News Nation Logo

भारत के सामने झुका UK, कोविशील्ड ले चुके भारतीय ब्रिटेन में नहीं होंगे क्वारंटीन

भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस (Alex Ellis) ने गुरुवार को कहा कि भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) की दोनों डोज ले चुके किसी भी भारतीय यात्री को 11 अक्टूबर से उनके देश में क्वारंटीन नहीं रहना होगा.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 07 Oct 2021, 11:15:05 PM
Alex Ellis

भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस (Photo Credit: ANI)

highlights

  • भारत की जवाबी कार्रवाई के आगे नतमस्तक हुई ब्रिटेन सरकार
  • ब्रिटिश ने कुछ दिन पहले भारत के लिए नए नियम जारी किए थे

नई दिल्ली:

कोरोना वैक्सीन की मान्यता को लेकर भारत की जवाबी कार्रवाई के आगे ब्रिटेन को झुकना ही पड़ा. भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस (Alex Ellis) ने गुरुवार को कहा कि भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) की दोनों डोज ले चुके किसी भी भारतीय यात्री को 11 अक्टूबर से उनके देश में क्वारंटीन नहीं रहना होगा. हालांकि, भारत की कोविशील्ड को अब तक ब्रिटेन ने मान्यता नहीं दी थी. इस वजह से भारतीय छात्रों व अन्य भारतीयों को ब्रिटेन पहुंचने पर क्वारंटीन में रहना पड़ता था. भारत ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए भारत पहुंचने वाले यूके नागरिकों के लिए भी क्वारंटीन जरूरी कर दिया था. 

यह भी पढ़ें : यांग च्येछी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों के प्रभारी सहायक से मुलाकात की

आपको बता दें कि पिछले दिनों केंद्र सरकार की ओर से जारी परामर्श में कहा गया था कि ब्रिटेन से भारत जाने वाले सभी यात्रियों को एयरपोर्ट पर आठ दिन बाद अपने खर्चे पर कोरोना का आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा. इसके साथ ही 10 दिन तक अनिवार्य क्वारंटीन भी रहना होगा. केंद्र सरकार ने ब्रिटेन से आने वाले नागरिकों को अनिवार्य रूप से क्वारंटीन करने का फैसला किया था. 

यह भी पढ़ें : चीनी व अमेरिकी राष्ट्राध्यक्षों की फोन वार्ता की भावना को लागू करने के लिए कार्रवाई करे अमेरिका

गौरतलब है कि ब्रिटिश सरकार ने कुछ दिन पहले नए नियम जारी किए थे. इन नियमों में कहा गया था कि भारत सहित कुछ और देशों से यात्रा करके ब्रिटेन पहुंचने वाले व्यक्ति को 10 दिन क्वारंटीन रहना होगा और कोविड-19 का टेस्ट भी कराना होगा. यही नहीं, जो लोग वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं, उन्हें भी अनिवार्य तौर पर क्वारंटीन रहने का नियम बना दिया गया था. इस नियम पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई थी और कहा था कि यह भेदभावपूर्ण वाला नियम है.

First Published : 07 Oct 2021, 10:49:01 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.