News Nation Logo
Banner

G20 : यंग प्रोफेशनल्स स्कीम की पुष्टि करेंगे PM Modi और PM Sunak

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 16 Nov 2022, 01:02:31 PM
PM Modi & Sunak

(source : IANS) (Photo Credit: Twitter)

नई दिल्ली:  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके ब्रिटिश समकक्ष ऋषि सुनक बुधवार को बाली में जी20 शिखर सम्मेलन में मुलाकात करेंगे. इस दौरान दोनों नेता ब्रिटेन-इंडिया यंग प्रोफेशनल्स स्कीम की पुष्टि करेंगे.  सुनक और मोदी की मुलाकात के कुछ घंटों बाद मंगलवार को शिखर सम्मेलन के दौरान, ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने घोषणा की, कि ब्रिटेन आने के लिए सालाना 3,000 भारतीयों को वीजा दिया जाएगा. नई यूके-इंडिया यंग प्रोफेशनल्स स्कीम के तहत, देश 18-30 वर्षीय डिग्री धारी शिक्षित भारतीय नागरिकों को सालाना 3,000 जगहों की पेशकश करेगा, ताकि वे यूके आकर यहां दो साल तक रह सकें और काम कर सकें.

यूके के प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, भारत इस तरह की योजना से लाभान्वित होने वाला पहला देश है. सुनक ने प्रधानमंत्री द्वारा जारी एक बयान में कहा, मैं भारत के साथ हमारे गहरे सांस्कृतिक और ऐतिहासिक संबंधों के अविश्वसनीय मूल्य को प्रत्यक्ष रूप से जानता हूं. मुझे खुशी है कि भारत के अधिक मेधावी युवाओं को अब ब्रिटेन में जीवन का अनुभव करने का अवसर मिलेगा, और इसके विपरीत हमारी अर्थव्यवस्थाओं और समाजों को समृद्ध बनाने में मदद मिलेगी.

बयान में कहा गया है, इस योजना का शुभारंभ भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों और दोनों अर्थव्यवस्थाओं को मजबूत करने के लिए लाभदायक होगी. भारत-प्रशांत क्षेत्र के साथ मजबूत संबंध बनाने के लिए यूके की व्यापक प्रतिबद्धता दोनों के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है. ब्रिटेन में लगभग एक चौथाई अंतर्राष्ट्रीय छात्र भारत से हैं, और भारतीय निवेश पूरे यूके में 95,000 नौकरियों का समर्थन करता है.

यूके भारत के साथ एक व्यापार समझौते पर भी बातचीत कर रहा है. यह यूके-भारत व्यापारिक संबंध पर आधारित होगा, जो पहले से ही 24 बिलियन पाउंड का है. यह यूके को भारत की बढ़ती अर्थव्यवस्था द्वारा प्रस्तुत अवसरों को प्राप्त करने की अनुमति देगा. मोदी के अलावा, सुनक का भी बुधवार को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिलने का कार्यक्रम है.

First Published : 16 Nov 2022, 01:02:31 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.