News Nation Logo

उत्तर कोरिया के 'भड़काऊ, दुस्साहसी व्यवहार पर' लगाम लगाने से पीछे नहीं हटेंगे: जॉन केरी

अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी और जापान एवं दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्रियों ने कहा कि उत्तर कोरिया ने इस महीने की शुरुआत में जो परमाणु परीक्षण किया है, उसका जवाब दिया जाएगा।

News Nation Bureau | Edited By : Sankalp Thakur | Updated on: 19 Sep 2016, 05:21:19 PM
फाइल फोटो

नई दिल्ली:

अमेरिका, जापान और साउथ कोरिया ने नॉर्थ कोरिया के परमाणु परिक्षण की निंदा की है और इस कम्युनिस्ट देश को और अलग-थलग करने के लिए नए कड़े कदम उठाने की अपील की है। यूएन असेंबली के अलग हुई बैठक में अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी और जापान एवं दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्रियों ने कहा कि उत्तर कोरिया ने इस महीने की शुरुआत में जो परमाणु परीक्षण किया है, उसका जवाब दिया जाएगा। 

केरी ने रविवार को कहा कि अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया साथ मिलकर सुरक्षा संबंधी अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के प्रति संकल्पबद्ध हैं और वह उत्तर कोरिया के 'भड़काऊ, दुस्साहसी व्यवहार पर' लगाम लगाने के लिए कदम उठाने से पीछे नहीं हटेगा। उन्होंने कहा कि अमेरिका, जापान, दक्षिण कोरिया और अन्य देश 'दुस्साहसी तानाशाह को ये बताएंगे कि वह से जो कर रहा हैं, उससे उनका देश, उनके लोगों को ही नुकसान हो रहा है । इस वजह से उनके लोग आर्थिक अवसरों से वंचित रह जातें हैं।

दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री युन ब्युंग से ने केरी के सुर में सुर मिलाते हुए कहा कि उत्तर कोरिया के मिसाइल और परमाणु परीक्षण दुनिया की सुरक्षा को खतरा हैं। उन्होंने कहा, 'हम एक आंधी आती देख रहे हैं जो केवल पूर्वोत्तर एशिया में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया पर प्रभाव डालेगी।'

जापान के विदेश मंत्री फुमियो किशिदा ने कहा एशिया में 'मुश्किल' सुरक्षा माहौल के बीच क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता के लिए जापान एवं दक्षिण के बीच 'दूरंदेशी' संबंध और अमेरिकी गठजोड़ आवश्यक है। उन्होंने कहा, 'हमें उत्तर कोरिया को यह बताना होगा कि भड़काऊ कार्रवाई बार-बार करने से वह अंतरराष्ट्रीय समुदाय से और अलग-थलग पड़ जाएगा और उसके लोगों का भविष्य उज्ज्वल नहीं होगा।'

First Published : 19 Sep 2016, 05:10:00 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो