News Nation Logo
Banner

Corona Virus अब बॉडी में जमा रहा खून, परेशान डॉक्टरों को जंग लंबी चलने के आसार

न्यूयॉर्क (New York) के नेफ्रोलॉजिस्टों को पता चला है कि वायरस के कारण कोरोना मरीजों के गुर्दों में भी खून जम रहा है. इसकी वजह से दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ने की घटनाओं में वृद्धि हुई है.

By : Nihar Saxena | Updated on: 24 Apr 2020, 12:54:52 PM
Corona Virus New Challanges

वायरस के कारण कोरोना मरीजों के गुर्दों में भी खून जम रहा है. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • वायरस से कोरोना मरीजों के गुर्दों में भी खून जम रहा है.
  • दिल का दौरा पड़ने की घटनाओं में वृद्धि हुई है.
  • ठीक हुए मरीजों में दोबारा हुआ कोरोना संक्रमण.

नई दिल्ली:

कोरोना संक्रमण के खिलाफ वैश्विक जंग अभी न सिर्फ लंबी चलेगी, बल्कि जबर्दस्त उतार-चढ़ाव भरी भी रहेगी. इसकी एक नहीं कई वजह हैं. अब जो नई खबर आ रही है वह कोरोना (Corona Virus) संकट को और ज्यादा बढ़ाती नजर आ रही है. इस नई चुनौती के तहत कोरोना वायरस अब संक्रमित लोगों के शरीर में खून को जमा दे रहा है. न्यूयॉर्क (New York) के नेफ्रोलॉजिस्टों को पता चला है कि वायरस के कारण कोरोना मरीजों के गुर्दों में भी खून जम रहा है. इसकी वजह से दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ने की घटनाओं में वृद्धि हुई है. दिल का दौरा कम उम्र के लोगों को भी पड़ रहा है.

यह भी पढ़ेंः लॉकडाउन 2.0: उत्तर प्रदेश की सभी अदालतों के अंतरिम आदेश अब 10 मई तक बढ़े

गुर्दे में खून जमने से पड़ रहा दिल का दौरा
न्यूयॉर्क के माउंट सिनाई हॉस्पिटल के डॉक्टर जे. मोक्को ने बताया कि यह काफी हैरानी की बात है कि कैसे यह बीमारी खून को जमा रही है. उन्होंने कहा कि कई मामलों में ऐसा हुआ है कि दिल का दौरा कम उम्र के लोगों को पड़ा है. मार्च के तीन हफ्तों में ही डॉक्टर मोक्को ने मस्तिष्क में खून ब्लॉकेज के साथ 32 ऐसे मरीजों को देखा है, जिन्हें दिल का दौरा पड़ा है. हैरानी की बात यह रही कि 32 में से आधे मरीज कोरोना वायरस पॉजिटिव निकले.

यह भी पढ़ेंः गांव के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए लॉन्च किए दो बड़े प्रोजक्ट, मिलेंगे अनेक लाभ- पीएम मोदी

चीन में ठीक हुए मरीज को फिर से संक्रमण
इसके बीच चीन में एक मरीज के ठीक होने के 70 दिन बाद उसे फिर से कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है. इससे चीन की पेशानी पर बल और बढ़ गए हैं. कभी कोरोना के केंद्र रहे वुहान में मामला 50 साल के शख्स का है जिसे कोरोना के लक्षण मिलने पर शुरू में क्वारंटीन हब में रखा गया. इसका दो अलग-अलग अस्पतालों में इलाज हुआ. इलाज में रिपोर्ट निगेटिव आई तो उसे अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया. हालांकि शख्स को जब फिर से कोरोना वायरस के संक्रमण का शक हुआ तो उसने टेस्ट कराया जो कि पॉजिटिव निकला है.

यह भी पढ़ेंः केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली में प्लाज्मा थैरेपी से होगा कोरोना मरीजों का इलाज

बगैर लक्षण सामने आ रहा कोरोना
इस तरह के चीन में कई मामले दिखे हैं. कई मामले तो ऐसे हैं जिसमें कोई भी लक्षण दिखाई नहीं दे रहे हैं. कई लोगों को 50 या 60 दिन बाद कोरोना हो रहा है. इसके पहले कोरोना की चपेट में आने वाले मरीजों में कोविड-19 संक्रमण के एक भी लक्षण नहीं दिखे थे. इस तरह के मामले भारत में भी बड़ी संख्या में देखने में आए हैं. इस लिहाज से देखें तो कोरोना का संक्रमण नित नए रंग दिखा रहा है, जो बताता है कि कोरोना से जंग अभी न सिर्फ लंबी चलेगी, बल्कि कई चुनौतियों से भी भरी रहेगी.

First Published : 24 Apr 2020, 12:54:52 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.