News Nation Logo
Banner

पाकिस्तान की फिर हुई फजीहत, UNSC में कश्मीर का मुद्दा उठाने की कोशिश नाकाम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बुधवार को न्यूयॉर्क में UNSC की बंद कमरे में बैठक हुई. यह बैठक अफ्रीकी देशों से मुद्दों पर चर्चा के लिए बुलाई गई थी

By : Aditi Sharma | Updated on: 16 Jan 2020, 08:02:18 AM
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान को एक बार फिर फजीहत झेलनी पड़ी है.  न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) ने कश्मीर का मुद्दा उठाने की मांग को खारिज कर दिया है. दरअसल UNSC में कश्मीर का मुद्दा उठाने की पाकिस्तान की मांग को केवल चीन ने समर्थन दिया ता लेकिन दोनों देशों को झटका उस वक्त लगा बाकी देशों ने इसे द्विपक्षीय मुद्दा बताकर इसका विरोध किया.

बुधवार को हुई थी बंद कमरे में बैठक

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बुधवार को न्यूयॉर्क में UNSC की बंद कमरे में बैठक हुई. यह बैठक अफ्रीकी देशों से मुद्दों पर चर्चा के लिए बुलाई गई थी. इसी बैठक में चीन ने कश्मीर मुद्दा उठाने की मांग की जिसे फ्रांस ने द्विपक्षीय मुद्दा बताते हुए खारिज कर दिया और कहा कि इसे द्वविपक्षीय तरीके से ही सुलझाया जाना चाहिए. ऐसे में भारत को अंतराष्ट्रीय तौर पर कश्मीर मुद्दे पर बदनाम करने की पाकिस्तान की कोशिश फिर नाकाम हो गई है.

यह भी पढ़ें: नोट पर छापें लक्ष्मी की फोटो तो सुधरेगी रुपये की स्थिति, सुब्रमण्यम स्वामी की सलाह

बता दें, पी-5 देशों में से एक चीन ने मांग की थी कि कश्मीर मुद्दे पर बंद कमरे पर चर्चा बुलाई जाए. इससे पहले सभी पी-5 देशों ने साफ कर दिया है कि यह कश्मीर का आंतरिक मुद्दा है. वही इस बात का पहले ही अनुमान लगा लिया गया था कि बैठक परिणामहीन ही रहने वाली है, क्योंकि भारत कश्मीर को देश का आंतरिक मुद्दा मानता है. साथ ही किसी भी विदेशी राष्ट्र के हस्तक्षेप से मना करता है. पी5 चीन, फ्रांस, रूस, यूनाइटेड किंगडम और यूनाइटेड स्टेट्स का संगठन है.

यह भी पढ़ें: US के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने महाभियोग के मुकदमे को ‘छलावा’ करार दिया

चीन ने एनी अदर बिजनेस के तहत यह डिमांड रखी थी. पाकिस्तान ने चीन से पहले ही मांग की थी कि इस मुद्दे पर चर्चा की जाए. पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने दिसंबर 2019 में चीन के सामने यह मांग रखी थी. यह बैठक पहले 24 दिसंबर को होने वाली थी, लेकिन किन्हीं कारणों से यह बैठक पूरी नहीं हो सकी थी.

First Published : 16 Jan 2020, 07:10:34 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.