News Nation Logo
Banner

डोमिनिका हाईकोर्ट से मेहुल चोकसी को झटका, नहीं मिली जमानत

डोमिनिका की हाईकोर्ट ने भगोड़े व्यवसायी को फ्लाइट रिस्क होने की वजह से जमानत देने से इनकार कर दिया.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 12 Jun 2021, 08:35:11 AM
Mehul Choksi

भगोड़े हीरा व्यापारी की बढ़ती ही जा रही हैं दिक्कतें. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • फ्लाइट रिस्क को आधार बना हाईकोर्ट से जमानत याचिका खारिज
  • बचाव पक्ष ने अपराध के जमानती और जुर्माना देय का दिया तर्क
  • डोमिनिका में अवैध प्रवेश को लेकर हाईकोर्ट कर रहा था सुनवाई

रोज:  

पीएनबी घोटाले के भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) की तमाम चालें नाकाम हो रही हैं और उसकी मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. एंटीगुआ से भाग डोमिनिका (Dominica) पहुंचे चोकसी की जमानत वहां की हाईकोईट ने खारिज कर दी है. डोमिनिका की हाईकोर्ट ने भगोड़े व्यवसायी को फ्लाइट रिस्क होने की वजह से जमानत देने से इनकार कर दिया. मेहुल चोकसी पर अवैध तरीके से डोमिनिका में दाखिल होने का आरोप है. रोजो मजिस्‍ट्रेट द्वारा जमानत याचिका खारिज किए जाने पर मेहुल चोकसी ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. इसी मामले की सुनवाई हाईकोर्ट में चल रही थी लेकिन वहां से भी मेहुल चोकसी को जमानत नहीं मिल सकी. 

फ्लाइट रिस्क बना बहस का आधार
शनिवार को हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष के वकीलों ने तर्क दिया कि एक कैरिकॉम नागरिक के तौर पर मेहुल चोकसी जमानत का हकदार है क्योंकि कथित अपराध जमानती है और उस पर कुछ हजार का जुर्माना भर है. वकीलों ने यह भी तर्क दिया है कि मेहुल चोकसी का स्वास्थ्य ठीक नहीं है, ऐसे में उसे फ्लाइट का जोखिम नहीं लेना चाहिए. ऐसे में जमानत राशि लेकर जमानत दे दी जाए. वहीं राज्य बेल का विरोध कर रही है. उनका कहना है कि मेहुल चोकसी फ्लाइट रिस्क पर है और इंटरपोल से उसे नोटिस जारी किया गया है. ऐसे में राज्य ने जमानत न देने की गुहार लगाई है.

यह भी पढ़ेंः G-7 बैठक पर भी नापाक साया, पीएम मोदी का संबोधन और भारत विरोध... एक साथ 

इसी आधार पर अपील खारिज
मेहुल चोकसी की जमानत पर राज्‍य के वकील लेनोक्स लॉरेंस ने बेल का विरोध किया है. लेनोक्स लॉरेंस स्टेट के लॉयर हैं, ऐसे में उनका कहना है कि मेहुल चोकसी ने स्वास्थ्य को लेकर कोई शिकायत नहीं की है. इसलिए उसका अस्पताल में होना वास्तविक मुद्दा नहीं है. उसे मेडिकल हेल्प भी मिल रही है. हालांकि जज ने कहा कि इस आधार पर जमानत देने से इनकार नहीं किया जाना चाहिए कि जांच चल रही है. हालांकि कोर्ट ने मेहुल चोकसी को जमानत देने से इनकार कर दिया.

यह भी पढ़ेंः दिल्‍ली में मानसून 15 जून तक दे सकता है दस्‍तक, समय से पहले आएगा

एंटीगुआ से भाग पहुंचा था डोमिनिका
गौरतलब है कि चोकसी पर अवैध रूप से डोमिनिका में प्रवेश करने का आरोप है. 23 मई को मेहुल चोकसी एंटीगुआ और बारबुडा से लापता हो गया था. एंटीगुआ में वह जनवरी 2018 से भारत छोड़ने के बाद एक नागरिक के तौर पर रह रहा था. मेहुल चोकसी का पता डोमिनिका में मिला, जिसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया. उसके वकीलों का दावा है कि उसका एंटीगुआ से एंटीगुआ और भारतीय अधिकारियों द्वारा अपहरण कर लिया गया है. इसमें उसकी कथित गर्लफ्रैंड का नाम भी शामिल हुआ जिसने चोकसी को और गहरे संकट में धकेल दिया है.

First Published : 12 Jun 2021, 08:33:54 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.