News Nation Logo
Banner

कश्‍मीर पर पाकिस्‍तान के ढपोरशंख की बलूचों ने हवा निकाली, ब्रिटेन में बुलंद की आवाज

ब्रिटेन के 10 डाउन स्‍ट्रीट में शुक्रवार को बलूचिस्‍तान के लोग ब्रिटिश प्रधानमंत्री आवास के सामने कुछ लोग जमा हुए और उन्होंने बलोच के राजनीतिक और आम जनता की पाकिस्तानी सेना की कैद से रिहाई की मांग करते हुए प्रदर्शन किया.

By : Vikas Kumar | Updated on: 31 Aug 2019, 10:39:28 AM

highlights

  • बलूचिस्तान में हजारों राजनीतिक और आम लोगों की रिहाई के लिए ब्रिटेन में प्रदर्शन.
  • बलोच एक्टिविस्टो नें ब्रिटेन के पीएम के घर के बाहर किया प्रदर्शन. 
  • पाकिस्तानी सेेना ने हजारों बलोच एक्टिविस्टों को जेल में बंद कर रखा है.

नई दिल्ली:

Britain में पाकिस्तान के द्वारा पकड़े गए बलोच लोगों की रिहाई के लिए प्रदर्शन हो रहे हैं. ब्रिटेन के 10 डाउनिंग स्‍ट्रीट में शुक्रवार को बलूचिस्‍तान के लोग ब्रिटिश प्रधानमंत्री आवास के सामने कुछ लोग जमा हुए और उन्होंने बलोच के राजनीतिक और आम जनता की पाकिस्तानी सेना की कैद से रिहाई की मांग करते हुए प्रदर्शन किया. बता दें कि बलूचिस्‍तान के लोग दशकों से खुद को पाकिस्‍तान के चंगुल से आजाद किए जाने की मांग कर रहे हैं.

पाकिस्‍तानी सेना ने बलूचिस्‍तान के लोगों के जीवन को नारक से भी बदतर बना दिया है. पाकिस्‍तान से बलूचिस्तान की आजादी की मांग करने वाले हजारों राजनीति कार्यकर्ताओं को बंदी बना लिया गया है. पाकिस्‍तानी आर्मी से बचकर विदेशों में शरण लेने वाले हजारों बलूचिस्‍तानी लोग आए दिन पाकिस्‍तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते रहते हैं.

यह भी पढ़ें: भारत ने पाकिस्‍तान को घुटने पर खड़ा किया, धर्मांतरण की गई लड़की परिवार के पास पहुंची

इस बार इन बलोच एक्टिविस्टों ने ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन के घर के सामने पाकिस्‍तानी जेलों में कैद हजारों राजनीति कार्यकर्ताओं की रिहाई की आवाज उठा रहे हैं.

पिछले महीने तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के यहां एक सभागार में भाषण के दौरान युवा बलूचों के एक समूह ने पाकिस्तान के खिलाफ औऱ आजाद बलूचिस्तान की मांग करते हुए नारेबाजी की थी. बलोच एक्टिविस्ट्स ने इमरान खान के सामने ही पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाने लगी.

यह भी पढ़ें: हिजबुल मुजाहिद्दीन ने जम्‍मू-कश्‍मीर के लोगों को दी धमकी, घर से न निकलें वरना...

बता दें कि पाकिस्तान की सेना ने बलोचिस्तान के हजारों सामाजिक और राजनीतिक लोगों को जेल में बंद कर दिया है. ये वो लोग हैं जो पाकिस्तान से बलूचिस्तान को अलग करने की मांग कर रहे थे. इसी डर की वजह से कई बलोच देश छोड़कर दूसरे देश चले गए. गौरतलब है कि पाकिस्तान का कश्मीर के कुछ हिस्से पर भी अवैध कब्जा है जिसे POK या पाकिस्तान ऑक्यूपाइड कश्मीर के नाम से जाना जाता है. 

जैसी ही भारत की केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया वैसे ही पाकिस्तान बिल्कुल ही बौखला गया. उसने तुरंत ही भारत के खिलाफ हर मंच पर बात उठानी शुरू कर दी. पाकिस्तान के विरोध और उसके लिखे पत्र के बाद यूएनएससी में बैठक हुई.

यह भी पढ़ें: Google ने Amrita Pritam के 100वें जन्मदिन पर Dedicate किया ये खास Doodle

लेकिन चाइना के अलावा किसी और देश ने उसका साथ नहीं दिया. आज दुनिया पाकिस्तान का असली चेहरा देख चुकी है. पाकिस्तान जहां एक तरफ कश्मीर के लोगों के साथ एकजुटता की बात करता है और कहता है कि कश्मीरियों पर जुल्म हो रहा है वहीं पाकिस्तान की सेना अपने ही देश मे बलूचिस्तान के लोगों पर कैसे जुल्म कर रही है, ये उसे नहीं दिखाई दे रहा.

First Published : 31 Aug 2019, 09:31:45 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×