News Nation Logo

नॉर्थ कोरियाई मिसाइल प्रक्षेपण से गंभीर खतरे की आशंका : अमेरिकी अधिकारी

नॉर्थ कोरियाई मिसाइल प्रक्षेपण से गंभीर खतरे की आशंका : अमेरिकी अधिकारी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 27 Sep 2021, 12:45:01 PM
North Korean

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

सियोल: पेंटागन के एक अधिकारी ने सोमवार को हथियारों के परीक्षणों की एक श्रृंखला के बाद प्योंगयांग के साथ सुलह के इशारे के बीच कहा कि उत्तर कोरिया के हालिया मिसाइल प्रक्षेपण अमेरिका और दक्षिण कोरिया के लिए खतरे की गंभीरता दिखाते हैं।

योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, पूर्वी एशिया के लिए अमेरिकी उप सहायक रक्षा सचिव सिद्धार्थ मोहनदास ने सियोल में द्विवार्षिक 20वीं कोरिया-अमेरिका एकीकृत रक्षा वार्ता (केआईडीडी) की शुरुआत में क्षेत्रीय सुरक्षा स्थितियों और लंबित गठबंधन मुद्दों पर चर्चा करने के लिए यह टिप्पणी की।

मोहनदास ने गठबंधन को इस तरह की चुनौतियों के खिलाफ क्षेत्र में शांति और सुरक्षा का लिंकपिन बताते हुए कहा, उत्तर कोरिया की हालिया मिसाइल लॉन्च हमें उस खतरे की गंभीरता की याद दिलाती है, जिसका हम एक साथ सामना करते हैं।

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन की बहन, किम यो-जोंग के दो दिन बाद यह टिप्पणी आई कि उत्तर कोरिया 1950-53 के कोरियाई युद्ध को औपचारिक रूप से समाप्त करने की घोषणा कर सकता है, जैसा कि दक्षिण कोरिया ने सुझाव दिया था और यहां तक कि एक अंतर-कोरियाई शिखर सम्मेलन पर भी चर्चा की।

किम यो-जोंग का बयान उत्तर कोरिया के हालिया क्रूज और बैलिस्टिक मिसाइल लॉन्च पर चिंताओं के बीच आया है और इसके मुख्य आधार योंगब्योन परिसर में एक प्रमुख परमाणु रिएक्टर को पुन: सक्रिय करने वाले समावेशी शासन के संकेत हैं।

इससे पहले सोमवार को, ग्लोबल हॉक सहित अमेरिकी टोही विमान को मिसाइल लॉन्च के बाद उत्तर कोरिया की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए एक स्पष्ट कदम में कोरियाई प्रायद्वीप के ऊपर उड़ान भरते देखा गया था।

कोरियाई युद्ध के औपचारिक अंत की हालिया वार्ता का उल्लेख करते हुए, उप रक्षा मंत्री किम मान-की ने कहा, यह समय है कि दक्षिण कोरिया-अमेरिकी गठबंधन के बीच अधिक घनिष्ठ समन्वय की आवश्यकता है।

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, दो दिवसीय बैठक के दौरान, दोनों पक्ष प्रमुख लंबित सुरक्षा मुद्दों पर चर्चा करने की योजना बना रहे हैं, जैसे कोरियाई प्रायद्वीप पर सुरक्षा स्थिति का आंकलन और उत्तर कोरिया पर नीति समन्वय के लिए हुआ था।

मंत्रालय ने कहा कि इस सप्ताह की बैठक के दौरान वाशिंगटन से सियोल तक दक्षिण कोरियाई सैनिकों के युद्धकालीन परिचालन नियंत्रण (ओपीसीओएन) के स्थिति-आधारित संक्रमण और दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को मजबूत करने के तरीकों पर भी चर्चा होगी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 27 Sep 2021, 12:45:01 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो