News Nation Logo

BREAKING

Banner

कोविड-19 महामारी 15 से 17.5 करोड़ और लोगों को घोर गरीबी में धकेलेगा: संयुक्त राष्ट्र विशेषज्ञ

शटर समिति के प्रतिनिधियों के साथ वर्चुअल संवादों में भाग लेने वाले पांच स्वतंत्र विशेषज्ञों में से एक थे. चर्चा में घोर गरीबी और आंतरिक विस्थापन से लेकर शिक्षा, मानवाधिकारों, सुरक्षित पेयजल और पर्याप्त आवास जैसे विषयों को शामिल किया गया था.

Bhasha | Updated on: 23 Oct 2020, 03:00:40 PM
United Nations-UN

United Nations-UN (Photo Credit: newsnation)

संयुक्तराष्ट्र:

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के एक विशेषज्ञ ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण घोर गरीबी में रहने वाले लोगों में 15 से 17.5 करोड़ का इजाफा होगा. अत्यधिक गरीबी और मानवाधिकारों मामलों के विशेष दूत ओलिवियर डी शटर ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण 15 से 17.5 करोड़ और लोग अत्यधिक गरीबी की चपेट में आएंगे. शटर ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की तीसरी समिति (सामाजिक, मानवीय और सांस्कृतिक) को बुधवार को इसके बारे में जानकारी दी.

यह भी पढ़ें: चुनाव जीतने पर अमेरिकी चुनाव में हस्तक्षेप करने वाले देशों को कड़ा सबक सिखाएंगे: Joe Biden

ज्यादातर महिलाएं घोर गरीबी की चपेट में आएंगी
समिति के प्रतिनिधियों ने अपने कई संवाद में दुनिया की सबसे कमजोर वर्ग की दुर्दशा को लेकर चिंता व्यक्त की. उन्होंने कहा कि हमें अपने विकास मॉडल पर पुनर्विचार करना चाहिए. उन्होंने कहा कि कहा कि जो लोग घोर गरीबी की चपेट में आएंगे उनमें से अधिकतर अनौपचारिक क्षेत्र में या अनिश्चित रोजगार की स्थिति में काम करने वाले श्रमिक होंगे. उनमें से अधिकतर महिलाएं होंगी. उन्होंने कहा कि आर्थिक सुधार को आकार देने के लिए पर्यावरणीय स्थिरता और सामाजिक न्याय को पूर्वशर्त माना जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें: ट्रंप ने आखिरी भाषण में भारत पर लगाया 'हवा' खराब करने का आरोप

शटर समिति के प्रतिनिधियों के साथ वर्चुअल संवादों में भाग लेने वाले पांच स्वतंत्र विशेषज्ञों में से एक थे. चर्चा में घोर गरीबी और आंतरिक विस्थापन से लेकर शिक्षा, मानवाधिकारों, सुरक्षित पेयजल और पर्याप्त आवास जैसे विषयों को शामिल किया गया था. विशेषज्ञों ने संघर्ष और जलवायु परिवर्तन के बीच परस्पर संबंध का जिक्र किया. उन्होंने यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने की सिफारिश की कि छात्रों को महामारी के दौरान स्कूल में स्वच्छ पानी और अन्य स्वच्छता सुविधाएं मिल सकें.

First Published : 23 Oct 2020, 02:59:30 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो