News Nation Logo
Banner

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री का दावा, परमाणु युद्ध के करीब था भारत-पाक

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 25 Jan 2023, 10:44:43 AM
mike pompeo

mike pompeo (Photo Credit: social media )

highlights

  • 59 वर्षीय पूर्व अमेरिकी राजनयिक ने अपनी किताब में लिखा
  • सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाक परमाणु हमले की तैयारी कर था 
  • विदेश मंत्रालय की ओर से इस तरह की कोई टिप्पणी नहीं की

नई दिल्ली:  

Surgical Strike: अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (Mike Pompeo) का दावा है कि तत्कालीन भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ने उन्हें बताया था कि पाकिस्तान (Pakistan)  2019 में बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक (Balakot Surgical Strike) के बाद परमाणु हमले (Nuclear Attack) की तैयारी कर रहा है. यह सुनकर वह हैरान रह गए थे. पोम्पिओ के अनुसार, सुषमा स्वराज ने कहा था ​कि इसको देखते हुए भारत भी उस दौरान आक्रामक प्रतिक्रिया देने की तैयारी कर रहा था. गौरतलब है कि मंगलवार को लॉन्च हुई नई किताब 'नेवर गिव एन इंच: फाइटिंग फॉर द अमेरिका आई लव' में पोम्पियो ने ये बातें कहीं. यह घटना उस दौरान हुई, जब वे 27-28 फरवरी को अमेरिका-उत्तर कोरिया शिखर सम्मेलन में शामिल होने हनोई गए थे.

उन्होंने बताया कि टीम ने इस संकट से निपटने के लिए भारत और पाकिस्तान के साथ रातभर काम किया था. पूर्व अमेरिकी विदेश मंत्री के अनुसार, उन्हें नहीं लगता है कि दुनिया को इस बात का पता है कि फरवरी 2019 में भारत-पाक (India and pakistan) के बीच तनाव काफी बढ़ गया था. 59 वर्षीय पूर्व अमेरिकी राजनयिक ने अपनी किताब में लिखा है कि उनका मानना था कि भारत अपने परमाणु हथियारों की तैनाती की तैयारी में था. 

ये भी पढ़ें: China यूं ही नहीं दे रहा Zero Covid Policy में भारी ढील, साजिश है तिब्बतियों को खत्म करने की

उन्हें कुछ घंटे का वक्त लगा और नई दिल्ली तथा इस्लामाबाद (Islamabad) में हमारी टीमों ने बहुत बेहतर काम किया. दोनों पक्षों को यह समझाने की कोशिश की गई कि वे परमाणु युद्ध की तैयारी नहीं करेंगे. इस मामले में हालांकि विदेश मंत्रालय की ओर से इस तरह की कोई टिप्पणी नहीं की गई. गौरतलब है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पलटवार करते हुए फरवरी 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी प्रशिक्षण शिविर को तबाह कर दिया था.

पूर्व अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के अनुसार, अपनी समकक्ष सुषमा स्वराज को उन्होंने कभी भी महत्वपूर्ण राजनीतिक खिलाड़ी के रूप में नहीं माना था. वर्तमान विदेश मंत्री एस जयशंकर के संग उनके के साथ पहली मुलाकात में उनसे अच्छी दोस्ती हो गई. सुषमा स्वराज का कार्यकाल मई 2014 से मई 2019 तक रहा. उनका निधन अगस्त 2019 में हो गया था.

 

First Published : 25 Jan 2023, 09:31:15 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.