News Nation Logo
मलेशिया में ओमीक्रॉन के पहले मामले की पुष्टि अमेरिका में ओमीक्रॉन से संक्रमण के मामले बढ़कर 8 हुए केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: CCTV के मामले में दिल्ली दुनिया में नंबर 1 केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में महिलाएं पूरी तरह सुरक्षित केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में 1.40 कैमरे और लगाए जाएंगे थोड़ी देर में ओमीक्रॉन पर जवाब देंगे स्वास्थ्य मंत्री IMF की पहली उप प्रबंध निदेशक के रूप में ओकामोटो की जगह लेंगी गीता गोपीनाथ 12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्षी दलों के सांसदों का गांधी प्रतिमा के पास विरोध-प्रदर्शन यमुना एक्‍सप्रेसवे पर सुबह सुबह बड़ा हादसा, मप्र पुलिस के दो जवानों समेत चार की मौत जयपुर में दक्षिण अफ्रीका से लौटे एक ही परिवार के चार लोग कोरोना संक्रमित

पोलैंड और बेलारूस में युद्ध का मंडराया खतरा, शरणार्थी बने मसला

बेलारूस ने सीमा पर भारी तादाद में सैनिक तैनात कर दिए हैं. इसके बाद पोलैंड ने भी अपने भारी हथियारों से लैस 15 हजार सैनिक सीमा पर भेजे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 15 Nov 2021, 11:24:23 AM
Poland Belarus

पोलैंड का आरोप बेलारूस शरणार्थियों को मुहैया करा रहा है हथियार. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • पोलैंड और बेलारूस के बीच जंग का खतरा
  • पोलैंड ने 15 हजार सैनिक बेलारूस सीमा पर भेजे
  • बेलारूस के भारी तादाद में सैनिक तैनात 

वार्सा:

शरणार्थियों के मसले पर यूरोपीय संघ के सदस्य देश पोलैंड और रूस के अभिन्न मित्र बेलारूस में जंग के आसार पैदा हो गए हैं. स्थिति इतनी विकट हो गई है कि ब्रिटेन तक को अपने सैनिक पोलैंड की मदद के लिए भेजने पड़े हैं, तो बेलारूस के राष्ट्रपति ने यूरोप की सीमा बंद करने पर प्राकृतिक गैस की पाइप लाइन काटने तक की दमकी दे डाली है. यह विवाद बीते काफी दिनों से चल रहा है, जो अब भीषण जंग की शक्ल अख्तियार कर सकता है. विवाद के केंद्र में हैं शरणार्थी जिन्हें बेलारूस पर कथित तौर पर हिंसा के लिए हथियार देने का आरोप पोलैंड लगा रहा है. माना जा रहा है कि हिंसक शरणार्थियों से त्रस्त पोलैंड के सैनिक किसी भी दिन शरणार्थियों पर गोलीबारी कर उन्हें अपनी सीमा से पीछे धकेल सकते हैं. 

प्राप्त जानकारी के अनुसार बेलारूस ने सीमा पर भारी तादाद में सैनिक तैनात कर दिए हैं. इसके बाद पोलैंड ने भी अपने भारी हथियारों से लैस 15 हजार सैनिक सीमा पर भेजे हैं. पोलैंड ने आरोप लगाया है कि बेलारूस उनकी सीमा में आ रहे शरणार्थियों को हथियार दे रहा है ताकि वे ताकत के बल पर घुस जाएं. दोनों तरफ के लोगों के पास हथियार हैं, इससे इस बात का खतरा बढ़ गया है कि खूनी हिंसा हो सकती है. पोलैंड से आ रही खबरों में यह भी दावा किया जा रहा है कि बेलारूस की ओर से शरणार्थियों को निर्देश दिया गया है कि वे कुजनिका सीमा पर हमला करें. यह उन दो प्रमुख स्‍थानों में से है जहां से बेलारूस के रास्‍ते पोलैंड में प्रवेश किया जा सकता है. 

इससे पहले बेलारूस ने पोलैंड के साथ जारी विवाद के बीच रूस से परमाणु बम की मांग की थी. राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको ने रूसी मीडिया के साथ एक इंटरव्यू में कहा कि बेलारूस रूस की परमाणु हमला करने में सक्षम इस्कंदर मिसाइल सिस्टम को खरीदना चाहता है. लुकाशेंको ने यह भी ऐलान किया कि वह इन मिसाइल सिस्टम को अपने देश के दक्षिण और पश्चिम में तैनात करने की योजना बना रहे हैं. बेलारूस के दक्षिण में यूक्रेन और पश्चिम में पोलैंड है. इन दोनों देशों के साथ रूस और बेलारूस के संबंध बहुत खराब हैं. लुकाशेंको पर राष्ट्रपति चुनाव में धांधली कर जीतने का आरोप है.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने बेलारूस-पोलैंड सीमा पर उत्पन्न स्थिति पर चिंता व्यक्त की है, जहां हजारों प्रवासी और शरणार्थी ठंड के मौसम में फंस गए हैं. उनके प्रवक्ता ने यह जानकारी दी. महासचिव ने इस महत्व को दोहराया कि प्रवासन और शरणार्थी मुद्दों को मानवीय सिद्धांतों और अंतर्राष्ट्रीय कानून के अनुसार निपटाया जाना चाहिए. समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक के हवाले से कहा कि ऐसी स्थितियों का इस्तेमाल राजनीतिक उद्देश्यों के लिए नहीं किया जाना चाहिए, जो राज्यों के बीच तनाव का कारण बने.

First Published : 15 Nov 2021, 11:22:06 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो