अलावा मंत्री महोदय ने बिचौलियों पर लगाम कसने में नाकामी और मौसम की मार को भी कुछ हद तक जिम्मेदार ठहराया है.

यह भी पढ़ेंः मोदी सरकार ने नहीं पी चिदंबरम ने बदले की भावना से काम किया थाः नितिन गडकरी

आर्थिक रिश्तों में आई गिरावट जिम्मेदार
मंत्रिमंडल की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रधानमंत्री के सलाहकार डॉ अब्दुल हफीज शेख, रेवेन्यू मिनिस्टर हम्मद अजहर ने कहा कि भारत से व्यापारिक समझौता रद्द होने के बाद पाकिस्तान में व्यापार ठप्प हुआ और महंगाई आसमान छूने लगी. खासकर प्याज के दाम तो कई इलाकों में 400 रुपए किलो तक पहुंच चुके हैं. हालांकि इन्होंने अगले साल फरवरी तक महंगाई पर काबू पाने के साथ-साथ पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को पटरी पर ले आने का दावा भी किया है.

यह भी पढ़ेंः चिन्मयानंद केस : पीड़ित छात्रा को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दी जमानत

जनवरी-फरवरी से महंगाई कम होने का दावा
गौरतलब है कि पाक अर्थव्यवस्था इस वक्त विदेशी कर्ज के बोझ से दबी है और महंगाई भी लोगों को परेशान कर रही है. प्रधानमंत्री इमरान खान की आर्थिक मामलों की टीम के वरिष्ठ सदस्य ताजा आर्थिक हालात के बारे में मीडिया को संबोधित कर रहे थे. डॉन अखबार की एक खबर के मुताबिक अजहर ने खाद्य पदार्धों के दाम बढ़ने का ठीकरा भारत के साथ-साथ मौसमी कारणों और बिचौलियों को भी जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि केंद्र सस्ता बाजार लगाने के लिए प्रांतीय सरकार के साथ इस मामले पर विचार कर रहा है. महंगाई से बेहाल देशवासियों को आश्वासन देते हुए उन्होंने कहा कि जनवरी-फरवरी से महंगाई कम होना शुरू होगी.

यह भी पढ़ेंः फारुक-उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती की रिहाई की तारीख नहीं बताएगी सरकार

400 रुपये किलो टमाटर
यह टिप्पणियां तब आई हैं जब टमाटर के दाम 400 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गए हैं जिससे लोग परेशान हैं. पाकिस्तान ने पांच अगस्त को भारत द्वारा जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा हटाए जाने के बाद उसके साथ कूटनीतिक संबंध कम कर दिए और व्यापार निलंबित कर दिया था. अक्टूबर में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान में अगले 12 महीनों में महंगाई दर 13% रहने का अनुमान है. वित्त वर्ष 2019 के लिए यह अनुमान 7.3 फीसदी है, जबकि 2018 में महंगाई 3.9 दर फीसदी थी.

First Published : 04 Dec 2019, 05:40:26 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.