News Nation Logo
मलेशिया में ओमीक्रॉन के पहले मामले की पुष्टि अमेरिका में ओमीक्रॉन से संक्रमण के मामले बढ़कर 8 हुए केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: CCTV के मामले में दिल्ली दुनिया में नंबर 1 केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में महिलाएं पूरी तरह सुरक्षित केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में 1.40 कैमरे और लगाए जाएंगे थोड़ी देर में ओमीक्रॉन पर जवाब देंगे स्वास्थ्य मंत्री IMF की पहली उप प्रबंध निदेशक के रूप में ओकामोटो की जगह लेंगी गीता गोपीनाथ 12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्षी दलों के सांसदों का गांधी प्रतिमा के पास विरोध-प्रदर्शन यमुना एक्‍सप्रेसवे पर सुबह सुबह बड़ा हादसा, मप्र पुलिस के दो जवानों समेत चार की मौत जयपुर में दक्षिण अफ्रीका से लौटे एक ही परिवार के चार लोग कोरोना संक्रमित

अफगानी नागरिकों की मदद कर सकता है भारत, मॅास्को बैठक में दिया संदेश

एक बार फिर भारत ने अफगानी नागरिकों की मानवीय मदद करने का प्रस्ताव दिया है. अफगानिस्तान के ताजा हालातों को लेकर मॅास्को में हाई लेवल बैठक का आयोजन किया गया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 21 Oct 2021, 02:59:07 PM
taliban

fale photo (Photo Credit: social media)

highlights

  • तालिबानी नुमाइंदों व भारतीय अधिकारियों के बीच हुई बैठक 
  • भारतीय अधिकारियों ने अफगानी नागरिकों की मानवीय मदद का प्रस्ताव रखा 
  • नागरिकों को वैक्सीन की खेप देने का भी भरोसा 

नई दिल्ली :

एक बार फिर भारत ने अफगानी नागरिकों की मानवीय मदद करने का प्रस्ताव दिया है. अफगानिस्तान के ताजा हालातों को लेकर मॅास्को में हाई लेवल बैठक का आयोजन किया गया. जिसमं तालिबानी नुमाइंदों व भारतीय अधिकारियों के बीच अफगानी नागरिकों को लेकर कई मुद्दों पर बात हूई. जानकारी के मुताबिक भारतीय अधिकारियों ने अफगानी नागरिकों के लिेए मानवीय मदद करने का प्रस्ताव रखा है. साथ ही वहां के लोगों को वैक्सीन देने के लिए भी कहा है. हालाकि अभी क्या-क्या मदद दी जाएगी इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है.  आपको बता दें कि भारत और तालिबान के उच्चाधिकारियों की ये दूसरी बैठक है.

यह भी पढें :गिफ्ट में मिली थी 10 लाख डॉलर की घड़ी, इमरान खान ने बेचकर लगाया पाक को चूना

आतंकवाद को लेकर बात

भारत ने आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई के मुद्दे पर भी खुलकर अपनी अपेक्षाएं साफ की. बैठक में भारत की ओर से जहां विदेश मंत्रालय में पाकिस्तान-अफगानिस्तान- ईरान मामलों के प्रभारी संयुक्त सचिव जेपी सिंह मौजूद थे. वहीं तालिबानी निजाम के मुख्य नुमाइंदे बैठक में मौजूद थे. आपको बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबानी निजाम के आने के बाद यह दूसरा मौका था जब भारत और तालिबान प्रतिनिधियों के बीच सीधी मुलाकात हुई. इससे पहले 31 अगस्त को दोहा में तालिबान नेता शेर मोहम्मद अब्बास स्तानिकजई की अगुवाई में एक दल भारत के राजदूत दीपक मित्तल से मिला था..

दिए थे संकेत 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 अक्टूबर को अफगानिस्तान के हालात पर हुई जी-20 देशों की बैठक में दिए भाषण के दौरान ही इसके संकेत दे दिए थे. पीएम मोदी ने कहा था कि अफगानिस्तान के लोग गंभीर मानवीय संकट से गुजर रहे हैं. भारत उनकी पीड़ा को समझ सकता है. अफगान लोगों के लिए अंतरराष्ट्रीय मानवीय मदद के दरवाजे खुले रखने की जरूरत है. हालांकि मॉस्को में हुई मुलाकात और मानवीय सहायता प्रस्तावों पर भारत सरकार की तरफ से फिलहाल कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया गया है.

First Published : 21 Oct 2021, 02:59:07 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो