News Nation Logo

जम्मू-कश्मीर कनेक्शन सामने आया लंदन में हुए आतंकी हमले का, आईएस ने ली जिम्मेदारी

लंदन में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है. हालांकि पुलिस की जवाबी कार्रवाई में ढेर हुए आतंकी उस्मान खान का संबंध जम्मू-कश्मीर से भी रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 01 Dec 2019, 08:14:15 AM
सांकेतिक चित्र

highlights

  • वुलविक क्रॉउन कोर्ट के फैसले में हमलावर का जम्मू-कश्मीर कनेक्शन का जिक्र.
  • लंदन की वुलविक क्रॉउन कोर्ट ने हमलावर उस्मान को सुनाई थी 8 साल की सजा.
  • लंदन ब्रिज हमले में हुए आतंकी हमले में दो लोगों की हुई थी मौत.

New Delhi:

लंदन में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है. हालांकि पुलिस की जवाबी कार्रवाई में ढेर हुए आतंकी उस्मान खान का संबंध जम्मू-कश्मीर से भी रहा है. इस बात का जिक्र लंदन की वुलविक क्रॉउन कोर्ट के फैसले में है, जिसके तहत उस्मान को आतंकी गतिविधियों के सिलसिले में आठ साल की सजा सुनाई गई थी. यही नहीं, पता चला है कि उस्मान पाकिस्तान में मदरसा और आतंकी प्रशिक्षण कैंप भी बनाना चाहता था. शुक्रवार को हुए इस आतंकी हमले में घायल लोगों में से दो की मौत हो गई थी.

यह भी पढ़ेंः उद्धव ठाकरे के लिए दूसरी परीक्षा आज, ओपन वोटिंग से विस अध्यक्ष चुनाव की होगी मांग

आईएस ने हमलावर को बताया 'लड़ाका'
आईएस ने लंदन ब्रिज स्टेशन पर हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कई देशों के समूह का जिक्र करते हुए कहा, 'लंदन हमला करने वाला व्यक्ति इस्लामिक स्टेट का लड़ाका था और उसने गठबंधन देशों के नागरिकों को निशाना बनने के आह्वान के जवाब में ऐसा किया.' आईएस की ओर से हमलावर से संबंध को लेकर कोई सबूत पेश नहीं किया गया है. हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स में लंदन की वुलविक क्रॉउन कोर्ट के आदेश के हवाले से कहा जा रहा है कि उस्मान खान लंदन जाने से पहले भारत के जम्मू-कश्मीर में भी सक्रिय रहा. अदालती आदेश में उस्मान के जेके संबंध को 'फर्स्ट हैंड टेरेरिस्ट एक्सपीरियंस' बतौर दर्शाया गया है.

यह भी पढ़ेंः खाकी वर्दी के 'डर' से भागे 3 नाबालिगों का हुआ एक्सीडेंट, मौक पर ही मौत, लोगों में पुलिस के खिलाफ गुस्सा

पीओके में आतंकी कैंप लगाने की थी इच्छा
लंदन पुलिस काउंटर टेररिज्म टीम के हेड नील बसु ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया था कि हमलावर की पहचान 28 वर्षीय उस्मान खान के रूप में हुई है. खान को साल 2012 में आंतकवादी गतिविधियों में दोषी पाते हुए सजा सुनाई गई थी, उसे 2018 में जेल से रिहा किया गया था. बताते हैं कि पीओके में आंतकवादी प्रशिक्षण कैंप लगाने पाकिस्तान गया था लंदन ब्रिज हमले का संदिग्ध उस्मान खान.

यह भी पढ़ेंः हैदराबाद गैंगरेप केस पर एक्शन, आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत, 3 पुलिसकर्मी सस्पेंड

लंदन ब्रिज आतंकी हमले में दो मासूमों की हुई मौत
बता दें कि, शुक्रवार को ब्रिटेन के मशहूर लंदन ब्रिज पर उस्मान खान द्वारा चाकूबाजी की वारदात को अंजाम दिया गया था. उसने ब्रिज पर 5 लोगों को घायल कर दिया था, जिसमें से दो ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उसे मौके पर ही ढेर कर दिया. उसकी तलाशी लेने पर विस्फोटकों से भरी एक जैकेट मिली जिसे पुलिस ने जांच में नकली पाया था.

First Published : 01 Dec 2019, 08:14:15 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.