News Nation Logo
कल सुबह बिपिन रावत के घर जाएंगे उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी प्रधानमंत्री के आवास पर सीसीएस की आपात बैठक होगी हेलीकॉप्टर हादसे में एक शख्स को​ जिंदा बचाया गया: डीएम हेलीकॉप्टर हादसे पर बयान जारी करेगी वायु सेना वायुसेना ने CDS बिपिन रावत की मौत की पुष्टि की वायुसेना ने सीडीएस बिपिन रावत की मौत की पुष्टि की DNA टेस्ट से होगी शवों की पहचान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना के हेलीकॉप्टर हादसे के बारे में पीएम मोदी को दी जानकारी हेलीकॉप्टर क्रैश में अब तक 13 लोगों की मौत की पुष्टि हेलीकॉप्टर क्रैश के बाद CDS बिपिन रावत के घर पहुंचे एमएम नरवणेRead More » CDS बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर क्रैश मामले में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह कल संसद में देंगे बयान ढाई बजे हेलीकॉप्टर में लगी आग बुझाई गई

पाकिस्तान ने पारित किया हिंदू विवाह अधिनियम

पाकिस्तान की संसद में दशकों से लंबित पड़े हिंदू विवाह अधिनियम को निचले सदन यानी नेशनल असेंबली में पारित कर दिया गया।

News Nation Bureau | Edited By : Soumya Tiwari | Updated on: 27 Sep 2016, 11:59:45 AM
Photo Credit- Dawn News

इस्लामाबाद:

पाकिस्तान की संसद में दशकों से लंबित पड़े हिंदू विवाह अधिनियम को निचले सदन यानी नेशनल असेंबली में पारित कर दिया गया। हिंदू अल्पसंख्यक समुदाय के लिए सोमवार को यह सर्वसम्मति पारित कर दिया। इस विधेयक के पारित होने के बाद अब पाकिस्तान में हिंदूओं की शादियों को रजिस्टर किया जा सकेगा। अब तक हिन्दुओं की शादी रजिस्नटर नहीं की जाती थीं। जिसके चलते पाकिस्तान में रह रहे हिंदू समुदाय खुद को असुरक्षित महसूस करते थे।

क्या है हिन्दू विवाह अधिनियम विधेयक
1- विधेयक के मसौदे में कहा गया है कि शादी के समय हिंदू जोड़े की उम्र अठारह साल या उससे अधिक होनी चाहिए।
2- इस विधेयक में यह भी कहा गया है कि अगर पति पत्नी एक साल या उससे अधिक समय से अलग रह रहे हैं और वो एक दूसरे के साथ नहीं रहना चाहते, साथ ही शादी को रद्द करना चाहें तो वो ऐसा कर सकते हैं।
3- विधेयक के अनुसार हिंदू विधवा को भी अपने पति की मृत्यु के छह महीने के बाद फिर से शादी करने का अधिकार होगा।
4- इस विधेयक में इस बात का भी उल्लेख किया गया है कि अगर कोई हिंदू व्यक्ति अपनी पहली पत्नी के होते हुए दूसरी शादी करता है तो यह एक दंडनीय अपराध माना जाएगा।
5- विधेयक में हिंदू विवाह पंजीकरण के नियमों का उल्लंघन करने पर छह महीने कैद की सज़ा का प्रावधान है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में हिन्दू अल्पसंख्क में आते हैं। जिनकी जनसंख्या कुल आबादी की लगभग 2 प्रतिशत है। जिसमें हिन्दू जाति (1.6%) और अनुसूचित जाति के (0.25%) लोग रहते है।

 

First Published : 27 Sep 2016, 11:48:00 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो