News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की

ट्रंप-जोंग की मुलाकात पर संशय, दोनों देश दे चुके हैं 'टालने' की धमकी

उत्तर कोरिया और अमेरिका सिंगापुर में 12 जून को होने वाले ऐतिहासिक सम्मेलन को रद्द करने की धमकी दे चुके हैं।

News Nation Bureau | Edited By : Aditi Singh | Updated on: 24 May 2018, 11:22:40 AM

प्योंगयांग:

उत्तर कोरिया ने गुरुवार को कहा कि अमेरिका के साथ भावी द्विपक्षीय बैठक का भविष्य पूरी तरह से वॉशिंगटन पर निर्भर करेगा। दोनों देश सिंगापुर में 12 जून को होने वाले ऐतिहासिक सम्मेलन को रद्द करने की धमकी दे चुके हैं।

उत्तर कोरिया के उपविदेश मंत्री चो सोन हुई ने कहा, 'अमेरिका हमसे बैठक कक्ष में मिलेगा या हमसे परमाणु मुकाबला करेगा यह पूरी तरह से अमेरिका के रुख और फैसले पर निर्भर करेगा।'

चो का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन के बीच मुलाकात को लेकर संशय बना हुआ है।

गौरतलब है कि प्योंगयांग ने एकपक्षीय परमाणु निरस्त्रीकरण के मॉडल को थोपने के व्हाइट हाउस के दबाव की वजह से इस बैठक से पीछे हटने की धमकी दी थी। 

बता दें कि सोमवार को अमेरिका के उप-राष्ट्रपति माइक पेंस ने किम जोंग उन को अगले माह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात के दौरान किसी भी तरह के षडयंत्र के प्रति चेताया था।

माइक पेंस के इस बयान को उत्तर कोरिया ने 'मासूम और मूर्खतापूर्ण' बताया। 

वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि अगले सप्ताह स्पष्ट हो जाएगा कि सिंगापुर में 12 जून को उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन के साथ बहुप्रतीक्षित बैठक तय कार्यक्रम के अनुसार ही होगी या स्थगित हो जाएगी।

ट्रंप ने दो सप्ताह पहले ऐलान किया था कि किम जोंग के साथ ऐतिहासिक बैठक 12 जून को सिंगापुर में होनी तय हुई है लेकिन पिछले सप्ताह प्योंगयांग की इसे रद्द करने की धमकी के बाद इस मुलाकात पर संशय के बादल मंडराने लगे।

किम जोंग ने एकतरफा परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर व्हाइट हाउस की ओर से जोर दिए जाने को लेकर इस बैठक को रद्द करने की धमकी दी थी।

IANS के इनपुट के साथ 

इसे भी पढ़ें:  CRS रिपोर्ट का दावा, ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंधों को भारत के समर्थन की संभावना कम

First Published : 24 May 2018, 09:26:24 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो