News Nation Logo
उत्तर प्रदेश : आज तीन बड़े मामले ज्ञानवापी, श्रीकृष्ण जन्मभूमि मथुरा और ताजमहल पर सुनवाई प्रधानमंत्री आवास पर कैबिनेट और CCEA की बैठक, कुछ MoU समेत अहम मुद्दों पर हो सकता है फैसला कपिल सिब्बल सपा कार्यालय में अखिलेश यादव के साथ मौजूद, बनेंगे राज्यसभा उम्मीदवार राज्यसभा के लिए कपिल सिब्बल, डिंपल यादव और जावेद अली होंगे समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार- सूत्र पंजाब : ग्रुप सी और डी के पदों के लिए पंजाबी योग्यता टेस्ट कंपलसरी, भगवंत मान सरकार का फैसला मथुरा : जिला अदालत में श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले में 31 मई को होगी अगली सुनवाई मुंबई : मोटरसाइकिल पर दोनों सवारों को हेलमेट पहनना अनिवार्य होगा, 15 दिनों में नियम पर अमल यासीन मलिक की सजा पर बहस पूरी- ऑर्डर रिजर्व, दोपहर बाद विशेष NIA कोर्ट सुनाएगी सजा ज्ञानवापी हिंदुओं को सौंपने-पूजा की मांग वाला नया मामला सिविल जज फास्ट ट्रैक कोर्ट में स्थानांतरित अयोध्या : 1 जून को श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह का शिला पूजन होगा, सीएम योगी होंगे शामिल उत्तराखंड : मौसम सामान्य होने के बाद आज दोबारा सुचारू रूप से शुरू हुई चारधाम यात्रा औरंगजेब की कब्र के बाद अब सतारा में मौजूद अफजल खान के कब्र पर बढ़ाई गई सुरक्षा
Banner

सीमा पर तनाव के बीच भारत-चीन के NSA कर सकते हैं द्विपक्षीय बातचीत

विदेश मंत्रालय ने कहा कि ब्रिक्स देशों के एनएसए के सम्मेलन के दौरान मेजबान देश द्वारा प्रतिनिधिमंडलों के प्रमुखों के बीच द्विपक्षीय बैठक की व्यवस्था करने की परंपरा है।

IANS | Edited By : Jeevan Prakash | Updated on: 24 Jul 2017, 08:17:39 PM
एनएसए अजीत डोभाल (फाइल फोटो)

बीजिंग:  

चीन ने सोमवार को संकेत दिया कि सीमा पर गतिरोध के बीच ब्रिक्स देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों (एनएसए) की बैठक से इतर उसके शीर्ष राजनयिक यांग जीची भारत के एनएसए अजीत डोभाल के साथ द्विपक्षीय बैठक कर सकते हैं।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि उसे यांग तथा डोभाल की अलग से किसी बैठक की जानकारी नहीं है, लेकिन सम्मेलन के दौरान मेजबान देश द्वारा प्रतिनिधिमंडलों के प्रमुखों के बीच द्विपक्षीय बैठक की व्यवस्था करने की परंपरा है।

बीजिंग ने सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में भारतीय सैनिकों की वापसी तक किसी भी तरह की सीमा वार्ता से इनकार किया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा, 'मेरे पास अभी कोई प्रासंगिक जानकारी नहीं है। जहां तक मेरी जानकारी है, मेजबान देश प्रतिनिधिमंडल प्रमुखों के बीच द्विपक्षीय बैठकों की व्यवस्था करता है, जिनमें वे द्विपक्षीय संबंधों, ब्रिक्स सहयोग तथा बहुपक्षीय मामलों पर विचारों का आदान-प्रदान करते हैं।'

और पढ़ें: शिवसेना ने पूछा, चीन-पाक के खिलाफ कोई देश समर्थन में क्यों नहीं?

ब्रिक्स के एनएसए की दो दिवसीय बैठक 27 जुलाई से शुरू होगी। लु ने कहा, 'बैठक राजनीति व सुरक्षा सहयोग पर चर्चा करने का एक मुख्य मंच है।' उन्होंने कहा, 'वर्तमान में वैश्विक भू-राजनीतिक कारक जटिल तथा एक-दूसरे से उलझे हुए हैं और क्षेत्रीय तनाव चरम पर है।'

और पढ़ें: भारत को चीन की धमकी, कहा-पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के मुकाबले पहाड़ हिलाना आसान

First Published : 24 Jul 2017, 08:13:09 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

India China NSA Ajit Doval BRICS