News Nation Logo

बम धमाकों से दहला काबुल, बच्ची समेत चार लोग घायल

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल (Kabul) में चार बम विस्फोटों से अफरातफरी मच गई. अफगान अधिकारियों के अनुसार एक बम कूड़ेदान के नीचे और तीन अन्य सड़क किनारे रखे गए थे.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 11 May 2020, 02:02:43 PM
Kabul Explosions

उत्तरी काबुल में सुबह के समय हुए बम धमाके. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • उत्तरी काबुल सोमवार को श्रंखलाबद्ध बम धमाकों से दहल उठा.
  • इन धमाकों की चपेट में आकर 12 साल की बच्ची समेत 4 घायल.
  • अमेरिका से शांति समझौता अधर में पड़ने के बाद तालिबान है सक्रिय.

काबुल:

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल (Kabul) में चार बम विस्फोटों से अफरातफरी मच गई. अफगान अधिकारियों के अनुसार एक बम कूड़ेदान के नीचे और तीन अन्य सड़क किनारे रखे गए थे. काबुल पुलिस के प्रवक्ता फरदौस फरमर्ज ने बताया कि सड़क किनारे 10-20 मीटर की दूरी पर बमों को रखा गया था. उन्होंने कहा कि विस्फोट (Explosions) में 12 साल की बच्ची घायल हुई है और पुलिस घटना स्थल की जांच कर रही है. टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार शहर के पीडी 4 में ताहिया मसकन इलाके में विस्फोट हुआ. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि सड़क के किनारे पर बम विस्फोट 90 मिनट की अवधि में हुए, जो 7.45 से शुरू होकर लगभग 9 बजे तक चले. इन धमाकों का लक्ष्य राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय (एनडीएस ) और सरकारी वाहन थे.

यह भी पढ़ेंः स्पेशल ट्रेनों के लिए आज शाम 4 बजे से IRCTC पर बुकिंग, जानिए क्या है किराया

अभी तक किसी ने नहीं ली जिम्मेदारी
उत्तरी काबुल में सोमवार को चार बम विस्फोट में एक बच्ची समेत चार लोग घायल हो गए. अभी तक किसी ने बम विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है और विस्फोट के निशाने पर कौन था यह पता नहीं चल पाया है. काबुल और उसके आसपास तालिबान और इस्लामिक स्टेट दोनों गुट सक्रिय हैं जो लगातार नागरिकों और फौजियों को अपना निशाना बनाते रहे हैं. इससे पहले 29 अप्रैल को अफगानिस्तान की राजधानी के बाहरी इलाके में स्थित अफगान विशेष बलों के अड्डे को एक फिदाई हमलावर ने निशाना बनाया था. इसमें तीन आम नागरिकों की मौत हो गई और 15 अन्य जख्मी हुए थे.

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान की बौखलाहट, रेडियो पर बताया लद्दाख के मौसम का हाल...वह भी गलत

तालिबान फिर से हो गया सक्रिय
सरकार ने हमले के लिए तालिबान को जिम्मेदार ठहराया था. एक सैन्य अधिकारी ने बताया था कि विस्फोट सैन्य कमांडो के अड्डे के बाहर हुआ. उस वक्त वहां अनुबंध के आधार पर काम करने वाले असैन्य अंदर आने का इंतजार कर रहे थे. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता तारीक आरियान ने बताया था कि जहां विस्फोट हुआ वह स्थान चहार असयाब जिले में आता है.  उन्होंने हमले के लिए तालिबान को जिम्मेदार ठहराया और इसे इंसानियत के खिलाफ जुर्म बताया था.

First Published : 11 May 2020, 02:02:43 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.