logo-image

भारत नहीं आए.. दुश्मन देश चीन पहुंच गए एलन मस्क, जानें क्या है वजह?

टेस्ला के CEO एलन मस्क का एक निजी जेट रविवार को बीजिंग में लैंड किया. मामले में ज्यादा जानकारी रखने वाले लोगों ने बताया कि, अरबपति मस्क ने ऑटोमेकर के दूसरे सबसे बड़े बाज़ार का अचानक दौरा किया.

Updated on: 28 Apr 2024, 06:11 PM

नई दिल्ली :

टेस्ला के CEO एलन मस्क (Elon Musk) का एक निजी जेट रविवार को बीजिंग में लैंड किया. मामले में ज्यादा जानकारी रखने वाले लोगों ने बताया कि, अरबपति मस्क ने ऑटोमेकर के दूसरे सबसे बड़े बाज़ार का अचानक दौरा किया. मस्क चीन में फुल-सेल्फ ड्राइविंग (FSD) सॉफ्टवेयर के रोलआउट पर चर्चा करने के लिए बीजिंग में वरिष्ठ चीनी अधिकारियों से मिलना चाहते थे. साथ ही अपनी स्वायत्त ड्राइविंग प्रौद्योगिकियों (autonomous driving technologies) के लिए एल्गोरिदम को प्रशिक्षित करने के लिए देश में एकत्र किए गए डेटा को विदेशों में स्थानांतरित करने की मंजूरी भी हासिल करना चाहते थे. 

टेस्ला ने 2021 से अपने चीनी बेड़े द्वारा एकत्र किए गए सभी डेटा को चीनी नियामकों की आवश्यकता के अनुसार शंघाई में संग्रहीत किया है, जिसे संयुक्त राज्य अमेरिका में वापस स्थानांतरित नहीं किया है.

गौरतलब है कि, अमेरिकी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता ने चार साल पहले अपने ऑटोपायलट सॉफ्टवेयर का सबसे स्वायत्त संस्करण एफएसडी लॉन्च किया था, लेकिन ग्राहकों के आग्रह के बावजूद अभी तक इसे चीन में उपलब्ध नहीं कराया गया है.

टेस्ला को लेकर क्या बोले मस्क

मस्क ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक सवाल के जवाब में कहा कि, इस महीने टेस्ला चीन में ग्राहकों के लिए एफएसडी को "बहुत जल्द" उपलब्ध करा सकता है. 

वहीं दूसरी ओर एक्सपेंग जैसे प्रतिद्वंद्वी चीनी वाहन निर्माता इसी तरह का सॉफ्टवेयर पेश करके टेस्ला पर बढ़त हासिल करना चाह रहे हैं. 

मस्क की चीन यात्रा भारत में बटोर रही सुर्खियां

मालूम हो कि, मस्क की ये चीन यात्रा, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए भारत की योजनाबद्ध यात्रा को रद्द करने के ठीक एक सप्ताह बाद हुई है. वहीं भारत और चीन के बीच बिगड़े रिश्तों के बीच मस्क की ये यात्रा काफी सुर्खियां बटोर रही है.