News Nation Logo

किम जोंग उन वियतनाम पहुंचे, डोनाल्ड ट्रंप के साथ एक साल के अंदर कल दूसरी ऐतिहासिक बैठक

बैठक में दोनों देशों के बीच संबंधों को सामान्य करने और कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण करने को लेकर बातचीत की जाएगी. हनोई में ट्रंप और किम की बैठक 27 और 28 फरवरी को प्रस्तावित है.

News Nation Bureau | Edited By : Saketanand Gyan | Updated on: 26 Feb 2019, 07:33:59 AM
वियतनाम के लिए ट्रेन में सवार किम जोंग उन (फोटो : IANS)

हनोई:

उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ अपनी दूसरी ऐतिहासिक बैठक के लिए वियतनाम पहुंच हो चुके हैं. दोनों देशों के बीच यह दूसरी बैठक वियतनाम की राजधानी हनोई में होने जा रही है जो पिछले साल सिंगापुर में हुई बैठक में जताई गई प्रतिबद्धता को दोहराने के लिए किया जा रहा है. इस बैठक में दोनों देशों के बीच संबंधों को सामान्य करने और कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण करने को लेकर बातचीत की जाएगी. हनोई में ट्रंप और किम की बैठक 27 और 28 फरवरी को प्रस्तावित है. दो दिवसीय सम्मेलन के लिए दो दिन पहले शुरू हुआ किम का काफिला कड़ी सुरक्षा और गोपनीयता के साथ हनोई तक के लिए 4,000 किलोमीटर लंबा सफर तय किया.

ट्रंप ने वियतनाम बैठक को लेकर सोमवार को ट्वीट किया, 'किम जोंग उन के साथ बैठक के लिए वियतनाम रवाना हो रहा हूं. एक बहुत ही सकारात्मक मीटिंग की उम्मीद है.'

दो दिनों की बातचीत के दौरान दोनों नेताओं के बीच कई स्तर की वार्ता होने वाली है. जिसमें वन टू वन बैठक होगी, इसमें पिछले साल सिंगापुर में हुए पहली ऐतिहासिक बैठक के बाद हुई प्रगति को लेकर वे पुनरीक्षण करने वाले हैं.

व्हाइट हाउस में गवर्नर्स के साथ बैठक में ट्रंप ने कहा, 'मुझे लगता है कि यह एक बहुत अच्छी समिट हो सकती है. हमारे बीच एक शानदार मीटिंग होगी. हम परमाणु निरस्त्रीकरण चाहते हैं और मेरा मानना है कि वह एक ऐसा देश होगा जो अर्थव्यवस्था के विकास के मामले में एक रिकॉर्ड स्थापित करेगा.'

60 घंटे की किम जोंग उन की ट्रेन यात्रा

एक सूत्र ने दक्षिण कोरियाई समाचार एजेंसी योंहाप को बताया कि प्योंगयांग से शनिवार को रवाना हुआ किम का बख्तरबंद काफिला सोमवार अपराह्न 1.10 बजे चीन के केंद्रीय प्रांत हुनान की राजधानी चांग्शा से गुजर चुकी थी.

और पढ़ें : सऊदी अरब ने मानी भारत की 'ताकत', पेट्रोलियम हब बनाने का किया वादा

सूत्र के अनुसार, दक्षिण की तरफ यात्रा शुरू करने से पहले ट्रेन चांग्शा रेलवे स्टेशन पर लगभग आधा घंटा के लिए रुकी. काफिला बाद में वियतनाम की सीमा से लगे पिंगजियांग जाने से पहले दक्षिण चीनी शहर नानिंग से गुजरा होगा.

लगभग 55 साल में किम पहले नेता हैं जो मंगलवार को डोंगडांग से होते हुए यहां पहुंचे हैं और यहां से कार द्वारा हनोई जाएंगे. माना जा रहा है कि उनकी बख्तरबंद कार ट्रेन में उनके साथ ही आ रही है. हनोई से 170 किलोमीटर पश्चिमोत्तर में स्थित डोंगडांग रेलवे स्टेशन रविवार से जनता के लिए बंद है और दो मार्च तक बंद रहेगा.

और पढ़ें : पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने दी चेतावनी, ऐसा किया तो दुनिया के नक्शे से मिट जाएगा पाकिस्तान का नामो-निशान

पिछले साल सिंगापुर में दोनों नेताओं के बीच बैठक दोनों देशों के बीच करीब 70 वर्षों तक शत्रुता, 25 वर्षों तक विफल वार्ता और प्योंगयांग परमाणु कार्यक्रम से उपजे तनाव के बाद हुई थी. इस बैठक के बाद ट्रंप ने कहा था कि इस बैठक ने 'विश्व इतिहास में अपना स्थान' दर्ज किया है और जोर देकर कहा कि परमाणु निरस्त्रीकरण अंतर्राष्ट्रीय और अमेरिकी विशेषज्ञों द्वारा सत्यापित होगा.

First Published : 26 Feb 2019, 07:20:36 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.