News Nation Logo
Banner

महंगाई ने पाकिस्तान का किया बुरा हाल, दूध का दाम हुआ 180 रुपए प्रति लीटर

पाकिस्तान महंगाई की मार से बुरी तरह जूझ रहा है. यहां के लोगों का जीवन हलकान है. सब्जी से लेकर पेट्रोल-डीजल तक लोगों को महंगी खरीदनी पड़ ही है.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 12 Apr 2019, 08:34:00 PM
प्रतिकात्मक फोटो

प्रतिकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

पाकिस्तान महंगाई की मार से बुरी तरह जूझ रहा है. यहां के लोगों का जीवन हलकान है. सब्जी से लेकर पेट्रोल-डीजल तक लोगों को महंगी खरीदनी पड़ ही है. अब दूध के दाम भी आसमान छूने लगे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब पाकिस्तान नें दूध खुदरा बाजार में 100 रुपए से 180 रुपए प्रति लीटर तक बिक रहा है. कराची डेयरी फार्मर्स एसोसिएशन ने दूध के दाम में अचानक बढ़ोतरी कर दी है. एसोसिएशन ने 23 रुपए लीटर तक की बढ़ोतरी की है. अब दाम 120 रुपये लीटर तक पहुंच चुका है. जबकि खुदरा बाजार में दूध 100 से 180 रुपये लीटर तक बिक रहा है.

और पढ़ें: साक्षी महराज के बिगड़े बोल, कहा- नहीं दिया वोट तो दे दूंगा श्राप

वहीं प्रशासन ने एसोसिएशन के इस कदम को बेहद ही गलत बताया है और महंगा दूध बेचने वाले विक्रेताओं पर कार्रवाई करने की बात कही है. प्रशासन ने दूध के दाम 94 रुपये प्रति लीटर तय किया है. इसके बावजूद खुदरा विक्रेता 100 से 180 रुपये लीटर तक के रेट में दूध बेच रहे हैं.

दूसरी तरफ, प्रशासन ने एसोसिएशन के इस कदम को गलत बताया है और महंगा दूध बेचने वाले खुदरा विक्रेताओं पर कार्रवाई की गई है. प्रशासन ने दूध के दाम 94 रुपये प्रति लीटर तय किया है. इसके बावजूद खुदरा विक्रेता 100 से 180 रुपये लीटर तक के रेट में दूध बेच रहे हैं. प्रशासन ने कहा कि सभी डिप्टी कमिश्नर्स से कहा गया है कि वे महंगे दामों पर दूध बेचने वाले दुकानदारों के खिलाफ सख्त एक्शन लें. एक दुकानदार को इस मामले में गिरफ्तार भी किया गया है.

इसे भी पढ़ें: तमिलनाडु में बोले राहुल गांधी, बीजेपी चाहती है कि इस देश में एक विचारधारा हो

बता दें कि पाकिस्तान में महंगाई अपने सबसे उच्चतम स्तर पर है. मार्च में महंगाई 9.4 प्रतिशत थी, जो कि नवंबर 2013 से सबसे अधिक है. खाने-पीने की चीजों और बिजली की कीमत में बेतहाशा वृद्धि हुई है जिससे लोग सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं. उधर, केंद्रीय बैंक ने जून में खत्म हो रहे 12 महीने की अवधि के दौरान विकास दर 3.5 से 4 प्रतिशत तक रहने का अनुमान जताया है जो कि सरकार के 6.2 प्रतिशत की तुलना में काफी कम है.

इतना ही नहीं विदेश पूंजी भंडार फिलहाल 8.5 अरब डॉलर है जो कि साल की शुरुआत से अच्छा है, लेकिन यह दो महीने के आयात के लिए काफी नहीं है. वहीं इमरान सरकार ने सोमवार को पेट्रोल की कीमत 6 रुपए बढ़ा दी. पाकिस्तान में पेट्रोल अब 98.88 रुपये हो गई है.

First Published : 12 Apr 2019, 08:33:56 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो