News Nation Logo

हांगकांग में छात्रा ने पुलिस पर लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप, जानिए फिर क्या हुआ

छात्रा सोनिया एनजी ने आरोप लगाया कि जब पिछले महीने उसे व अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया था, तब पुलिस अधिकारियों ने उसका यौन उत्पीड़न किया था.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 11 Oct 2019, 06:01:49 PM
हांगकांग मेें प्रदर्शन करते लोग

नई दिल्‍ली:  

विश्वविद्यालय की एक छात्रा द्वारा पुलिस पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाए जाने के एक दिन बाद शुक्रवार को हांगकांग में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया. समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, "प्रदर्शनकारियों की संख्या 50 से अधिक थी, जिनमें कुछ लोग मास्क पहने हुए थे. वे अपराह्न् लगभग एक बजे एक नए कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे." रपट में बताया गया कि लोग बड़ी संख्या में ट्राम-वे पर प्रदर्शन करते हुए 'स्वतंत्रता के लिए लड़ो' और 'हांगकांग के साथ खड़े हो जाओ' जैसे नारे लगा रहे थे.

दरअसल विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों को पिछले दिनों हिरासत में लिया गया था. हिरासत के दौरान ही उत्पीड़न करने के लिए पुलिस पर आरोप लगाया गया है. गुरुवार रात चाइनीज यूनिवर्सिटी ऑफ हांगकांग के कुलपति रॉकी तुआन के सामने छात्रा सोनिया एनजी ने आरोप लगाया कि जब पिछले महीने उसे व अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया था, तब पुलिस अधिकारियों ने उसका यौन उत्पीड़न किया था. सोनिया ने कहा, "क्या आप जानते हैं कि मैं एकमात्र ऐसी नहीं हूं, जिसे पुलिस द्वारा यौन हिंसा का सामना करना पड़ा है. गिरफ्तार अन्य लोगों को भी एक से अधिक अधिकारियों द्वारा लैंगिक भेदभाव और अत्याचार का सामना करना पड़ा. लिंग की परवाह किए बिना उत्पीड़न किया गया."

यह भी पढ़ें-अगर आपने अपनी प्रेमिका से बेवफाई की है तो यह अपराध नहीं : उच्च न्यायालय

इसके बाद छात्रा ने तुआन के सामने अपने मास्क को हटा दिया और वहां मौजूद 1,400 से अधिक लोगों ने कुलपति से पुलिस की निंदा करने के लिए एक बयान जारी करने का आग्रह किया. यह पहली बार है जब हांगकांग के पुलिस अधिकारियों द्वारा कथित तौर पर यौन दुराचार का शिकार हुई लड़की ने सरकार विरोधी आंदोलन की शुरुआत के बाद से अपनी पहचान उजागर की है. सरकार विरोधी आंदोलन शुरू होने के बाद से अब तक 2,300 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है. गुरुवार लगभग आधी रात पुलिस ने बयान जारी किया कि उन्होंने सोनिया द्वारा लगाए गए गंभीर आरोपों को उच्च प्राथमिकता देते हुए उसे ठोस सबूत प्रदान करने के लिए कहा है, ताकि हम जल्द से जल्द निष्पक्ष जांच-पड़ताल शुरू कर सकें.

यह भी पढ़ें-राजस्थान: गहलोत सरकार के वरिष्ठ मंत्री का Video Viral, पार्टी में गुटबाजी सामने आई

First Published : 11 Oct 2019, 06:00:09 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.