logo-image
लोकसभा चुनाव

ईरान-इजराइल विवाद पर जयशंकर ने गहरी चिंता जताई, भारतीयों को दी हिदायत, ट्रैवल करने से बचें

ईरान ने रविवार को इजराइल पर बड़ा हमला बोला, उसने किलर ड्रोन की मदद से हवाई हमले किए हैं. हालांकि, इस हमले को हवा में ही रोक देने का इजराइल ने दावा किया है.

Updated on: 14 Apr 2024, 04:47 PM

नई दिल्ली:

ईरान-इजराइल के बीच चल रहे तनाव को लेकर विदेश मंत्री जयशंकर ने वहां रह रहे भारतीयों को खास हिदायत दी है. आपको बता दें कि ईरान ने इजरायल शनिवार रात को हमला बोल दिया है. इस हमले में करीब 300 ड्रोन अटैक हुए हैं. जिसमें बताया जा रहा है कि कई हमलों को इजराइल ने हवा में ही रोक दिया है. इस हमले के बाद दोनों देशों के बीच युद्ध जैसे हालात बन चुके हैं. इस मामले में अमेरिका ने ईरान को चेतावनी दी कि वह इस हमले को बंद करे. वहीं दूसरी तरफ भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर का बयान सामने आया है. उन्होंने युद्ध को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की है.  इन देशों में रह रहे भारतीय को उन्होंने हिदायत दी है कि वे ट्रैवल करने से बचें. 

ये भी पढ़ें: लॉरेंस बिश्नोई के भाई ने ली सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग की जिम्मेदारी, कहा- 'ये सिर्फ ट्रेलर था'

एयर डिफेंस सिस्टम को सक्रिय कर दिया

ईरान ने शनिवार की आधी रात को इजरायल पर मिसाइल और ड्रोन अटैक किया. सबसे अधिक 300 से ज्यादा अलग-अलग तरह के ड्रोन हमले हुए हैं. इनमें किलर ड्रोन से लेकर बैलिस्टिक मिसाइल और क्रूज मिसाइलों को शामिल किया गया है. ईरान के हमले के बाद इजरायली सेना ने अपने एयर डिफेंस सिस्टम को सक्रिय कर दिया है. ईरान ने अपने हमले को 'ऑपरेशन टू प्रॉमिस' नाम दिया. इस दौरान ईरानी आर्मी चीफ ने इजरायल को जवाबी हमले पर गभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी. ईरान का यह हमला काफी घातक बताया जा रहा है. हवाई हमले में किलर ड्रोन की मदद ली गई. हालांकि, इस हमले को हवा में रोकने का इजराइल ने दावा किया है. 

ईरानी सशस्त्र बलों के प्रमुख मेजर जनरल मोहम्मद बकेरी का कहना है कि ईरान ने कब्जे वाले क्षेत्रों पर अपने जवाबी हमले पूरे कर लिए हैं. अगर इजराइल इस पर पलटवार करता है तो उसे बड़े परिणाम भुगतने होंगे. बकेरी ने रविवार को एक बयान में कहा कि हमने अपना ऑपरेशन खत्म कर दिया है. मगर हमारे सशस्त्र बल पूरी तरह से तैयार हैं और जरूरत पड़ी तो हम बड़ी कार्रवाई करेंगे.