News Nation Logo

देश छोड़ने की योजना बना रहे मायूस चीनी नागरिक: रिपोर्ट

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 20 Jul 2022, 10:10:01 PM
Citizen are

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बीजिंग:   चीन में ऐसे काफी शहरी नागरिकों ने देश छोड़ने की योजना बनाना शुरू कर दिया है, जो कि निराश हैं या जिनका मोहभंग हो चुका है।

स्थानीय मीडिया ने बताया कि ऑनलाइन, रन फिलॉसफी, या रन एक्सयू - उत्प्रवास (अपने देश से कहीं बाहर बसना) के बारे में बात करने का एक कोडित तरीका - एक चर्चा बन गया है।

झीहू पर, इस घटना की व्याख्या करने वाली एक पोस्ट को जनवरी से अब तक 90 लाख से अधिक बार पढ़ा जा चुका है।

द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, चीनी भाषा के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर विदेशी शैक्षणिक कार्यक्रमों में भर्ती होने की संभावनाओं को अधिकतम करने के तरीके के बारे में सुझावों का आदान-प्रदान करने के लिए ऐसे प्लेटफॉर्म्स की स्थापना की गई है। रिपोर्ट के अनुसार, आव्रजन एजेंसियों ने बताया कि पिछले कुछ महीनों में व्यावसायिक पूछताछ की संख्या में भी वृद्धि हुई है।

जब 2022 की शुरुआत से शंघाई सहित चीन के कई शहरों में सख्त लॉकडाउन लागू किया जाने लगा, तो संदेह और आलोचनाएं उठने लगीं। चीन की अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई और युवा स्नातकों ने काम न मिलने की शिकायत की।

द गार्जियन ने बताया कि अर्थव्यवस्था ने जून में पलटाव के संकेत दिखाए, लेकिन इस महीने अधिक तेजी से फैलने वाले ओमिक्रॉन के सबवैरिएंट, बीए.5 का पता चला तो कई लोगों ने फिर से अनुमान लगाना शुरू कर दिया है कि क्या शंघाई जैसे शहरों में नए सिरे से लॉकडाउन लगाया जा रहा है?

यह जानना मुश्किल है कि देश छोड़ने के बारे में विचार करने वालों में से आखिकार कितने लोग छोड़कर चले गए हैं। इस वर्ष के आधिकारिक उत्प्रवास के आंकड़े तत्काल उपलब्ध नहीं हैं। संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष (यूएनएफपीए) के अनुसार, 2000 से 2021 तक के वर्षों में केवल 69 लाख लोगों का कुल चीनी प्रवास दर्ज किया गया था। यह चीन की कुल आबादी के हिस्से के रूप में मापा गया था और इस पर यूएनएफपीए ने कहा कि यह संख्या नगण्य है।

मई में, बीजिंग ने कहा था कि वह चीनी नागरिकों द्वारा देश के बाहर अनावश्यक यात्रा को कड़ाई से सीमित करेगा।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में चीनी डेवलपमेंट एंड सोसायटी की प्रोफेसर राहेल मर्फी ने इस बारे में अपने विचार रखते हुए कहा कि लोग एक ऐसी सामाजिक व्यवस्था से बाहर निकलना चाहते हैं, जो अति-प्रतिस्पर्धी, थकाऊ और अप्रत्याशित हो गई है।

द गार्जियन के अनुसार, उन्होंने कहा, शंघाई में हालिया लॉकडाउन ने व्यक्तियों पर अनियंत्रित पार्टी-स्टेट पावर की ²श्यता भी बढ़ा दी है। उन्होंने आगे कहा, फिर भी, चीजों को बदलने की कोशिश करने के लिए अपनी आवाज का उपयोग करने का भुगतान चीनी नागरिकों के लिए बहुत अधिक है, जिससे उन्हें बाहर निकलने के सपने आते हैं।

लेकिन मर्फी ने कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि ये युवा चीन के प्रति वफादार नहीं हैं। उनकी राष्ट्रवादी भावनाएं बहुत मजबूत हैं। उन्होंने कहा, अभी, हालांकि, कुछ लोगों को लगता है कि वे अपने जीवन की वर्तमान परिस्थितियों से बचना चाहते हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 20 Jul 2022, 10:10:01 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.