News Nation Logo
Banner
Banner

आंग सान सू ची के के भ्रष्टाचार मामले में 1 अक्टूबर को सुनवाई

सू ची की निर्वाचित सरकार को फरवरी में सेना ने तख्तापलट कर हटा दिया था और उन पर फिलहाल विशेष अदालत द्वारा अन्य आरोपों को लेकर मुकदमा चलाया जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 18 Sep 2021, 02:11:12 PM
Aung San Suu Kyi

आंग सान सू ची के के भ्रष्टाचार मामले में 1 अक्टूबर को सुनवाई (Photo Credit: ANI )

highlights

  • 1 अक्टूबर से आंग सान सू के खिलाफ चलेगा केस
  • भ्रष्टाचार के पांच मामले में केस चलाया जाएगा
  • सू ची की निर्वाचित सरकार को फरवरी में सेना ने तख्तापलट कर हटा दिया था

 

नई दिल्ली :

म्यांमार की अपदस्थ नेता आंग सान सू ची के (Aung San Suu Kyi) खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में मुकदमा एक अक्टूबर से शुरू होगा. आंग सान सू ची के कानूनी दल के एक सदस्य ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. सू ची की निर्वाचित सरकार को फरवरी में सेना ने तख्तापलट कर हटा दिया था और उन पर फिलहाल विशेष अदालत द्वारा अन्य आरोपों को लेकर मुकदमा चलाया जा रहा है. उन पर देशद्रोह, कोविड-19 महामारी के प्रतिबंधों के उल्लंघन के दो मामलों, उनके अंगरक्षकों द्वारा अवैध रूप से उपयोग के लिये वॉकी-टॉकी का आयात करना और रेडियो के बिना लाइसेंस के उपयोग के आरोप हैं.

उन पर एक मामले में आधिकारिक गोपनीयता कानून के उल्लंघन करने का मुकदमा भी चल रहा है, जिसे इस सप्ताह की शुरुआत में म्यांमार के सबसे बड़े शहर यांगून से ने पी ता में स्थानांतरित कर दिया गया था.

इसे भी पढ़ें:जनरल रावत के बयान से जयशंकर ने किनारा किया, विदेश मंत्री बोले, भारत नहीं करता समर्थन

वकील खिन मौंग जॉ ने बताया कि एक न्यायधीश ने घोषणा की कि सुनवाई हर दूसरे शुक्रवार को राजधानी ने पीता में विशेष अदालत में होगी. उन्होंने केंद्रीय शहर मांडले से सू ची के वकीलों और अभियोजकों द्वारा अदालत में प्रस्तुतियों के बाद निर्णय की घोषणा की. मांडले में ही मूल रूप से आरोप दर्ज किए गए थे.

सू के खिलाफ मामले राजनीति से प्रेरित 

वहीं, सूची के समर्थकों और स्वतंत्र विश्लेषकों का कहना है कि उनके खिलाफ मामले राजनीति से प्रेरित हैं. उनकी चुनी हुई सरकार की मान्यता को रद्द कर सैन्य सत्ता को वैधानिकता प्रदान करने की कोशिश है.

म्यांमार में तख्तापलट से अशांति का माहौल है. एक स्थानीय निगरानी समूह के अनुसार, 1,100 से अधिक लोग मारे गए हैं और लगभग 8,000 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वहीं सेना का कहना है कि आंकडे इससे कम है.

अगस्त 2023 तक आपातकाल की स्थिति को हटा दिया जाएगा

सैन्य शासक सीनियर जनरल मिन आंग हलिंग ने पिछले महीने कहा था कि चुनाव होंगे और अगस्त 2023 तक आपातकाल की स्थिति को हटा दिया जाएगा. 1 फरवरी के तख्तापलट के कुछ दिनों बाद घोषित प्रारंभिक एक साल की समयसीमा का विस्तार किया जाएगा.

5 भ्रष्टाचार के मामलों का सामना
76 वर्षीय आंग सान सू की पर भ्रष्टाचार विरोधी कानून के तहत पांच मामलों में आरोप लगाया गया है - चार मांडले क्षेत्र उच्च न्यायालय द्वारा, जिसे अब नायपीडॉ में और एक यांगून क्षेत्र उच्च न्यायालय द्वारा मुकदमा चलाया जाएगा.

First Published : 18 Sep 2021, 02:11:12 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो