News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

इन्फ्रास्ट्रक्चर में निवेश के लिए भारत में अपार संभावनाएं, सबको मिलेगा फायदा: PM मोदी

इन्फ्रास्ट्रक्चर में निवेश के लिए भारत में अपार संभावनाएं, सबको मिलेगा फायदा: PM मोदी

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 29 Oct 2019, 11:52:38 PM
पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली:

सऊदी अरब में होने वाले तीसरे फ्यूचर इन्वेस्टमेंट इनिशिएटिव फोरम में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को रियाद पहुंचे. यहां प्रधानमंत्री ने किंग सलमान और क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात के अलावा कई अहम कार्यक्रमों में हिस्सा लिया. आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के मसले और निवेश के हिसाब से पीएम मोदी का ये दौरा काफी अहम है.सऊदी अरब की राजधानी रियाद में 'फ्यूचर इनवेस्टमेंट एनिसिएटिव' कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा मौजूदा समय में विश्व कल्याण के रास्ते ढूंढना बहुत जरूरी है. पीएम मोदी ने आगे कहा कि, इस फोरम का उद्देश्य सिर्फ यहां के अर्थतंत्र की चर्चा करना नहीं है बल्कि विश्व में उभरते ट्रेंड्स को समझना और उसमें विश्व कल्याण के रास्ते ढूंढना भी है. भारत ने अगले पांच वर्ष में अपनी इकॉनमी को दोगुनी करके 5 ट्रिलियन डॉलर करने का लक्ष्य रखा है. आज भारत में हम विकास को गति देना चाहते है तो हमें उभरते ट्रेंड्स को समझना होगा.

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, भारत ने अगले पांच वर्ष में अपनी इकॉनमी को दोगुनी करके 5 ट्रिलियन डॉलर करने का लक्ष्य रखा है. आज भारत में हम विकास को गति देना चाहते है तो हमें उभरते ट्रेंड्स को समझना होगा. आज मैं आपसे Global business को प्रभावित करने वाले पांच बड़े trends के बारे में बात करना चाहूंगा. आज भारत में रिसर्च और डेवलपमेंट से लेकर tech-entrepreneurship का एक eco-system तैयार हो रहा है. हमारे इन प्रयासों के नतीजे भी आना शुरू हुए हैं. इन्फ्रास्ट्रक्चर एक opportunity multiplier है. इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस को निवेश के व्यापक अवसर देता है, तो दूसरी और business की वृद्धि के लिए infrastructure आवश्यक है.

यह भी पढ़ें-जम्मू- कश्मीर: आतंकवादियों ने पांच गैर-कश्मीरी मजदूरों की हत्या, एक की हालत गंभीर

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, आज हम infrastructure के बारे में silos में नहीं सोचते बल्कि हमारा प्रयास integrated approach का है. वन नेशन वन पावर ग्रिड (One Nation One Power Grid), वन नेशन वन गैस ग्रिड (One Nation One gas grid) और वन वॉटर ग्रिड (One Water grid), वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड (One Nation One Mobility Card), वन नेशन वन ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क (One Nation One Optical Fibre Network) ऐसे अनेक प्रयासों से हम भारत के इन्फ्रास्ट्रक्चर (infrastructure) को इंटीग्रेट (integrate) कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें-वायु सेना का रहस्यमयी अंतरिक्ष यान वापस धरती पर लौटा

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, इन्फ्रास्ट्रक्चर (infrastructure) के निर्माण की अपनी तेजी (speed) और स्केल (scale) को भी हमने अभूतपूर्व रूप से बढ़ाया है. भारत में इन्फ्रास्ट्रक्चर की ग्रोथ दोगुनी संख्या में रहेगी (infrastructure growth double digit) में रहेगी, और इसमें capacity saturation की कोई सम्भावना नहीं है. इसके कारण निवेशकों को return भी सुनिश्चित रहेगा. भारत में gas और oil के infrastructure में बड़ी मात्रा में निवेश बढ़ा रहे हैं. वर्ष 2024 तक हमारा refining, pipelines और gas terminals में 100 billion dollar तक के निवेश का लक्ष्य है. पिछले पांच साल में कई सुधार किए हैं, भारत में 286 अरब डॉलर का FDI निवेश हुआ. भारत के कर ढांचे की तुलना आज विश्व के सबसे अच्छे कर ढांचे के साथ, 1500 से ज़्यादा पुराने क़ानूनों को समाप्त किया, 350 मिलियन लोगों को बैंक से जोड़ा गया। DBT से 20 अरब डॉलर की बचत हुई, दुनिया का सबसे बड़ा हेल्थकेयर प्रोग्राम आयुष्यमान भारत शुरू किया.

यह भी पढ़ें- कायला मुलर के नाम पर था बगदादी के खात्मे का अभियान, आतंकियों ने खेला था हैवानियत का खेल

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, Insolvency and Bankruptcy Code हो या देश व्यवपी एक taxation system, हमने मुश्किल से मुश्किल decisions लिए हैं। आज भारत tax structure और IPR business regimes के साथ comparable है. दुनिया भर में भारत के स्किल्ड ह्यूमन रिसोर्स को आदर और प्रतिष्ठा मिली है। भारतीय प्रतिभाओं ने सऊदी अरब में आनुशासित कानून, कानून का पालन करने वाले परिश्रमी और कुशल कार्यबल के रूप में अपनी अनूठी पहचान बनाई है.

First Published : 29 Oct 2019, 08:47:36 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.